Homeबेमेतरा : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से हो कृषक बंधु लाभान्वित - मुख्यमंत्री डॉ. सिंह

Secondary links

Search

बेमेतरा : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से हो कृषक बंधु लाभान्वित - मुख्यमंत्री डॉ. सिंह

Printer-friendly versionSend to friend

नगरवासियों ने वार्ड 04 बेसिक स्कूल मैदान के सामने सुनीं ”रमन के गोठ“


बेमेतरा 10 जुलाई 2016

  जिला मुख्यालय बेमेतरा में आज वार्ड 04 के बेसिक स्कूल मैदान के सामने नगरवासियों ने रेडियो द्वारा प्रसारित मासिक कार्यक्रम “रमन के गोठ” में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की बातें सुनी। इस अवसर पर कलेक्टर सुश्री रीता शांडिल्य, नगरपालिका बेमेतरा के अध्यक्ष श्री विजय सिन्हा, उपाध्यक्ष श्री विजय सुखवानी, पार्षदगण तथा श्री राजेन्द्र शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी विशेष रूप से उपस्थित थे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने गोठ की शुरूआत बरसात के मौसम और खेती-किसानी की बातों से करते हुए कृषक बंधुओं को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़कर लाभान्वित होने की अपील की। उन्हांेने कहा कि खरीफ फसलों की अच्छी पैदावारी के लिए कृषक बंधु कृषि विभाग के अमले से सलाह लेकर कृषि कार्य करें। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने अवगत कराया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अब सभी फसलों के लिए खरीफ में दो फीसदी बीमा दर रखी गई है। योजना अंतर्गत धान सिंचित, धान असिंचित, मक्का, मूंग, उड़द, मूंगफली एवं अरहर फसल अधिसूचित की गई है। फसल बीमा योजना से जुड़ने 31 जुलाई 2016 अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। उन्होंने कृषकों के हित में सरकार की महत्वपूर्ण फैसलों से अवगत कराते हुए बताया कि कृषि कार्य हेतु ऋण राशि 5 लाख रूपए तक बढ़ाया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने अपने गोठ में प्रदेश में शिक्षा सत्र प्रारंभ होने का जिक्र करते हुए कहा कि स्कूली बच्चों के लिए अच्छे शैक्षणिक वातावरण तैयार करने, शिक्षा गुणवत्ता पर ध्यान देने शिक्षकगणों के साथ पालकों की भी जिम्मेदारी है। उन्होने विगत लोक सुराज अभियान के दौरान प्राप्त अनुभव का जिक्र करते हुए गरियाबंद जिले के छुरा विकासखंड के ग्राम अकलवारा के शिक्षकों द्वारा स्कूली बच्चों में शिक्षा के अलख जाने के लिए किए जा रहे प्रयासों का जिक्र किया। मुख्यमंत्री जी ने आगामी 19 जुलाई को गुरू पूर्णिमा का स्मरण दिलाते हुए प्रदेश के शिक्षक समुदाय को गुरू-शिष्य की परंपरा आगे भी कायम रखने की अपील की। उन्होंने छत्तीसगढ़ की युवा नीति के संबंध में अपनी बातें साझा करते हुए प्रदेश में युवाओं को अवसर के लिए आई.आई. टी., ट्रीपल आई.टी., एम्स जैसे शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना तथा अनुसूचित जाति, जनजाति के प्रतिभावान बच्चों की प्रतिभा को तराशने के लिए प्रयास संस्थान व जे.ई.ई.  हेतु सफल हुए बच्चों का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि बालिकाओं के लिए स्नातक की शिक्षाएं प्रदेश में निःशुल्क दी जा रही है। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जो युवाओं के कौशल विकास के लिए कानून बनाया है। अब तक प्रदेश के तीन लाख युवाओं को हुनरमंद बनाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की युवा नीति के संबंध में यहां के प्रत्येक ग्राम सभा में विचार व चर्चाएं होनी चाहिए। उन्होंने लोगों को ठगी से बचाने संबंधी कानून के संबंध में अवगत कराया कि जिला कलेक्टर को सूचना दिए बगैर कोई भी कंपनी लोगों से पैसा जमा नहीं करा सकती। मुख्यमंत्री जी ने रथयात्रा और ईदु-अल-फितर दोनों को ही सांप्रदायिक सौहार्द्र और समरसता हेतु महत्वपूर्ण त्यौहार निरूपित करते हुए छत्तीसगढ़ के लोगों को समरसता और सांप्रदायिक सौहार्द्र की परिपाटी को कायम रखते हुए उक्त त्यौहार मनाने के लिए अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने आगामी 19 जुलाई को छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रथम स्वप्न दृष्टया डॉ. खूबचंद बघेल की जन्मदिवस की जानकारी देते हुए लोगों को डॉ. बघेल के अधूरे सपने को पूरा करने का भरोसा दिलाया। मुख्यमंत्री जी ने इस दौरान रमन के गोठ कार्यक्रम के अंत में कार्यक्रम के संबंध में प्रदेश के विभिन्न स्थानों के लोगों से प्राप्त पत्रों में उनके सुझावों आदि का भी उल्लेख किया। कलेक्टर सुश्री रीता शांडिल्य ने आयोजन के पश्चात लोगों से “रमन के गोठ” के दौरान मुख्यमंत्री जी द्वारा बताई गई बातों के संबंध में जानकारी ली और सही जवाब देने वालों को नगद राशि देकर पुरस्कृत किया। “रमन के गोठ“ कार्यक्रम का प्रसारण जिले के सभी जनपद कार्यालयों, नगर पंचायतों के सार्वजनिक स्थलों, ग्राम पंचायत भवनों में भी किया गया। जहां पर लोगों ने मुख्यमंत्री जी की बातें सुनीं। इस अवसर पर नगर पालिका बेमेतरा के सी.एम.ओ. श्री होरी सिंह ठाकुर, जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री संजय गजघाटे, स्वच्छता निरीक्षक श्री श्रीनिवास द्विवेदी, समस्त विभाग के अधिकारी, पार्षदगण और नगरवासी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।



समाचार क्रमांक 18
 

Date: 
10 Jul 2016