Homeबेमेतरा : मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को राजिम कुंभ में शामिल होने दिया नेवता

Secondary links

Search

बेमेतरा : मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को राजिम कुंभ में शामिल होने दिया नेवता

Printer-friendly versionSend to friend

समाधान महाविद्यालय में नगरवासियों और विद्यार्थियों ने सुनीं “रमन के गोठ”

बेमेतरा 14 फरवरी 2016

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज आकाशवाणी के जरिए छठवीं बार रेडियो सेे प्रसारित “रमन के गोठ“ कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की जनता से मुखातिब होते हुए, प्रदेशवासियों को छत्तीसगढ़ के प्रयागराज के नाम से प्रसिद्ध महानदी, पैरी और सोढुंर नदी के संगम स्थल राजिम में आगामी 22 फरवरी से प्रारंभ राजिम कुंभ, माघी पून्नी मेला में सम्मलित होने “पिवरा चांउर” के साथ नेवता देते हुए आमंत्रित किया। उन्होंने राजिम कुंभ के दौरान 22 फरवरी, 2 मार्च, और 7 मार्च की तिथि में विशेष पुण्य स्नान कर लोगों को यहां आयोजित संत समागम और सत्संग, प्रवचन का जीवन में लाभ उठाने की बातें कहीं। मुख्यमंत्री जी ने लोगों को बसंत पंचमी की शुभकामनाएं देते हुए अपनी गोठ की शुरूआत करते हुए प्रसंशकों के पत्रों का जिक्र कर उन्हें भरोसा दिलाया कि उनके सुझाव और शिकायतों पर आवश्य कार्यवाही की जावेगी। मुख्यमंत्री जी ने इस माह की 23 फरवरी से प्रारंभ होने जा रहे माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षाओं का जिक्र करते हुए इस परीक्षा में शामिल प्रदेश के आठ लाख विद्यार्थियों का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि बोर्ड परीक्षा विद्यार्थियों के सुनहरा भविष्य का मार्ग प्रशस्त करती है। परीक्षा में शामिल हो रहे बच्चे परीक्षा से विचलित न होकर विषय की अच्छी तैयारियों के साथ अच्छे अंकों से परीक्षा उत्तीर्ण कर परिवार की मान बढ़ावें। उन्होंने परीक्षा में शामिल विद्यार्थियों की सफलता और सुखद भविष्य की कामना की। उन्होंने निर्भया का जिक्र करते हुए अवगत कराया कि प्रदेश में महिलाओं से संबंधित घटनाओं और सामाजिक कुरीतियों के प्रकरणों पर सहायता हेतु रायपुर में “वन स्टॉफ सेन्टर” स्थापित किया गया है, यह देश का पहला केन्द्र है। मुख्यमंत्री जी ने तेन्दूपत्ता एवं लघु वनोपज संग्रहण में लगे लोगों के हित में शासन द्वारा लिए गए निर्णय से अवगत कराते हुए बताया कि तेन्दूपत्ता संग्रहण प्रति मानक बोरा 1200 रूपए से बढ़ाकर 1500 रूपए किया गया है। ऐसे वनवासी परिवार जो तेन्दूपत्ता संग्रहण से नहीं जुडे़ है उन्हें प्रति परिवार दो हजार रूपए उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य में लगे लोगों को शासन द्वारा चरण पादुका वितरित करने की बातें भी कही। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने नवयुवकों को रोजगार के अवसर हेतु लाईवलीहुड कॉलेज और विकासखंडों में आई.आई.टी. का जिक्र करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के विकास में यहां के नवयुवकों का योगदान हो, कौशल उन्नयन के साथ यहां के नवयुवक रोजगार मांगने नहीं बल्कि रोजगार देने वाला बने। उन्होंने अवगत कराया कि शासन स्तर पर तृतीय श्रेणी के गैर कार्यपालिक पदों तथा चतुर्थ श्रेणी के पदों पर साक्षात्कार की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है। उन्होंने आगामी 21 फरवरी को देश के प्रधानमंत्री जी का प्रदेश के राजनांदगांव जिले के कुरूभाट आगमन का जिक्र करते हुए अवगत कराया कि प्रधानमंत्री जी उक्त दिवस यहां पर श्यामाप्रसाद मुखर्जी रअर्बन योजना का शुभारंभ करने जा रहे है। उन्होंने आगामी माह की द्वितीय रविवार 13 मार्च 2016 को प्रदेशवासियों से पुनः अपनी बातें साझा करने की बातें कहते हुए अपनी गोठ समाप्त की। “रमन के गोठ“ कार्यक्रम का प्रसारण जिले के सभी जनपद कार्यालयों, नगर पंचायतों के सार्वजनिक स्थलों, ग्राम पंचायत भवनों, आश्रम व छात्रावासों में भी किया गया। जहां पर लोगों/विद्यार्थियों ने मुख्यमंत्री जी की बातें सुनीं। कार्यक्रम में “रमन के गोठ” सुनने कलेक्टर सुश्री रीता शंाडिल्य, पुलिस अधीक्षक श्री एच.आर. मनहर, अपर कलेक्टर श्री एस.के. शर्मा, नगर पालिका बेमेतरा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री होरी सिंह ठाकुर, श्रम निरीक्षक श्री श्रीनिवास द्विवेदी, सहित समस्त विभाग के अधिकारी तथा नगर पालिका बेमेतरा के अध्यक्ष श्री विजय सिन्हा, पार्षद श्रीमति रीता पांडेय एवं अन्य गणमान्य नागरिक, श्री अविनाश तिवारी, श्री गणेश वर्मा, श्री अवधेश पटेल सहित महाविद्यालय के प्राध्यापकगण एवं छात्र-छात्राएं, पिं्रट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधि तथा नगरवासी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। कलेक्टर सुश्री रीता शांडिल्य और एस.पी. श्री एच.आर. मनहर ने आयोजन के पश्चात विद्यार्थियों से “रमन के गोठ” के दौरान मुख्यमंत्री जी द्वारा बताई गई बातों के संबंध में जानकारी ली और सही जवाब देने वाले विद्यार्थियों को नगद राशि देकर पुरस्कृत किया। “रमन के गोठ” के संबंध में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए महाविद्यालयीन छात्र श्री विजय कुमार, श्री आशुतोष, श्री गिरधर गोस्वामी और छात्राएं कुमारी नेहा भागवत, कुमारी अनुपमा देशलहरे और कुमारी चित्रांशा ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को रेडियो के माध्यम से आमजनों/नवयुवकों और बोर्ड परीक्षा के विद्यार्थियों के प्रति उनकी लगाव, आत्मीयता और उत्साहवर्धन से वे काफी प्रभावित हुए। गोठ के माध्यम से मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश की संस्कृति और नवयुवकों की उत्साहवर्धन की बातों का अच्छा समावेश किया है।

 समाचार क्रमांक 26
 

Date: 
14 Feb 2016