Homeबैकुण्ठपुर : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की आठवीं कड़ी प्रसारित : आने वाले पीढ़ी के लिए भू जल संरक्षण और संवर्धन आवश्यक-डॉ. सिंह

Secondary links

Search

बैकुण्ठपुर : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की आठवीं कड़ी प्रसारित : आने वाले पीढ़ी के लिए भू जल संरक्षण और संवर्धन आवश्यक-डॉ. सिंह

Printer-friendly versionSend to friend

प्राथमिक उपचार सलाह के लिए 104 स्वास्थ्य परामर्ष सुविधा प्रारंभ-नागरिकों को अधिक से अधिक उपयोग करने की सलाह

बैकुण्ठपुर 10 अप्रैल 2016

प्रदेष के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की आठवीं कड़ी को आज प्रातः 10.45 से 11 बजे मध्य जिला मुख्यालय स्थित मानस भवन में नगर पालिका परिशद बैकुण्ठपुर के अध्यक्ष श्री अषोक जायसवाल, जिले के अपर कलेक्टर श्री ज्योति प्रकाष कुजूर की उपस्थिति में आम नागरिको, जनप्रतिनिधियों  और अधिकारियों-कर्मचारियों ने तल्लीनता से सुना। इसके अलावा जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों, नगरीय निकायों, सभी ग्राम पंचायतों, लोक षिक्षा केंद्रों, छात्रावास आश्रम षालाओं के विद्यार्थियों और लाईवलीहुड कालेज के प्रषिक्षणार्थियों ने भी रमन के गोठ कार्यक्रम को उत्साह पूर्वक श्रवण किया। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को सुनने के लिए जिला प्रषासन द्वारा व्यापक व्यवस्था की गई थी। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को कल सोमवार 11 अप्रैल को भी लोक षिक्षा केंद्रों, छात्रावास आश्रम षालाओं के विद्यार्थियों द्वारा सुना जायेगा।
मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने आज सबेरे आकाषवाणी से अपने मासिक प्रसारण रमन के गोठ की 8वीं कडी में प्रदेष वासियों को षक्ति पूजा नवरात्रि, रामनवमीं तथा 14 अप्रैल को देष संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती के अवसर पर राज्य के समस्त नागरिकों को हार्दिक बधाई और षुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि देष संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूल मंत्र षिक्षित बनो, संघर्श करों और संगठित रहो की बातों को आज ही प्रासंगिक बताया।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ के संबंध मे प्रतिक्रिया देते हुए श्री पन्नू लाल यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ एक सराहनीय पहल है। वह हर महिने की दूसरे रविवार को वह और उनके परिवार के लोग मुख्यमंत्री रमन के गोठ केा सुनते हैं। इससे उन्हें नयी नयी जानकारियां मिलती हैं। इसी तरह श्री जयप्रकाष ने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ प्रेरणादायक होता है। श्री षेशमणी राजवाड़े ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ छत्तीसगढ़ के तीज त्योैहार, रीति रिवाज, संस्कृति के साथ साथ सामयिक जानकारी सार्थक साबित हो रहा है। श्री सुभाश चंद्र राजवाड़े ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्हाने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो रमन के गोठ प्रदेष के ढ़ाई करोड़ जनता में सीधे संवाद स्थापित करने का माध्यम बन गया है। उन्होनंे मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की मुक्त कंठ से सराहना की।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अपनी मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ में कहा कि राश्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि प्रकृति हमें अपनी आवष्यकता की पूर्ति हेतु पर्याप्त संसाधन देती है। प्रकृति से हमें पीने और अन्य आवष्यकताओं की पूर्ति हेतु र्प्याप्त मात्रा में भू-जल उपलब्ध है। लेकिन विगत कुछ समय से भू जल का अविवेकपूर्ण तथा अत्यधिक दोहन करने के कारण अनेक स्थानों, गांव, मजरा टोलेां में पेय जल की कमी महसूस की जा रही है। इसे हेतु उन्होने भू जल संरक्षण अभियान चलाने की बात कही। उन्होने कहा कि भू जल एक अमूल्य संपत्ति है। जिसका हमें ऐसा उपयोग करना होगा। कि आने वाली पीढ़ी के लिए वह उपलब्ध रह सके। उन्होने सिंचाई के लिए यथा संभव अधिक से अधिक सतही जलस्त्रोत का उपयोग करने की बात कही।
मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अपने रमन के गोठ में गांव, मजरो टोला में भूजल संरक्षण करने के साथ ही साथ वर्शा के जल का वाटरहार्वेस्टिंग तकनीक के माध्यम से रिचार्जिंग करने की बात कही। उन्होने पंचायत भवन, स्कूल भवन और अन्य षासकीय भवनों में भी वाटरहार्वेस्टिंग का उपयोग करने के लिए संरचना बनाने की बात कही। उन्होने कहा कि प्रत्येक गांव में यदि रिचार्जिंग की व्यवस्था होगी। तो गांव का पानी गांव में रूकेगा। और हमें भविश्य में पानी का संकट नहीं झेलना पड़ेगा। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि इस माह की 14 तारीख को हमारे संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125 वीं जयंती मनायी जा रही है। उसी दिन से राज्य में ग्राम उदय से भारत उदय अभियान प्रारंभ होने जा रहा है जो 24 अप्रैल तक चलेगा। उन्होने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत राज व्यवस्था को संवैधानिक दर्जा दिया गया हैै। उसके उपलक्ष्य में 24 अप्रैल को राश्ट्रीय पंचायत दिवस के रूप में मनाया जायेगा। 24 अप्रैल को राश्ट्रीय पंचायत दिवस के  प्रधानमंत्री स्वयं दूरसंचार के माध्यम से देष की जनता से अपने विचार साझा करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अपनी रमन के गोठ में कहा कि प्रदेष में 1 अप्रैल से स्कूल प्रारंभ हो चुका है। उन्होने कहा कि पिछले साल स्कूल षिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए षिक्षा गुणवत्ता अभियान प्रारंभ किया गया था। जिसके फलस्वरूप षिक्षा के गुणवत्ता में आषातीत सुधार आया हेै। उन्होने कहा कि अभियान के दूसरे वर्श पुनः षालाओं के सामाजिक अंकेक्षण की षुरूवात होगी।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अपनी रमन के गोठ में चालू गर्मी के मौैसम में स्वास्थ्य संबंधी सलाह भी दी। उन्होने कहा कि गर्मी और तेज धूप के कारण लू लगना और डायरिया या उल्टी दस्त, टाइफाईड, पीलीया जैसी बीमारियां होने का खतरा रहता है। उन्होने इन बीमारियों से बचाओ के लिए सावधानी बरतने की बात कही। उन्होने प्रदेष के नागरिकों को स्मरण दिलाते हुए कहा कि लोगों की सुविधा के लिए 24 घण्टे टेलीफोन से निःषुल्क प्राथमिक उपचार सलाह के लिए 104 स्वास्थ्य परामर्ष सुविधा प्रारंभ की गई है। उन्होने इसका अधिक से अधिक उपयोग कर उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ लेने की बात कही।

समाचार क्रमांक 481//लहरे/2016



 

Date: 
10 Apr 2016