Homeबैकुण्ठपुर : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की दसवीं कड़ी प्रसारित : राज्य की प्रत्येक सहकारी समिति में पर्याप्त मात्रा में खाद,बीज और पौध संरक्षण दवाईयों की व्यवस्था-मुख्यमंत्री डॉ.सिंह

Secondary links

Search

बैकुण्ठपुर : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की दसवीं कड़ी प्रसारित : राज्य की प्रत्येक सहकारी समिति में पर्याप्त मात्रा में खाद,बीज और पौध संरक्षण दवाईयों की व्यवस्था-मुख्यमंत्री डॉ.सिंह

Printer-friendly versionSend to friend

पर्यावरण संरक्षण और संवर्धन के लिए राज्य में प्रति व्यक्ति तीन पेड़ लगाने का लिया है संकल्प


बैकुण्ठपुर 12 जून 2016

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 10वीं कड़ी को आज प्रातः 10.45 से 11.05 बजे के मध्य जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर स्थित मानस भवन में आम नागरिकों, जन प्रतिनिधियों के साथ साथ जिला पंचायत की नवपदस्थ मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री संतन जांगड़े ने तल्लीनता के साथ सुना। इसके अलावा जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों, नगरीय निकायों, सभी ग्राम पंचायतों, लोक षिक्षा केंद्रों, छात्रावास आश्रम षालाओं के विद्यार्थियों और लाईवलीहुड कालेज के प्रषिक्षणार्थियों ने भी रमन के गोठ कार्यक्रम को उत्साह पूर्वक श्रवण किया। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को सुनने के लिए जिला प्रषासन द्वारा व्यापक व्यवस्था की गई थी। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को आज षाम को पुनः आज षाम 8 बजे से 8.20 बजे तक आकाषवाणी के सभी केंद्रेां से प्रसारित होगा।
मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने आज सबेरे आकाषवाणी से अपने मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 10वीं कडी में कबीर जयंती, छत्रसाल जयंती, महाराणा प्रताप जयंती की षुभकामनाएं दी। उन्होने वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस को याद करते हुए उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने मासिक रेडियो वार्ता में विकास पर्व के लिए सबको बधाई दी। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 2 वर्श पूरे करते हुए देष में विकास के नये नये कीर्तिमान स्थापित किये है। इन उपलब्धियों और गौरव से देषवासियों को जोड़ने के लिए यह विकास पर्व मनाया जा रहा है। जिसमें हमारे प्रदेष की भी उत्साहजनक भागीदारी है।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अपनी मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ में कहा कि हम सबके लिए खुषी की बात है, कि इस बार अच्छे मानसून की भविश्यवाणी हुई है। उन्होने इसके लिए किसानों को अग्रिम षुभकामनाएं दी। डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ की 80 प्रतिषत जनता की आय का मुख्य जरिया खेती है। धान की खेती हमारी अर्थव्यवस्था का आधार है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने धान का समर्थन मूल्य 60 रूपये प्रति क्वि.बढाकर किसान भाईयों को एक बडी सोैगात दी है। जिसका लाभ लाखों किसान भाईयों और उनके परिवारजनों को मिलेगा।  डॉ. सिंह ने कहा कि किसानों के लिए राज्य की प्रत्येक सोसाइटी(सहकारी समिति) में पर्याप्त मात्रा में खाद बीज और पौध संरक्षण दवाईयों की व्यवस्था की जा चुकी है। किसान अपनी जरूरत के अनुसार इनका उठाव कर लें। उन्होने बताया कि सूखा प्रभावित तहसीलों में इस बार खरीफ में प्रत्येक किसान को अधिकतम एक क्वि. धान का बीज निःषुल्क दिया जा रहा है। डॉ.सिंह ने कहा कि मानसून के दौरान संभावित प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए राज्य सरकार ने प्रषासन को सतर्क करते हुए प्रत्येक जिले के लिए 84 करोड़ रूपये की धन राषि अग्रिम के तौर पर उपलब्ध करा दी है। मुख्यमंत्री ने रेडियो प्रसारण में छत्तीसगढ में पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रहे स्कूली बच्चों और ग्रामीणों का विशेष रूप से उल्लेख किया और उनके प्रयासों को सभी लोगों के लिए अनुकरणीय बताया। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि छत्तीसगढ़ में पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में अदभुत जाग्रति आयी है।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से ‘एक व्यक्ति-एक पेड़’ लगाने का आव्हान किया है। मुझे खुशी है कि छत्तीसगढ़ राज्य ने प्रति व्यक्ति तीन पेड़ लगाने का संकल्प लिया है और इसके लिए हरियर छत्तीसगढ़ तथा पानी बचाओं अभियान चलाया जा रहा है। प्रदूषण मुक्त छत्तीसगढ़ की कल्पना को साकार करने के लिए हमने दो साल की कार्य योजना बनाई है। मुख्यमंत्री ने ‘रमन के गोठ’ में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की उज्ज्वला योजना का भी जिक्र किया। डॉ. सिंह ने कहा कि इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ राज्य में दो वर्ष के भीतर 25 लाख गरीब परिवारों को महिलाओं के नाम पर मात्र दो सौ रूपए का शुल्क लेकर रसोई गैस कनेक्शन दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार उन्हें डबल बर्नर चूल्हा और पहली बार रसोई गैस का सिलेण्डर निःशुल्क देगी। मुख्यमंत्री ने कि इस योजना के लागू होने पर प्रति वर्ष एक करोड़ वृक्ष कटने से बचेंगे और हमारी माताओं और बहनों को रसोई घरों के धुएं से होने वाली परेशानियों से राहत मिलेगी। उन्हें धुएं के कारण होने वाली बीमारियां भी नहीं होंगी। मुख्यमंत्री ने इसे एक संवेदनशील योजना बताते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति छत्तीसगढ़ की माताओं और बहनों की ओर से आभार व्यक्त किया।
डॉ. रमन सिंह ने आज के अपने रेडियो प्रसारण में प्रदेशवासियों से 21 जून को होने वाले विश्व योग दिवस में सक्रिय भागीदारी का आव्हान किया। उन्होंने श्रोताओं को योग के फायदे भी बताए। डॉ. सिंह ने कहा कि मैं आपसे कहना चाहता हॅूं कि आप कितने भी व्यस्त हो, लेकिन दिन में कम से कम बीस - तीस मिनट का समय योग अभ्यास के लिए जरूर निकाले। इससे आप न केवल स्वस्थ, ऊर्जावान और तेजस्वी होंगे बल्कि आपकी प्रतिभा के चमत्कार से आपके परिवार, समाज, राज्य और देश को भी लाभ होगा।
रमन के गोठ पर प्रतिक्रिया
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ के संबंध मे प्रतिक्रिया देते हुए श्री इष्हाक खान ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ एक सराहनीय पहल है। इसी तरह श्री विजय एक्का ने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ प्रेरणादायक होता है। श्री तीरथ लाल ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ प्रदेष के ढ़ाई करोड़ जनता में सीधे संवाद स्थापित करने का माध्यम बन गया है। इसी तरह श्री रूद्र कुमार मिश्रा ने मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को सकारात्मक और उपयोगी बताया । श्री छत्रपाल राजवाड़े और श्री कमल नारायण सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ में षासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की सहज रूप से जानकारी मिलती है जो लोगो के लिए फायदेमंद है।


समाचार क्रमाक 978/लहरे
 

Date: 
12 Jun 2016