Homeमहासमुंद : सिरपुर में बोलबम के साथ रमन वार्ता की गूंज : बोलबम कांवरियों ने सुना रमन के गोठ

Secondary links

Search

महासमुंद : सिरपुर में बोलबम के साथ रमन वार्ता की गूंज : बोलबम कांवरियों ने सुना रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

महासमुंद, 14 अगस्त 2016

बोलबम कांवरियों ने भी आज ऐतिहासिक और पुरातात्विक नगरी सिरपुर में रमन की वार्ता सुनी। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की रेडियो वार्ता रमन के गोठ कार्यक्रम की 12 वीं कड़ी का प्रसारण आज यहां रविवार को सवेरे 10.45 बजे से 11.05 बजे तक प्रसारित हुई। राज्य के आकाशवाणी केन्द्र, सभी एफ.एम. रेडियो चैनल सहित सभी निजी चैनलों में इसका प्रसारण किया गया। रमन के गोठ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण सुनने लोगांे में उत्साह का वातावरण रहा। सिरपुर की यज्ञशाला में बड़ी उत्सुकता से दूर-दराज से आए शिवभक्तों ने रेडियो वार्ता सुनी और इसकी काफी सराहना की।   
 महासमुंद विकासखण्ड के ग्राम सोरिद से आए कांवरिया श्री पोखन यादव ने आज की कड़ी में हमें देश की आजादी में छत्तीसगढ़ के नेताओं के योगदान की जानकारी मिली। डॉ. सिंह ने बड़े ही रोचक अंदाज में छत्तीसगढ़ के देशभक्त और शूरवीर शहीदों की जानकारी दी। श्री यादव विगत दस वर्ष से निरंतर हर साल कांवर यात्रा पर सिरपुर आते हैं और  भगवान शिव मंे जलाभिषेक करते हैं।  वे अपने गांव में कम्प्यूटर के जरिए फोटो और कार्ड छपाई का रोजगार करते हैं। आरंग के ग्राम चिखली से आए श्री लीलाराम धु्रव और श्री रामसिंह धीवर ने बताया कि वे नियमित रूप से रमन के गोठ सुनते हैं। मुख्यमंत्री ने सरल भाषा में हमें अपनी आजादी की कहानी बताई। उन्होंने बताया कि आदिवासी बहुल बस्तर और सरगुजा जिले के विकास के लिए सरकार काफी कुछ कर रही है। किसानों ने विकास के लिए भी राज्य सरकार ने ढेर सारी योजनाएं चला रही हैं। ग्राम केडियाडीह के श्री तोरन निषाद ने बताया कि उनके गांव में अखबार नहीं पहुंच पाता है। रमन के गोठ के जरिए उन्हंे सरकारी योजनाएं और विकास कार्यक्रमों की जानकारी होती है। बलौदाबाजार भाटापारा जिले के ग्राम नवागांव से आए शिवभक्त कांवरियां श्री मनोहरलाल साहू ने बताया कि आमतौर पर देश को आजादी दिलाने वाले राष्ट्रीय स्तर के नेताओं की जानकारी हर कोई को होता है। हमें अपने आस-पास और छत्तीसगढ़ के सेनानियों की जानकारी कम होती है। डॉ. रमन सिंह ने आज के इस रेडियो वार्ता के जरिए हमे अपने छत्तीसगढ़ के सेनानियों के बारे में बताया। यह काफी उपयोगी और ज्ञानवर्धन रहा है। कांवर यात्रा पर जलाभिषेक करने आई ग्राम जोबा के महिला जानकी बाई, विमला बाई, महेश्वरी, कांति, धमतरी जिले के कुरूद के दुर्गेश सिन्हा, पप्पू, मोनू सिन्हा ने भी यहां रमन वार्ता सुनी। उन्होंने भी इस कार्यक्रम की सराहना की।  


क्रमांक 91/650/पटेल
 

Date: 
14 Aug 2016