Homeमुंगेली : खाद्यमंत्री के गांव दशरंगपुर के मनखे सुनिन ‘‘रमन के गोठ’’

Secondary links

Search

मुंगेली : खाद्यमंत्री के गांव दशरंगपुर के मनखे सुनिन ‘‘रमन के गोठ’’

Printer-friendly versionSend to friend

कौशल उन्नयन योजना का लाभ लेने युवाओं को आव्हान
तेंदूपत्ता संग्रहण के लिये 1500 रूपये मिलेगा पारिश्रमिक


मुंगेली 14 फरवरी 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियोवार्ता के 6 वीं कड़ी में आज 14 फरवरी 2016 को खाद्यमंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले के गांव दशरंगपुर के मनखे मन ‘‘रमन के गोठ’’ सुनिन अउ श्री रामरतन यादव, श्री उमेश कुमार साहू मन बताइन नवा-नवा योजना के जानकारी मिलिस, फेर बताइन रेडियोवार्ता बने लागिस। मुख्यमंत्री ने ‘‘रमन के गोठ’’ रेडियोवार्ता में लोगों से अपनी मन की बात कही। बोर्ड परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले विद्यार्थियों को सफलता के लिये शुभकामनायें दी तथा कौशल विकास उन्नयन योजना का अधिक से अधिक लाभ लेने के लिये युवाओं को आव्हान किया। विकासखण्ड मुंगेली के ग्राम दशरंगपुर के मुरली मनोहर, राजकमल मोहले, चोवा सिंह ठाकुर एवं देवकुमार मोहले ने एक भेंट में बताया कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम में शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं और किसानहित के बारे में जानकारी मिलती है।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि लघु वनोपजों के कारोबारों का लाभ आदिवासियों, वनवासियों को दिलाने हेतु नये-नये उपाय किये जा रहे है। तेंदूपत्ता संग्रहण के लिये पारिश्रमिक 1200 रूपये से बढ़ाकर 1500 रूपये मानक बोरा कर दिया गया है। जिससे लगभग 15 लाख परिवार लाभांवित होंगे। तेंदूपत्ता संग्रहण करने वाले परिवारों को चरण पादुका भी वितरित किये जायेंगे। संरक्षित क्षेत्रों में निवासरत लगभग 25 हजार आदिवासी परिवारों द्वारा तेंदूपत्ता संग्रहण न करने की स्थिति में प्रत्येक परिवार को इस वर्ष 2000 रूपये की राशि कैम्पा निधि से दी जायेगी। उन्होने बताया कि पूरे राज्य में हाईस्कूल/हायर सेकेण्डरी बोर्ड परीक्षा में 8 लाख विद्यार्थी सम्मिलित होंगे, इसके लिये 1986 परीक्षा केंद्र बनाये गये है।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने मासिक रेडियोवार्ता में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं के प्रति हिंसा एवं घटनाओं को रोकने के लिये प्रथम बार हेल्प लाईन की व्यवस्था की गई है। जिसमें 24 घण्टे कार्य करेगी। घरेलू हिंसा, टोनही प्रताड़ना, यौन उत्पीड़न, सती प्रथा के संबंध में हेल्प लाईन से परामर्श ले सकते है। उन्होने बताया कि नया रायपुर में ट्रिपल आईटीआई प्रारम्भ हो गया है। सभी जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज शुरू कर दिये गये है। जो देश में आदर्श बन गये है। युवाओं को सरकारी सेवाओं में चयन का ज्यादा अवसर देने के लिये सीधी भर्ती के पदों पर आयु सीमा 35 से बढ़ाकर 40 वर्ष कर दी गई है, जो 31 दिसम्बर 2016 तक प्रभावशील रहेगी। विभागों में सीधी भर्ती में तृतीय श्रेणी के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों का निराकरण करने के लिये स्वीकृत कुल पदों के 10 प्रतिशत पदों का सीमा बंधन भी एक वर्ष के लिये शिथिल किया गया है। तृतीय श्रेणी (गैरकार्यपालिक) एवं चतुर्थ श्रेणी के सभी पदों पर भर्ती के लिये साक्षात्कार समाप्त किया गया है। उन्होने ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम में युवाओं से कहा कि कौशल उन्नयन विकास योजना से जुड़े और शिक्षित बने। ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम के संबंध में लोगों द्वारा भेजे गये चिट्ठी पर मुख्यमंत्री ने चर्चा की। उन्होने माघी पूर्णिमा, राजिम कुम्भ मेला और महाशिवरात्रि के लिये प्रदेशवासियों को बधाई दी।

 

Date: 
14 Feb 2016