Homeमुंगेली : देवगांव के लोगो ने उत्साह से सुना रमन के गोठ : रमन के गोठ कार्यक्रम की ग्यारहवीं कड़ी में मुखातिब हुए मुख्यमंत्री

Secondary links

Search

मुंगेली : देवगांव के लोगो ने उत्साह से सुना रमन के गोठ : रमन के गोठ कार्यक्रम की ग्यारहवीं कड़ी में मुखातिब हुए मुख्यमंत्री

Printer-friendly versionSend to friend

मुंगेली 10 जुलाई 2016

मुख्यमंत्री डॉं.रमन सिंह मासिक रेडियो वार्ता कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की जनता से सीधे संवाद स्थापित करने के उद्देश्य से रमन के गोठ कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। मुख्यमंत्री ने आज रविवार 10 जुलाई को रेडियो वार्ता प्रसारण की ग्यारहवीं कड़ी में मुखातिब हुए। मुंगेली विकासखण्ड के ग्राम देवगांव के लोगों ने उत्साह पूर्वक रमन के गोठ को सुना। ग्राम सरपंच श्रीमती मनोरमा पटेल, रामानंद गिरजाबाई पटेल, डोमन, जगदेव, रमाशंकर सहित महिलाओं और बच्चों ने रमन के गोठ कार्यक्रम का श्रवण किया। महेन्द्र, रामनारायण द्वारिका ने बताया कि वे पहली बार रमन के गोठ कार्यक्रम सुन रहा है, अब हर माह रमन के गोठ सुनेंगे। कक्षा तीसरी के छात्र जय कुमार पटेल ने भी रमन के गोठ सुना। उन्होने बताया कि पढ़ाई के बारे अच्छी जानकारी मिली है।
मुख्यमंत्री ने रेडियो प्रसारण में सर्वप्रथम वर्षा ऋतु खेती किसानी और शिक्षा के संबंध में लोगों को जानकारी दी। उन्होंने बच्चों और युवाओं से कहा कि शिक्षा सत्र में पहली बार स्कूल जाने वाले बच्चे और युवा अच्छे वातावरण बनायें।  शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने हेतु शिक्षक शिक्षिकाओं से अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि बेटी हो बेटा समाज में सभी समान है। मुख्यमंत्री ने रेडियो वार्ता में किसानों से कहा कि उन्न्त किस्म के खाद बीज का प्रयोग करें ताकि अच्छी पैदावार हो सके। उन्होंने किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा कराने के सलाह दी।
    मुख्यमंत्री डॉं.सिंह ने लोक सुराज अभियान में प्राप्त अनुभव के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में नया प्रयोग किया गया नवाचार चमत्कारिक साबित हुआ है। उन्होंने 6 जुलाई को रथयात्रा एवं ईदउलफितर के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई दी। उन्होंने रेडियो वार्ता में 19 जुलाई को गुरू पर्व के महत्व को बताते हुए कहा कि गुरू को ईश्वर से महान कहा गया है। भारत में गुुरूकुल की परंपरा रही है, इस परंपरा को आदर्श बनाने कहा। उन्होंने डॉं.खूबचंद बघेल के जन्म दिन का जिक्र करते हुए कहा कि वे ऊच-नीच और कुरीतियों के खिलाफ लोगों को एकत्र किया।
    मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ के युवाओं को उच्च शिक्षा देने के लिए प्रदेश में शिक्षण संस्थान स्थापित किया गया, इसका लाभ मिल रहा है। प्रयास संस्था के 27 विद्यार्थी सफल हुए है। उन्होंने बताया कि प्रधान मंत्री कौशल उन्नयन योजना के तहत लाखों बेरोजगार युवाओं को हुन्नर सिखाया गया। जिससे प्रदेश रोड माडल बनी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में युवा नीति बनाने जा रहे है।

 

Date: 
10 Jul 2016