Homeमुंगेली : मुख्यमंत्री ने लोगों को भू-जल संरक्षण एवं वाटर हार्वेस्टिंग के संबंध में दी जानकारी

Secondary links

Search

मुंगेली : मुख्यमंत्री ने लोगों को भू-जल संरक्षण एवं वाटर हार्वेस्टिंग के संबंध में दी जानकारी

Printer-friendly versionSend to friend

बरेला अऊ करही के मनखे मन उत्साह ले सुनिन रमन के गोठ
अगम बाई पहिली बार सुनके होईस गदगद

मुंगेली 10 अप्रैल 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता हर माह के द्वितीय रविवार को प्रातः 10.45 से 11 बजे तक प्रदेश के सभी आकाशवाणी केंद्रों के माध्यम से प्रसारण होता है। इसी कड़ी में अप्रैल माह के द्वितीय रविवार को आठवीं कड़ी में आज रमन के गोठ कार्यक्रम का प्रसारण किया गया। जिले के ओडीएफ ग्राम बरेला अऊ करही के मनखे मन उछाह-मगन होके रमन के गोठ सुनिन। पंच अगम बाई पहिली बार रमन के गोठ सुनके गदगद होईस। मुख्यमंत्री ने लोगों से जल संरक्षण, वाटर हार्वेस्टिंग, शिक्षा के गुणवत्ता, सामाजिक अंकेक्षण के संबंध में चर्चा की। उन्होने रमन के गोठ कार्यक्रम की शुरूआत शक्ति और भक्ति के पर्व नवरात्रि से की। छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल डोंगरगढ़ के बमलेश्वरी, रतनपुर के महामाया, चंद्रपुर के चंद्रहासिनी का उल्लेख किया।
    रमन के गोठ कार्यक्रम के सुनइया ग्राम बरेला के सरपंच श्री पटेल, पंच रामाधार ध्रुव, कमल पटेल, शेख शरीफ, राकेश सिंह बैस, कोटवार कोमल दास, हीरालाल पटेल ह बताइन रमन के गोठ गुरतुर, सुघ्घर अउ नीक लागिस। रमन के गोठ कार्यक्रम म योजना के जानकारी घलो मिलिस। अइसने ग्राम करही में मंच में सरपंच श्री सुंदर लाल, सचिव नंदराम से लेके अनिल शिवारे, राजकुमार रजक, मंजूलता पाण्डेय, अहिल्या बाई जगत, कौशिल्या साहू, राजकुमारी, प्रभा साहू, जमुना बाई, अविनाश तिवारी एवं राजेंद्र पाण्डेय ह रमन के गोठ सुनिन। अउ बताइन के रमन के गोठ कार्यक्रम के हर महिना इंतजार रइथे। मुख्यमंत्री ने रेडियो वार्ता के माध्यम से 14 अप्रैल को डॉ. अम्बेडकर की 125 वीं जयंती, 15 अप्रैल को रामनवमी, 19 अप्रैल को महावीर जयंती के अवसर पर प्रदेश वासियों को बधाई दी। उन्होने ग्राम उदय से भारत उदय अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि 14 अप्रैल से 24 अप्रैल तक चलेगा। इस अभियान के दौरान पंचायत एवं ग्रामीण विकास, समाज कल्याण, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के द्वारा विविध कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी लोगों को मन की बात कहेंगे। ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के दौरान डॉ. अम्बेडकर जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल को सामाजिक समरसता कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसी तरह अभियान के दौरान किसान सभा और ग्राम सभा का आयोजन किया जायेगा। उन्होने लोगों को जानकारी देते हुए बताया कि 01 अप्रैल से शाला प्रवेश उत्सव के साथ स्कूल प्रारंभ हो गया है। इस वर्ष सामाजिक अंकेक्षण का कार्य कराया जायेगा। इस बार महिलाओं की भी सक्रिय भागीदारी रहेगी। वे बच्चों की शिक्षा गुणवत्ता के संबंध में शिक्षकों से जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। स्कूली बच्चों को पुस्तक का वितरण किया गया है ताकि गर्मी के छुट्टी में उनके माता-पिता पढ़ा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि 01 अप्रैल से 30 अप्रैल तक बच्चे स्कूल जायेंगे। इस दौरान बच्चों को लू ना लगे इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होने बच्चों को पानी बॉटल स्कूल ले जाने और खाली पेट नहीं रहने की सलाह दी। पीलिया और डायरिया की शिकायत होने पर निकट के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को सूचित करें और स्वास्थ्य सुविधा का लाभ लें।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने महात्मा गांधी जी के भू-जल संरक्षण के संबंध में बातों और सिद्धांतों का स्मरण किया तथा जल स्त्रोत सूखने की चिंता की। उन्होने कहा कि भू-जल स्तर का प्रबंधन आने वाली पीढ़ी के लिये जरूरी है। गांवों में गर्मी सीजन में धान फसल में नलकूप और नालों में पावर पम्प के माध्यम से सिंचाई करते हैं। फसल में अधिक पानी की आवश्यकता होती है इसलिये नालों से पावर पम्प का उपयोग उचित प्रतीत नहीं होता। भू-जल का अधिक दोहन होने से 405 गांवों में फ्लोराइड की मात्रा पाई गई। उन्होने कहा कि ग्राम पंचायतों, स्कूलों एवं कार्यालयों में मनरेगा के तहत वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण कराये।

 

Date: 
10 Apr 2016