Homeराजनांदगांव : ग्रामीनों को रास आया ‘रमन के गोठ’

Secondary links

Search

राजनांदगांव : ग्रामीनों को रास आया ‘रमन के गोठ’

Printer-friendly versionSend to friend

जनसंचार के सशक्त माध्यम रेडियो के जरिये लोगों से जुड़ने के प्रयासों को मिली सराहना
महापौर एवं निगम सभापति समेत नगर निगम की टीम ने  सुना ‘रमन के गोठ’


   राजनांदगांव 13 सितम्बर 2015। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा प्रदेश की जनता से सीधे जुड़ने आकाशवाणी से पहली बार प्रसारित ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम के  प्रति जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में लोगों में भरी उत्साह था। जिले के सभी  विकासख्रंडों के ग्रामीण क्षेत्र में लोगों ने इस कार्यक्रम को सुना और सराहा है। जिला मुख्यालय में नगर निगम सागार में आयोजित कार्यक्रम में महापौर श्री मधुसूदन यादव एवं सभापति श्री शिव वर्मा समेत मेयर इन काउंसिल के सदस्यों, पार्षद एवं आम नागरिकों ने इस कार्यक्रम को सुना। महापौर श्री मधुसूदन यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने रेडियो जैसे सशक्त विश्वसनीय माध्यम से किसानों को आश्वस्त किया है कि सूखे की स्थिति में मुख्यमंत्री एवं पूरा शासन-प्रशासन किसानों  के साथ है। मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में सूखे की स्थिति पर निर्णय लेने के लिए उन्होने 15 सितम्बर को कैबिनेट की बैठक भी बुलायी है। नगर निगम में आयोजित कार्यक्रम में अपर कलेक्टर संजय अग्रवाल, बलवंत साव, धीरज घोड़ेसवार, कन्हैया साहू, अतुल रायजादा, देवेश देवांगन, कुलुषण, शैल यादव, जमुना साहू, शरद कुमार सिन्हा, गप्पूलाल सोनकर, सुनीता साहू, मणीास्कर गुप्ता, विजय राय, करूण ठाकुर, हरीशचंद्र साहू, पारूल जैन, अनीता सोनवानी, रमेश नाराणी, तोरण देवांगन उपस्थित थे।
    ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में भी ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम को बुजुर्गाे, महिलाओं एवं युवाओं के द्वारा सुना गया। राजनांदगांव के जैन मंदिर के पास चाय बेंचकर जीवनयापन करने वाले विनोद बेलापुरे पुराने रेडियो श्रोता है। उन्हे रेडियो के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री को सुनकर अच्छा लगा। वहीं राजनांदगांव सदर बाजार में पान की दुकान चलाने वाले गजानंद पंसारी 60 साल से रेडियो सुन रहे है। उनका मानना है कि मुख्यमंत्री जी के रेडियो के जरिये आम जनता से जुड़ने से जनमानस के साथ रेडियो माध्यम को ी ला मिलेगा। इस कार्यक्रम को सुनने राजनांदगांव विकासखण्ड के ग्राम पदुमतरा के सामुदायिक वन में बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं एकत्रित थी। ग्राम पंचायत पदुमतरा के सरपंच श्री मोहन साहू ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा रेडियो के जरिये प्रदेश की जनता से संवाद को एक अभिनव एवं सकारात्मक पहल बताया। श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा अपने 15 मिनट के सारगर्भित वार्तालाप में छत्तीसगढ़ के समूचे परिदृश्य पर प्रकाश डाला गया। ग्राम पदुमतरा की महिला श्रीमती पिंगला गंधर्व ने प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह द्वारा प्रदेशवासियों के सुख-दुख को जानने समझने एवं उनसे सलाह हेतु ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम को जीवंत एवं कारगर बताया। इस माध्यम से समाज के कमजोर तबके एवं दूर-दराज के  व्यक्ति भी अपने गांव एवं घर में बैठकर मुख्यमंत्री की संवाद को सुन सकते हैं।
    ग्राम खैरझिटी कीग्रामीण महिला श्रीमती नागेश्वरी सिन्हा ने इस कार्यक्रम को आम जनता से सीधे संवाद का कारगर माध्यम माना। ग्राम आरला की श्रीमती ममता देवांगन ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के माध्यम से गांव, गरीब तथा आम जनता के कल्याणहितों चलाई जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। ग्राम मोहबा के हीरालाल केवट ने कार्यक्रम को सुख-दुख से जोड़ने वाली एवं छत्तीसगढ़ की सभी परिस्थितियों से एवं घटनाओं से अवगत कराने वाला बताया। ग्राम सिंगपुर निवासी सुखलाल मंडावी ने कार्यक्रम को सराहनीय बताया। ग्राम परसबोड़ निवासी श्रीमती गवंतीन बाई ने कार्यक्रम को प्रदेश की जनता से मुख्यमंत्री को सीधे जोड़ने वाला बताया। इसके माध्यम से आम जनता से शासन-प्रशासन का रिश्ता और अधिक प्रगाढ़ होगा। ग्राम देवडोंगर की ग्रामीण महिला श्रीमती पूर्णिमा देव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपने संवाद के माध्यम से गांव, गरीब के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उनके कल्याण हेतु अपनी प्रतिबद्धता को व्यक्त किया है।


क्रमांक 1468 /हीरा देवांगनचंद्रेश ठाकुर
 

Date: 
13 Sep 2015