Homeराजनांदगांव : रमन के गोठ कार्यक्रम में तीसरी बार मुखातिब हुए मुख्यमंत्री : राजनांदगांव जिले के श्रोताओं के पत्रों का दिया जवाब

Secondary links

Search

राजनांदगांव : रमन के गोठ कार्यक्रम में तीसरी बार मुखातिब हुए मुख्यमंत्री : राजनांदगांव जिले के श्रोताओं के पत्रों का दिया जवाब

Printer-friendly versionSend to friend

    राजनांदगांव 08 नवम्बर 2015

प्रदेश की जनता से सीधे संवाद करने के उद्देश्य से आकाशवाणी से आज प्रसारित रमन के गोठ कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश की जनता से तीसरी बार मुखातिब हुए। मुख्यमंत्री ने राजनांदगांव जिले से प्राप्त पत्रों को महत्व देते हुए उनके द्वारा भेजे गये सुझावों को अमल में लाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने जिले के अम्बागढ़ चौकी विकासखंड के सुदूर वनांचल में स्थित ग्राम तुमड़ीकसा निवासी श्री रमेश आचला द्वारा रमन के गोठ कार्यक्रम को गोड़ी भाषा में प्रसारित करने की मांग पर विचार करने की बात कही। इसी तरह गण्डई निवासी साहित्यकार डॉ. पीसी लाल यादव द्वारा छत्तीसगढ़ ग्रामीण बच्चों की अभिरूचि को ध्यान में रखते हुए लोककला एवं लोक संगीत को पाठ्यक्रम में शामिल करने के सुझाव पर विचार करने आश्वस्त किया। टेड़ेसरा निवासी श्री जागेश्वर कुमार द्वारा टेड़ेसरा स्थित फैक्ट्री में मजदूरों को समय पर मजदूरी भुगतान नहीं करने की शिकायत की गई। इस पर मुख्यमंत्री ने आवेदन को परीक्षण कर कार्रवाई हेतु कलेक्टर को पत्र भेजने की जानकारी दी।
    मुख्यमंत्री ने श्रोताओं को बड़ी उत्सुकता के साथ कार्यक्रम से जुड़े रहने एवं लगातार मिल रही प्रोत्साहन एवं सराहना के लिए धन्यवाद दिया। नगर निगम राजनांदगांव के सभागार में आज महापौर श्री मधुसूदन यादव, पूर्व महापौर श्री अजीत जैन, एमआईसी मेम्बर श्री देवशरण सेन, श्री सावन वर्मा सहित नगर निगम के पार्षदों, अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों व नगर के गणमान्य नागरिकों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को सुना। इस दौरान मुख्यमंत्री ने डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि वे नौनिहालों के उज्जवल भविष्य के प्रति  पूरी तरह प्रतिबद्ध है। डॉ. सिंह ने सुखा प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य खोले जाने की जानकारी दी। इस दौरान पार्षद श्री टोपेन्द्र वर्मा सहित जनप्रतिनिधि एवं आम नागरिक उपस्थित थे।

 

क्रमांक 1748   /चंद्रेश ठाकुर
 

Date: 
08 Nov 2015