Homeराजनांदगांव : ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम में जिले को मिला महत्व : युवाओं से की कौशल विकास योजनाओं का लाभ उठाने की अपील

Secondary links

Search

राजनांदगांव : ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम में जिले को मिला महत्व : युवाओं से की कौशल विकास योजनाओं का लाभ उठाने की अपील

Printer-friendly versionSend to friend

    राजनांदगांव 14 फरवरी 2016

  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज 6वीं बार ‘रमन के गोठ कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की जनता से मुखातिब हुए। ‘रमन के गोठ की इस कड़ी में राजनांगांव जिले को विशेष महत्व मिला। मुख्यमंत्री ने 21 फरवरी को जिले के धार्मिक नगरी डोंगरगढ़ में कुरूभाट में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन योजना के शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आगमन की भी जानकारी दी। डॉ. सिंह ने कहा कि इस योजना के शुभारंभ के माध्यम से छत्तीसगढ़ में विकास का नया अध्याय लिखा जायेगा। उन्होंने रूर्बन योजना के लाभ और महत्व के संबंध में भी जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को रूर्बन योजना के शुभारंभ अवसर का साक्षी बनने के लिए आमंत्रित किया।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने प्रदेश के नवयुवकों को भविष्य बताते हुए उनके कौशल विकास हेतु चलायी जा रही कौशल विकास योजना के संबंध में जानकारी दी। डॉ. सिंह ने प्रदेश के नवयुवकों को अपने कौशल उन्नयन हेतु प्रशिक्षण अर्जित कर छत्तीसगढ़ के विकास में सहभागी बनने की अपील की। आज विभिन्न स्थानों में एकत्रित होकर लोगों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को सुना । नगर निगम के सभाकक्ष में महापौर श्री मधुसूदन यादव, नगर निगम के सभापति श्री शिव वर्मा, एमआईसी मेम्बर श्री देवशरण सेन, श्री पारस वर्मा, श्री बलवंत साहू और पार्षद सुनीता साहू, श्री गप्पू, श्री दीपक चौहान सहित नगर के गणमान्य नागरिकों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को सूना। छात्रावासों एवं आश्रमों के छात्र-छात्राओं के अलावा लाईवली हुड कालेज में प्रशिक्षणरत विद्यार्थियों ने भी रमन के गोठ को सुनकर इस कार्यक्रम की सराहना की।

क्रमांक 219  / चंद्रेश ठाकुर
 

Date: 
14 Feb 2016