Homeरायगढ़ : पंचधार के ग्रामवासियों ने चौपाल में सुनी 'रमन के गोठ

Secondary links

Search

रायगढ़ : पंचधार के ग्रामवासियों ने चौपाल में सुनी 'रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

रायगढ़, 8 जनवरी 2017

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता 'रमन के गोठ' की 17वीं कडी को सुनने के लिए आज रायगढ़ जिल के बरमकेला विकासखण्ड के ग्राम पंचायत पंचधार के चौपाल में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हुए थे। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं दी उन्होनें प्रदेश के विभिन्न जिलों के कई स्थानों पर दुकानों, हाटबाजार, व्यवसायिक प्रतिष्ठान अन्य संस्थानों में किये जा रहे कैशलेस लेनदेन की प्रशंसा की डॉ. रमन सिंह ने राज्य में चल रहे प्रयासों का विस्तार से उल्लेख किया और कहा कि कैशलेस भारत के निर्माण में छत्तीसगढ़ अग्रणीय भूमिका निभाएगा। 

मुख्यमंत्री ने रायगढ़ जिले में हो रहे कैशलेस की प्रशंसा की शहर के केवड़ाबाड़ी बस स्टैण्ड में श्री लक्ष्मीनारायण साहू की पान दुकान का जिक्र करते हुए कहा कि आप बिना नगद दिये श्री लक्ष्मीनारायण साहू की दुकान से पान खरीद सकते है। उन्होनें बताया कि इसी तरह कारगिल चौक के पास श्री रामसागर मिश्रा की चाट दुकान में बिना नगद भुगतान किये जन सामान्य चाट खा सकते है। दुकानदार ई-वॉलेट से भुगतान ले रहे है। डॉँ. सिंह ने 'रमन के गोठÓ में श्रोताओं को बताया कि कैशलेस लेनदेन को प्रोत्साहित देने के लिये छत्तीसगढ़ में अब तक 15 लाख लोग प्रशिक्षित होकर राज्य की डिजिटल आर्मी में शामिल हो चुके है।

'रमन के गोठÓ को सुनने के बाद श्री एस.के.पाणिग्राही ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कैशलेस से अब ग्रामीणों को कोचियो और बिचोलियो के ठगी का शिकार होना नहीं पडेगा उनके हक का पैसा उनके खाते में ही मिलेगा यह अच्छी पहल है। गांव के ही श्री पलटन पटेल ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कैशलेस से अब लोगों को अपने बटुए में  नगद रखने की जरू रत नहीं पडेगी यह शासन की कारगर पहल है। 

इस अवसर पर सरपंच श्री तुलाराम साहू, पटवारी श्री खेमचंद शर्मा, सचिव श्री एकादशिया बैरागी, उपसरपंच श्री शौकीलाल प्रधान,  पंच श्री ललित प्रधान, पटवारी श्री शुक्लाम्बर प्रधान, श्री सुकदेव दिवान, श्री रंजीत कुमार चौहान, श्रीमती मीना चौहान, श्रीमती पुष्पा पटेल, श्रीमती हेमकान्ती प्रधान, एवं बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे ।

स.क्र. /42/नूतन

 

Date: 
08 Jan 2017