Homeरायगढ़ : 'रमन के गोठ ' सुनकर पर्यावरण एवं जल संरक्षण बचाने ग्रामवासियों ने लिया संकल्प : महापल्ली के ग्रामवासियों ने उत्साह पूर्वक सुना रमन के गोठ

Secondary links

Search

रायगढ़ : 'रमन के गोठ ' सुनकर पर्यावरण एवं जल संरक्षण बचाने ग्रामवासियों ने लिया संकल्प : महापल्ली के ग्रामवासियों ने उत्साह पूर्वक सुना रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

रायगढ़, 12 जून 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के रेडियोवार्ता के मासिक कार्यक्रम की 10 वींं कड़ी को सुनने के लिए आज रायगढ़ विकास खण्ड के ग्राम महापल्ली के ग्राम पंचायत भवन में बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित हुए थे। उन्होंने उत्साहपूर्वक रमन के गोठ को सुना और पर्यावरण एवं जल बचाने के लिए संकल्प भी लिया। इस अवसर पर एसडीएम रायगढ़ श्री प्रकाश कुमार सर्वे, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नेहा सिंह, महापल्ली की सरपंच श्रीमती कुमुदनी गुप्ता, उप सरपंच विजय यादव, पंच विजय सिदार, सचिव दुष्यंत कुमार जानी, पंच सावित्री उरांव, रोजगार सहायक राजेश किसान, मुरली बहिदार, मीडिया प्रतिनिधि शेष चरण गुप्ता सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने रमन के गोठ में रायगढ़ और जशपुर जिले के अपने दौरे का उल्लेख करते हुए कहा कि इन जिलों में एक सौ से ज्यादा स्कूलों में बच्चों ने भू-जल संरक्षण और संवर्धन के लिए सोख्ता गड्ढा बनाया है। उन्होंने कहा कि हमें पर्यावरण की रक्षा के लिए इन बच्चों से प्रेरणा लेनी चाहिए। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने 45 हजार से ज्यादा नये और छोटे तालाब बनाए हैं, तथा झिरिया बनाकर पानी बचाने का प्रयास किया है और पूरे गांव को पानी तथा हरियाली की सौगात दे रहे हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से 'एक व्यक्ति-एक पेड़ लगाने का आव्हान किया है। मुझे खुशी है कि छत्तीसगढ़ राज्य ने प्रति व्यक्ति तीन पेड़ लगाने का संकल्प लिया है और इसके लिए हरियर छत्तीसगढ़ तथा पानी बचाओं अभियान चलाया जा रहा है। प्रदूषण मुक्त छत्तीसगढ़ की कल्पना को साकार करने के लिए हमने दो साल की कार्य योजना बनाई है।
    श्रीमती सुमन यादव, सावित्री यादव ने रमन के गोठ सुनने के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उज्जवला योजना के तहत गरीब परिवार की महिलाओं को नि:शुल्क रसोई गैस सिलेण्डर उपलब्ध कराई जा रही है। यह पहल सराहनीय है। इससे अब महिलाओं को रसोई घरों में धुएं से होने वाली परेशानियों से राहत मिलेगी। श्री भरत निधि, हेमसागर भोय ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राज्य शासन द्वारा किसानों के लिए बरसात से पूर्व सोसायटियों में खाद बीज की अग्रिम भंडारण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है, यह बात उनकी अच्छी लगी ताकि किसानों को खेती-किसानी के दिनों में खाद बीज की किल्लत का सामना अब नहीं करना पड़ेगा। इसी तरह विराट विशी एवं विकास साहू ने रमन के गोठ को सुनने के बाद बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा पर्यावरण, जल संवर्धन संरक्षण के लिए लोगों में जन-जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, यह अच्छी पहल है इससे निश्चित ही आने वाली पीढ़ी को लाभ मिलेगा। पवित्रा यादव एवं अमिलो यादव ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर सभी लोगों को कम से कम समय निकालकर अपने-अपने घरों में योग अभ्यास के लिए प्रोत्साहित किया, यह अच्छी पहल है। योग से लोग स्वस्थ, ऊर्जावान और तेजस्वी होंगे। श्याम भोय एवं श्वेत कुमार ने कहा कि बरसात से पहले बाढ़ आपदा एवं बचाव के लिए जो कार्य किए जा रहे है, यह बात उनको अच्छी लगी।
    इस दौरान एसडीएम श्री सर्वे एवं जनपद सीईओ नेहा सिंह  ने ग्रामीणों से रूबरू होकर ग्रामवासियों से आधार कार्ड, पेंशन, राशन एवं शासन की अन्य योजनाएं के बारे में जानकारी ली और उपस्थित सरपंच, सचिव को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।   


स.क्र./59/नूतन
 

Date: 
12 Jun 2016