Homeरायगढ़ : विद्यार्थियों को शुभकामनाएं और श्रद्धालुओं को राजिमकुंभ का न्यौता : मुख्यमंत्री का गोठ सुनने जगह-जगह आयोजित हुए कार्यक्रम

Secondary links

Search

रायगढ़ : विद्यार्थियों को शुभकामनाएं और श्रद्धालुओं को राजिमकुंभ का न्यौता : मुख्यमंत्री का गोठ सुनने जगह-जगह आयोजित हुए कार्यक्रम

Printer-friendly versionSend to friend

रायगढ़, 14 फरवरी 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज रेडियो मासिक वार्ता रमन के गोठ की छठवीं कड़ी में आगामी 23 फरवरी से राज्य में शुरू हो रही हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी बोर्ड की परीक्षा को देखते हुए विद्यार्थियों को पूरी तन्मयता एवं लगन के साथ पढ़ाई करने की सीख देते हुए कहा कि दोनों बोर्ड परीक्षाएं विद्यार्थियों के जीवन में महत्वपूर्ण होती है। उन्होंने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में आप सब लगे होंगे। पूरा परिवार भी परीक्षा में आपके साथ जुड़ा है। उन्होंने बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले प्रदेश के 8 लाख विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं दी। इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आगामी 22 फरवरी से शुरू हो रहे राज्य में कुंभ की महत्ता के बारे में जानकारी देते हुए प्रदेश वासियों को राजिमकुंभ मेले में आने का न्यौता भी दिया।

            मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का गोठ सुनने के लिए रायगढ़ जिले में जगह-जगह लोग सामूहिक रूप से एकत्र हुए। जिले की सभी ग्राम पंचायतों में रमन के गोठ को लोगों ने पूरी तन्मयता से सुना। जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक जनपद के एक-एक चिन्हित ग्राम पंचायत में रमन के गोठ की छठवीं कड़ी को सुनने के लिए खण्ड स्तरीय कार्यक्रम आयोजित हुआ। पुसौर जनपद की ग्राम पंचायत खोखरा में रमन के गोठ को सुनने के लिए ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती कलावती मकरध्वज पटेल एवं ग्रामीणों द्वारा वहां की माध्यमिक शाला के परिसर में व्यापक प्रबंध किया गया था। यहां रमन का गोठ सुनने के लिए खोखरा ग्राम पंचायत सहित आसपास के गांवों के गणमान्य नागरिक एवं जनप्रतिनिधि तथा खण्ड स्तरीय अधिकारी पहुंचे थे। खोखरा में आयोजित रमन के गोठ को लेकर बेहद उत्साह का वातावरण था। इस अवसर पर माध्यमिक शाला परिसर में जनपद पंचायत के सीईओ नीलाराम पटेल, एडिशनल सीईओ अनिल पंडा, तकनीकी सहायक श्री कुमार, जनपद एवं ग्राम पंचायत के प्रतिनिधि सहित शिक्षकगण एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण जन मौजूद थे।

            मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने अपने गोठ में 21 फरवरी को राजनांदगांव जिले के कुर्रूभांठ में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम में लोगों को शामिल होने का न्यौता दिया। उन्होंने अपनी वार्ता में माताओं एवं बहनों के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए समाज को आगे आकर भागीदारी निभाने की अपील करने के साथ ही वनवासियों की बेहतरी, शिक्षा की गुणवत्ता तथा कौशल उन्नयन एवं युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयास का उल्लेख किया।

            खोखरा में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की गोठ सुनने के बाद श्री अनिल पंडा ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री जी द्वारा बोर्ड की परीक्षा को लेकर विद्यार्थियों की तैयारी तथा उनेक उत्साह वर्धन के लिए कही गई बातें बेहद पसंद आई। श्री पंडा ने कहा कि मुख्यमंत्री जी का यह कहना कि असफलता से निराश और हताश नहीं होना चाहिए, यह बिल्कुल सही है। असफलता से सफलता का रास्ता निकलता है। असफलता के बाद भी यदि हिम्मत रखते हुए सच्चे मन से प्रयास किया जाए तो मंजिल जरूर मिलती है। सामाजिक कार्यकर्ता एवं पंचायत प्रतिनिधि चंद्रपाल पटेल का कहना है कि मुख्यमंत्री जी अपने गोठ में बड़ी अच्छी-अच्छी बाते बताते है। यह कार्यक्रम जनता के लिए बेहद उपयोगी है इससे लोगों को सरकार की योजनाओं एवं मुख्यमंत्री जी के कामकाज एवं उनकी मंशा पता चलती है। श्री पटेल ने आगे कहा कि इस कार्यक्रम को सुनने लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में कार्यक्रम की तिथि से पूर्व मुनादी कराई जाए। प्रत्येक पंचायतों में रेडियो, ट्रांजिस्टर की व्यवस्था हो और गांव के सब लोग एक जगह एकत्र होकर इस कार्यक्रम को सुने, ऐसा प्रयास किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री जी की वार्ता में जनहित के लाभ की कई बातें पता चलती है। पंचायत प्रतिनिधि सुखलाल सिदार ने भी रमन की गोठ की सराहना की। वैदनाथ पटेल ने कहा कि निर्भया मामले को लेकर मुख्यमंत्री जी की चिंता और इसकी रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहा प्रयास जिसकी जानकारी मुख्यमंत्री जी ने रमन के गोठ में दी है, उन्हें अच्छा लगा। श्री नीलाम्बर पटेल ने कहा कि तेन्दूपत्ता संग्राहकों की मजदूरी में बढ़ोत्तरी की जानकारी तथा युवाओ को रोजगार से जोडऩे के लिए कौशल उन्नयन प्रशिक्षण के लिए राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की भर्ती के लिए इंटरव्यू की व्यवस्था को समाप्त करने का जो निर्णय लिया है वह स्वागत योग्य है। इससे भर्ती में पात्र लोगों को लाभ मिलेगा तथा पारदर्शिता बढ़ेगी। सरपंच श्रीमती कलावती मकरध्वज पटेल ने रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना करते हुए इस बात का आभार जताया कि उनकी ग्राम पंचायत को मुख्यमंत्री जी की बात को सुनने के लिए आवश्यक प्रबंध एवं खण्ड स्तरीय आयोजन के लिए जनपद द्वारा चुना गया था। सरपंच ने मुख्यमंत्री जी के गोठ को सुनने के लिए अब हर महीने के दूसरे रविवार को अपने ग्राम पंचायत में बेहतर व्यवस्था करने के साथ ही ग्रामीणों को इसकी सूचना मुनादी कराकर दिए जाने की बात कही।  

स.क्र./84/नसीम

Date: 
14 Feb 2016