Homeरायगढ़ : शैक्षणिक व्यवस्था में सहभागी बनने संकल्पित हुए गढ़उमरिया के लोग : 'रमन के गोठ' सुनने जगह-जगह आयोजित हुए कार्यक्रम

Secondary links

Search

रायगढ़ : शैक्षणिक व्यवस्था में सहभागी बनने संकल्पित हुए गढ़उमरिया के लोग : 'रमन के गोठ' सुनने जगह-जगह आयोजित हुए कार्यक्रम

Printer-friendly versionSend to friend

रायगढ़, 8 नवम्बर 2015

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का आज आकाशवाणी से प्रसारित 'रमन के गोठ'  की तीसरी कड़ी को सुनने के लिए रायगढ़ जिले में जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित हुए। कलेक्टर श्रीमती अलरमेलमंगई डी के मार्गदर्शन में रमन के गोठ का जिला स्तरीय कार्यक्रम पुसौर ब्लाक की ग्राम पंचायत गढ़उमरिया के शाला प्रांगण में आयोजित हुआ। यहां शाला प्रांगण में जमी चौपाल में रमन के गोठ को सुनने के लिए बड़ी संख्या में बच्चे, बूढ़े, महिलाएं और नौजवान जुटे थे। मुख्यमंत्री के रेडियो से प्रसारित बातचीत को सुनने के बाद गढ़उमरिया के लोगों ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा किए जा रहे प्रयास में सहभागी बनने का संकल्प लिया। ग्रामीणों ने स्कूलों में शिक्षा-दीक्षा के स्तर में सुधार लाने तथा वहां बेहतर शैक्षणिक वातावरण के निर्माण के लिए प्रदेश शासन द्वारा संचालित डॉ.ए.पी.जे.अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान की सराहना की और कहा कि स्कूलों की निरंतर निगरानी से पढ़ाई-लिखाई का स्तर बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।  ग्रामीणों ने शिक्षा गुणवत्ता अभियान में भी अपनी बढ़-चढक़र भागीदारी निभाने की बात कही।
आकाशवाणी रायपुर से प्रसारित इस कार्यक्रम को सुनने के लिए एसडीएम रायगढ़ श्री प्रकाश कुमार सर्वे, जनपद के सीईओ श्री नीलाम्बर पटेल सहित अन्य अधिकारी भी गढ़उमरिया पहुंचे थे। कार्यक्रम में सरपंच सत्यानंद सिदार, पंच श्रीमती सावित्री सोनी, सनियारो बाई, सेवानिवृत्त शिक्षक जवाहर लाल साहू, पुष्कर पाण्डेय, जे.एस.मेहर सहित अन्य गणमान्य लोग एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे। रमन के गोठ को सुनने को लेकर ग्रामीण सुबह से ही उत्साहित थे। यहां मुख्यमंत्री डॉ. सिंह की रेडियो वार्ता को सुनने के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी। चौपाल में मौजूद सभी लोगों ने मुख्यमंत्री डॉ. सिंह की बातचीत को बड़े ध्यान से सुना। सभी ने रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि मुख्यमंत्री की बातें उन्हें अच्छी लगी।
गढ़उमरिया के सेवानिवृत्त शिक्षक जे.एस.मेहर ने मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा स्कूलों में अध्ययन-अध्यापन एवं परीक्षा की स्थिति में बदलाव लाए जाने की पहल की सराहना की। उनका मानना है कि इससे शिक्षा का स्तर सुधरेगा। पंच सनियारो बाई उरांव एवं सावित्री सोनी ने प्रदेश में सूखे की स्थिति में किसानों को राहत देने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा किए जा रहे प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि सूखा प्रभावित किसानों को एक-एक क्विंटल धान का बीज नि:शुल्क दिए जाने का निर्णय स्वागत योग्य है। किसानों को नि:शुल्क बिजली दिए जाने की यूनिट में डेढ़ हजार की वृद्धि को भी ग्रामीणों ने सराहा। धान खरीदी की व्यवस्था के बारे में मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा अपने गोठ में दी गई जानकारी को भी ग्रामीणों ने उपयोगी बताया। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा रेडियो के माध्यम से राज्यवासियों को दीपावली पर्व की दी गई शुभकामना पर भी ग्रामीणों ने प्रसन्नता जताते हुए उनका आभार जताया। सरपंच सहित ग्रामीणों ने गढ़उमरिया को हाईस्कूल की सौगात देने के लिए मुख्यमंत्री को इस कार्यक्रम के माध्यम से चिट्ठी लिखने की भी बात कही।

 

स.क्र./44/नसीम अहमद   
 

Date: 
08 Nov 2015