Homeरायपुर : फुण्डहर गांव के महिला एवं पुरूषों ने सुना ’रमन के गोठ’

Secondary links

Search

रायपुर : फुण्डहर गांव के महिला एवं पुरूषों ने सुना ’रमन के गोठ’

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर, 10 जुलाई 2016

मासिक रेडियो वार्ता ’’रमन के गोठ’’ की 11 वीं कड़ी का प्रसारण आज आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से किया गया। रमन के गोठ कार्यक्रम का आयोजन फुण्डहर गांव में किया गया।
        प्रदेश के मुखिया ने इस मौसम को नवीन कार्यो का शुभारंभ करने का मौसम बताया। उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना के तहत प्रीमियम का केवल दो प्रतिशत ही देना होगा। किसान कृषि विभाग की सलाह से खाद एवं प्रमाणिक बीज का उपयोग करें जिससे अधिक से अधिक फसल की पैदावार हो साथ फसल की सुरक्षा पर भी ध्यान दें। किसानों को सिंचित और असिंचित कृषि भूमि के आधार पर प्रधानमंत्री फसल बीमा येाजना के तहत मुआवजा दिया जाएगा। किसानों के आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए ब्याज मुक्त ऋण प्रदान किया जाएगा। इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीणजन श्री जोहन, नकुल, मंतराम, ओंकर आदि ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की प्रशंसा की।
          उन्होंने कहा कि शिक्षा के माध्यम से बच्चों को सवारा जा सकता है। शिक्षक के साथ-साथ पालकों को भी बच्चों की शिक्षा में ध्यान देना होगा। शिक्षा गुणवत्ता स्तर में वृद्धि करने के लिए नवाचारोेें का प्रयोग आवश्यक है। लड़का और लड़की के अंतर को समाप्त करने में सभी को ध्यान देना होगा। वर्तमान में ऐसे कोई क्षेत्र नहीं है, जहंा लड़कियों ने सफलता प्राप्त नहीं किया हो। लोक सुराज अभियान के दौरान मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि गरियाबंद जिले के छुरा विकासखंड के ग्राम अकलवारा के उच्चतर माध्यमिक शाला के शिक्षकों द्वारा प्रातः प्रभातफेरी के माध्यम से अध्ययन के लिए बच्चों उठाया जाता है। इस कार्य को उन्होंने प्रशंसनीय कदम कहा। इसके साथ-साथ शिक्षकों द्वारा आमजनों को नशाखोरी से दूर रहने के लिए प्रेरित भी किया जाता है। शिक्षकों द्वारा प्रारंभ यह नवाचार चमत्कारीक है। उपस्थित राधाबाई, मुन्नी, जोहन्तरीन, कमला, उमन, दुर्गीन, तिरथ आदि ने सरकार द्वारा बेटियों को स्नांतक तक निःशुल्क शिक्षा देने को सराहनीय कहा। बेटी पढ़ेगी और दो परिवार को संस्कारीक बनाएगी। इसी तरह श्री कोमल, हरीश, मनीष, लीलाधर, सरजू आदि ने युवाओं के लिए नीति बनाकर राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर के संस्थानों में प्रवेश कराने, युवाओें के कौशल विकास करने के लिए राज्य के प्रत्येक जिले में कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना तथा राज्य की जनता को फर्जी निवेश कंपनियों से बचाने बनाए गये कानूनों की प्रशंसा की।

क्रमांक: 07-26/विष्णु





 

Date: 
10 Jul 2016