Homeसुकमा : जनप्रतिनिधियों सहित बच्चों ने सुना गया रमन के गोठ : नगर पालिका के सभाकक्ष सहित पोटाकेबिन और आश्रम शाला में की गई सुनने की व्यवस्था

Secondary links

Search

सुकमा : जनप्रतिनिधियों सहित बच्चों ने सुना गया रमन के गोठ : नगर पालिका के सभाकक्ष सहित पोटाकेबिन और आश्रम शाला में की गई सुनने की व्यवस्था

Printer-friendly versionSend to friend

सुकमा 14 अगस्त 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियोवार्ता का 12वीं कड़ी का प्रसारण अगस्त माह के द्वितीय रविवार को किया गया। इस प्रसारण के साथ रमन के गोठ कार्यक्रम को एक वर्ष पूर्ण हुआ। इस कार्यक्रम में माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं प्रदेश के नागरिकों को दी, साथ ही भारत के स्वतंत्रता संग्राम और छत्तीसगढ़ के स्वातंत्रता के वीर सपूतों एवं उनके संघर्षाें व आन्दोलन का उल्लेख माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा किया गया। स्वतंत्रता के दौरान छत्तीसगढ़ क्षेत्र में महात्मा गांधी के प्रवास का भी उन्होंने उल्लेख किया। स्वतंत्रता के लिए छत्तीसगढ़ के महान् विभूतियों में शामिल महिलाएं, साहित्यकारों और कलाकारों के योगदान का मुख्यमंत्री ने उल्लेख करते हुए सभी को नमन किए। कार्यक्रम में आदिवासी अंचल में शासन द्वारा विकास के कार्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने बताया कि बस्तर क्षेत्र में सीआरपीएफ के द्वारा केन्द्र सरकार की अनुमति पर बस्तरिया बटालियन में सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर और दन्तेवाड़ा के स्थानीय युवकों की भर्ती की जा रही हैं, इस भर्ती अभियान के लिए शारीरिक दक्षता में क्षेत्र के आधार पर छूट दी गई हैं। कार्यक्रम के प्रतिक्रिया के रूप में मिल रहे जनता के सूझावों और पत्रों का आभार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री जी ने सुझावों का समूचित उपयोग किए जाने का भी उल्लेख किए।
    सुकमा नगर के सुकमा ता माटा सामुदायिक रेडियो के माध्यम से नगर वासियों को रमन के गोठ का प्रसारण को सुनाया गया। सुकमा नगर पालिका के सभाकक्ष में पार्षद व जनप्रतिनिधि के द्वारा रमन के गोठ को सुना गया। पार्षद मानसिंह सोमवंशी ने कार्यक्रम के प्रति अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रदेश के मुखिया से छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता से संबंधित इतिहास को जानकर स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करने वाले महानूभवों के लिए और सम्मान बढ़ गया। पोटाकेबिन कुम्हाररास में कक्षा 9वीं में अध्ययनरत छात्रा सविता करटम ने कहा कि पुस्तकों में पढ़ी हमारे प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों व नेताओं के बारे में मुख्यमंत्री जी की आवाज से सुनकर अच्छा लगा। आश्रम-शाला में पढ़ रहे कक्षा 8वीं के छात्र पवन नेगी ने कहा कि कार्यक्रम में बस्तरिया बटालियन में भर्ती का उल्लेख किया गया हैं, जिसकी जानकारी मैं अपने चाचा को दूगाँ।


क्रमांक-444
 

Date: 
14 Aug 2016