Homeसूरजपुर : छठवीं कड़ी का रमन के गोठ का रेडियों प्रसारण को लोगों ने सुना एवं प्रतिक्रिया व्यक्त किया

Secondary links

Search

सूरजपुर : छठवीं कड़ी का रमन के गोठ का रेडियों प्रसारण को लोगों ने सुना एवं प्रतिक्रिया व्यक्त किया

Printer-friendly versionSend to friend

सूरजपुर 14 फरवरी 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियोवार्ता ‘‘रमन के गोठ’’ की छठवीं कड़ी को आज सूरजपुर जिले के जनपद पंचायत के परिसर सहित गांव-गांव, घर-घर और आश्रम तथा छात्रावासों में उत्साह से सुना गया। श्री सिंह ने बताया कि कुछ लोगों चिटठी भेजकर सराहना की है। सरगुजा जिले से कमलेश, भिलाइ-दुर्ग से श्याम बहादुर सिंह, गरियाबंद ले ईश्वर साहू योगेश ध्रुव, संदिप कुमार साहू जांजगीर चापा से, जागेश्वर देवांगन राजनादगांव से आदि बहुत सारे जिले से चिटठी आयी थी। उन्होंने सभी चिटठी को पढ़कर शिकायत पर कार्यवाही करेगें।
श्री सिंह ने रमन के गोठ कार्यक्रम में छः वीं कडी में  22 फरवरी से शुरू होने वाले राजिम कुंभ मेला में शामिल होने के लिए छतीसगढ़ के सांस्कृतिक एवं परंपरा के अनुरूप् पिउरा चाउर के साथ नेवता दिया। सभी प्रदेशवासी अपने परिवार के साथ इस राजिम कुभ मेला को लाभ उठाये। स्कूलों में 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षा 23 फरवरी से 19 मार्च तक चलने वाली परीक्षा में बालक-बालिकाओं को शुभकामनाएॅ देते हुए अच्छे अंक से सफलता प्राप्त करने कहा। उन्होने कहा कि पूरे राज्य में 8 लाख परीक्षार्थी शामिल होगें जिसके लिए 1986 केन्द्र बनाये गये है। आज से ठीक एक सप्ताह के बाद बोर्ड परीक्षा प्रारंभ हो रही है और उन्होंने अपनी पढ़ाई के बारे में सिंह ने कहा कि मुझे भी घबराहट होता था फिर भी हिम्मत और परिश्रम से तैयारी कर परीक्षा दिये और अच्छे परिणाम मिला। जीवन के संघर्ष में कोई विद्यार्थी परीक्षा में असफल होता है तो उसे हतास नहीं होना चाहिये हमेशा प्रयास करते रहना चाहिये। सफलता के साथ विद्यार्थी डॉक्टर, इंजिनियर, कलेक्टर, वैज्ञानिक, शिक्षक, बडे़ अधिकारी बन कर राज्य का नाम रोशन करें। साथ ही शिक्षा एवं प्रशिक्षण के बाद कौशल उन्नयन से जुडकर रोजगार मांगने वाले नही बल्कि रोजगार देने वाला बनने को सुझाव की भी संभावना की।
उन्होंने कहा कि हमारे देश बेटी निर्भया के साथ जो दूर्भाग्य से जो घटना घटित हुई उसे हम सभी चिन्तित है पीडित महिला को समय पर तुरंत न्याय मिल सके उसके लिए रायपुर में देश का पहला वन स्टाप सेन्टर 16 जुलाई 2015 को केन्द्रीय मंत्री श्रीमती मेनका गांधी द्वारा उदघाटन किया गया जिसमें सभी पीडिता को एक ही स्थान पर सभी सुविधायें जैस कानूनी सहायता, पुलिस सहायता, चिकित्सा, परामर्श सहायता के साथ अस्थायी तौर पर 5 दिन आवासीय सुविधा भी उपलब्ध है। राज्य स्तर पर महिला हेल्प लाईन टोल फ्री नम्बर 181 तथा कार्यालय रायपुर का नम्बर 07771 4061215 सभी वन स्टाप सेंटर पर चौबीस घंटे सुविधा उपलब्ध है, सभी औपचारिक सुविधा यहॉ उपलब्ध है। समाज में नयी इसी प्रकार की प्रकरण बलात्कार, टोनही उत्पीडन, सत्ती प्रथा, बाल विवाह, दहेज उत्पीडन, घरेलू हिसंा, रौंग नम्बर से परेशानी ऐसी सभी प्रकरणो को महिलाओं को एकीकृत सेवा उपलब्ध कराने के उददेश्य से वन स्टाप सेन्टर का संचालन किया जा रहा है। इसका लाभ हेतु प्रचार प्रसार के लिए एनजीओं, महिला संगठन, जनप्रतिनिधि, सरपंच एवं मीडिया से अनुरोध किया है कि शासन की इस पहल का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कर पीडितों का लाभ हेतु प्रेरित करें।
तेदुपत्ता संग्रहण को प्रति मानक बोरा 12 सौ रूपये से बढ़ाकर अब 15 सौ रूपये प्रति मानक बोरा कर दिया गया है। इससे प्रदेश में 15 लाख तेन्दुपत्ता संग्रहको के परिवार लाभान्वित होगें। वर्ष 2016 में 250 करोड़ की राशि तेदुपत्ता संग्रहको को वितरित की जायेगी। टाइगर रिर्जंव एवं अभ्यारण क्षेत्र के ऐसे 25 हजार आदिवासी परिवार तेदुपत्ता संग्रहण नहीं कर सकते है, उन्हंे 2 हजार रूपये प्रति परिवार मुआवजा राशि दिया जा रहा है। 50 हजार तेदुपत्ता संग्रहको का चरण पादुका भी मिलेगी। तेदुफड कर्मियों की वेतन 8 हजार से बढ़ाकर 10 हजार करने की बात चल रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा गुणवत्ता के साथ रोजगार पर हम जोर दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि गत वर्ष शासकीय आवासीय आदर्श महाविद्यालय रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, कांकेर एवं जगदलपुर में प्रारंभ किये गये है। नया रायपुर में ट्रिपल आई.टी और भिलाई में आई.टी.आई. की स्थापना का कार्य प्रगति पर है। सभी जिलों लाईवलीहुड कॉलेज शुरू किये गये हैं। सभी विकास खण्डों में कम से कम 1 आई.टी.आई. खोलने का लक्ष्य है साथ ही युवाओं को सरकारी नौकरी में चयन का अधिकार उपलब्ध कराने के लिए 31 दिसम्बर 2016 तक सीधी भर्ती के पदों पर आयु सीमा 35 वर्ष से बढ़ाकर 40 वर्ष की गई है। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे छत्तीसगढ़ के विकास में केन्द्र बिन्दु हैं और छत्तीसगढ़ के कल के निर्माता हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ को संजाने संवारने और विकसित करने में युवाओं का उपयोग किया जायेगा। युवा शिक्षित, प्रशिक्षित और कौशल उन्नयन से जुडे़ और वे रोजगार मांगने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाले बने।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 21 फरवरी को छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव जिले के कुर्रूभाट में आयेंगे और यहां के विकास के लिए एक नई योजना देश में पहली बार श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन योजना की शुरूआत करेंगे।
प्रतिक्रिया
1. रमन के गोठ कार्यक्रम के 6वीं कड़ी को जिले के साहित्यकार डॉ. मोहन लाल साहू ने ग्रामीण जनो एवं स्कूल बच्चों के साथ सुना साहित्यकार डॉ. मोहन साहू ने रमन के गोठ कार्यक्रम को जनता के लिये सबसे लोक प्रिय बताते हुयेे कहा की मुख्यमंत्री जी जनता द्वारा लिखे गए पत्रो का सीधे संवाद कर समस्याओं का समाधान करने से जनता को अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है 6वीं कड़ी में डॉ. रमन सिंह ने शासन द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे जानकारी देते हुये बताया की छत्तीसगढ़ में अब रोजगार मांगने वाले रोजगार देने की स्थिति में है। कौसल विकास के माध्यम से युवा हुनर मंद बन रहे हैं लाइवली हुड कॉलेज को इंडिया लेवल पर बहुत सराहा गया है जिसके माध्यम से युवा विकास के पथ पर अग्रसर हो रहे हैं, अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री के सभा में आने का नेवता भी आम जनो को दिया।
2. मैं जवाहर राजवाडे़ ग्राम बैजनाथपुर पोस्ट सलका अघिना विकासखण्ड भैयाथान एमएसी, रासायन का छात्र हूॅ, आज रमन के गोठ कार्यक्रम में श्री रमन की युवाओं को महत्वपूर्व रोजगार के अवसर व कौशल विकास की उन्नति में तथा शासन प्रशासन की विकास में भागीदारी निभाने और समाज को नये रूप रंग अच्छा राज्य तथा युवाओं के प्रति शिक्षा के क्षेत्र में अभिरूचि बढ़ाने की प्रेरणा देते है और हमारे युवाओं के लिए मार्गदर्शन का कार्य कर रहे है। रमन के गोठ 13 सितम्बर 2015 से प्रारंभ किया गया था जो आज बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यक्रम बन गया है, आज कल रमन के गोठ कार्यक्रम का हर युवाओं बेसब्री से इंतजार करते हैं और ध्यान से सूनते हैं।
3. मीडिया कर्मी सुशील सिंह ने रमन के गोठ कार्यक्रम में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहते है कि डॉ. रमन सिंह रेडियों प्रसारण में सीधे जनता के बीच संवाद स्थापित कर हर समस्याओं का समाधान कर रहे है। तेन्दुपता संग्राहको को 1200 रूपये प्रतिमानक बोरा से बढ़ाकर 1500 रूपये अब किया गया है इससे तेन्दूपता संग्राहको में खुशी है। युवाओं के लिए सरकारी नौकरी में अधिकतम आयु सीमा में 35 से बढ़ाकर 40 कर दिया गया है। इससे युवाओं में खुशी है।


समाचार क्रमांक/1306/2016

 

Date: 
14 Feb 2016