Homeसूरजपुर : जम्बूरी दतिमा 2016 : रमन के गोठ का 16 वीं कडी को आज जम्बूरी दतिमा में प्रभारी कलेक्टर एवं स्काउट.गाईड्स के बच्चों सहित जिला अधिकारियों ने सुना

Secondary links

Search

सूरजपुर : जम्बूरी दतिमा 2016 : रमन के गोठ का 16 वीं कडी को आज जम्बूरी दतिमा में प्रभारी कलेक्टर एवं स्काउट.गाईड्स के बच्चों सहित जिला अधिकारियों ने सुना

Printer-friendly versionSend to friend

    सूरजपुर 11 दिसंबर 2016

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉण्रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 16वीं कड़ी का प्रसारण आज प्रातः 10ण्45 बजे से 11ण्05 बजे तक आकाशवाणी के सभी केन्द्रों तथा प्राइवेट एफण्एमण् रेडियो चैनलों और कुछ प्रमुख प्राइवेट टेलीविजन चैनलों के माध्यम से किया गया। जिला मुख्यालय सूरजपुर सहित जम्बूरी दतिमा में जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयोंए नगरीय निकायोंए सभी ग्राम पंचायतोंए लोक शिक्षा केद्रों मे भी रमन के गोठ कार्यक्रम को उत्साह पूर्वक श्रवण किया गया। मुख्यमंत्री डॉण्रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ का प्रसारण पुनः आज रात 8 बजे से 8ण्20 बजे तक आकाशवाणी के सभी केन्द्रों से किया जायेगा।
      डा0 रमन सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की जनता को धन्यवाद देता हूंए क्योंकि मैंने जो कुछ भी किया हैए उसके पीछे छत्तीसगढ़वासियों का प्यारए सहयोगए समर्थनए आशीर्वाद और मार्गदर्शन रहा है। मेरा सौभाग्य है कि हमारे राष्ट्रीय नेतृत्व ने सदैव मुझ पर विश्वास किया और इस योग्य समझा कि मैं छत्तीसगढ़ की जनता की सेवा करूं। इसके लिए मैं अपने सभी नेताओं काए मार्गदर्शकों और पथ.प्रदर्शकों का भी शुक्रिया अदा करता हूं।
       उन्होने कहा कि आज जब मैं तेरह साल पीछे पलटकर देखता हूं तो मुझे लगता है कि छत्तीसगढ़ ने जिन योजनाओं का क्रियान्वयन किया वो देश के लिए भी अनुकरणीय रहा। और यह सब इसलिए हुआ कि आपने मुझे आशीर्वाद दियाए और इस काबिल बनाया कि मैं बड़े निर्णय ले सकूं। और बड़े निर्णय लेने के साथ. साथ क्रियान्वयन की ताकत भी आपने मुझे दी। मैं उन योजनाओं को आज तेरह साल की यात्रा में चिन्हांकित करना चाहता हूं। जिसे मैंने अपने सबसे नजदीक माना है। जो ना केवल गरीबों केए महिलाओं केए स्कूल के बच्चों के बल्किए आम आदमी के जीवन में जिसने परिवर्तन ला दिया। बस्तर से लेकर सरगुजा तक जिन योजनाओं ने न केवल लोगों के लिए एक राहत दीए बल्कि हिंदुस्तान में जिसे सबसे ज्यादा चर्चा मिली वो है।
    मुख्यमंत्री खाद्यान सहायता योजनाए खाद्य और पोषण बनाने में अव्वल 58 लाख  80 हजार परिवारों को खाद्यान सहायताए 1 रुपए किलो चावलए नमक की योजना और चना की योजना। यह एक अभूतपूर्व योजना हैए जिसका हम सफलतापूर्वक क्रियान्वयन कर रहे हैं।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि  दूसरी योजनाए जब मैं मुख्यमंत्री बना तो सबसे बड़ी चुनौती थी कि किसानों को ब्याज दर के ऋण से कैसे मुक्त किया जाए। कर्ज से किसान लदा हुआ था। और हमने सोचा कि एक ऐसी योजना बनाएए जिससे किसान कर्ज से मुक्त हो। और किसान को शून्य ब्याज दर पर ऋण देकर हमने 150 करोड़ से बढ़ाकर 3 हजार करोड़ तक हुई है। जो 14 प्रतिशत ब्याज दर पर मिलता थाण् वो शून्य ब्याज दर पर ऋण मिल रहा है। यह किसानों के लिए बड़ी राहत है।
तीसरी बड़ी योजना समर्थन मूल्य पर धान खरीदी। विगत 13 वर्षों में 5 करोड़ 60 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी 53 हजार करोड़ रूपए किसानों को भुगतान हुआ।
         डा0 रमन सिंह ने कहा कि मैं दिल के करीब योजना की बात करता हूंए तो सबसे ज्यादा मुझे पसंद है और जिसका सबसे ज्यादा स्वागत हुआ। मुख्यमंत्री बाल हृदय योजनाए जिसमें हजारों बच्चों के हृदय के ऑपरेशन हुए। आज वो सुरक्षित जीवन जी रहे हैं। स्कूल जा रहे हैंए उनके चेहरों पर मुस्कान है। यही मुस्कान छत्तीसगढ़ के भविष्य की मुस्कान बनेगी। एक योजना जिसके बारे में जरूर जिक्र करूंगा। 108ए 102 एम्बुलेंस व्यवस्था। लाखों परिवारों की सुरक्षा की है। जवानों को सड़क की दुर्घटना के दौरान होने वाली होने वाली मौतों से बचाया। और इसी योजना का लाभ पूरा छत्तीसगढ़ ले रहा है।
      उन्होने कहा कि वन क्षेत्र में रहने वाले वनवासी भाइयों के लिए एक दिक्कत थी तेंदूपत्ता संग्रहण और संग्रहण का पारिश्रमिक। मेरा ख्याल है 2003 में 350 का इसकी दर थीण् जिसको बढ़ाकर 1500 रुपए प्रति बोरा किया गया है। पारिश्रमिक बोनस मिलाकर 13 वर्षों में 2600 करोड़ का वितरण किया गया है। अन्य वनोपज जैसे इमलीए चिरौंजीए गुठलीए महुंआ और साल बीज लाख के समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए 71 करोड़ का भुगतान किया गया है। इसी के साथ इनके पैरों में कांटा ना चुभे। सुबह.सुबह हमारी बहनें तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए जाती हैंए इनके लिए और भाईयों के लिए भी 13 लाख तेंदूपत्ता संग्राहकों को निःशुल्क चरण पादुका वितरण 140 करोड़ तथा महिलाओं के साड़ी वितरण 34 करोड़ की योजना।
       बेटियों को स्कूल जाने में दिक्कत होती थी। वे स्कूल छोड़ देती थीण् बहुत बड़ी संख्या में ष्ष्ड्रापआउटष्ष् होता था। आज हाईस्कूल स्तर तक अनुसूचित जातिए अनुसूचित जनजातिए बीपीएल परिवार की बालिकाओं के लिए निःशुल्क साइकिल योजना देने से जो बेटियां 65 प्रतिशत ही स्कूल जा पाती थी। उसका प्रतिशत बढ़कर 93 प्रतिशत हुआ है। एक योजना का इतना बड़ा असर मैंने देखा और बेटियों को इसमें अपने गांव से अपने घर से दूर स्कूल जाने में सहूलियत हो रही है।
     उच्च शिक्षा ऋण ब्याज अनुदान योजनाए गरीब परिवारों को महाविद्यालयों और छात्रा.छात्राओं को एक प्रतिशत ब्याज दर पर चार लाख रुपए तक ऋण देना। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के विद्यार्थियों को शून्य ब्याज दा पर ऋण देना। एक महत्वपूर्ण योजना जो हमारी कॉलेज जाने वाली बेटियों के लिए बालिकाओं के लिए रहीए जिसमें कॉलेजए इंजीनियरिंग कॉलेज तथा पॉलीटेक्निक कॉलेज। अभी हमने प्राइमरी से लेकर 12 वीं तक को निःशुल्क किया था अब उसको बढ़ाकर निःशुल्क पढ़ाई की व्यवस्था की है। इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्निक में पढ़ने वाली छात्रा का भी शिक्षण शुल्क माफ किया गया है।
        मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना इसमें सरकार की ओर से 15 हजार की राशि मिलती है। लगभग 67 हजार कन्याओं की कन्यादान योजनाओं मे इसका लाभ मिला हैण् और यह योजना ना सिर्फ समाज को जोड़ता है बल्कि सभी समाज की बेटियों का एक साथ कन्यादान योजना से विवाह होता है। हम सब शामिल होते हैंए उन परिवारों की खुशी देखते ही बनती है।
     डा0 रमन सिंह ने कहा कि बुजुर्गों के कोई योजना नहीं थीए उनकी तीर्थयात्रा के लिए और मुझे लगा कि उनके यदि बच्चे गरीब हैं वे अपने मां. बाप को तीर्थयात्रा नहीं करवा सकते उनकी आस अधूरी ना रह जाए। इसलिए एक बेटे की भूमिका निभाते हुए क्योंकि उन्होंने मुझे अपने बेटे के समान माना हैए उनके लिए एक योजना बनाई। दो लाख वरिष्ठजनों को अभी तक निःशुल्क तीर्थयात्रा की योजना का लाभ मिला है और निश्चित रूप से यह योजना उनके जीवन में खुशियां लाता है।
        कौशल विकास और उच्च शिक्षा हमारे लिए एक चुनौती थी। आज 27 जिलों में कौशल उन्नयन के लिए ष्ष्लाइवलीहुड कॉलेजष्ष् बनाए हैं। सभी विकासखण्डों में इसकी व्यवस्था की जा रही है। और इसमें आज छत्तीसगढ़ में कौशल उन्नयन के बाद जो बच्चे तीन प्रतिशत थे उनकी संख्या 15 प्रतिशत हो गई है। और रोजगार के अच्छे साधन उन्हें उपलब्ध हो रहे हैं।
   उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ बना तो राष्ट्रीय स्तर के कोई संस्थान नहीं थे। आज हमारे पास आईआईटीए एनआईटीए आईआईएम ट्रिपल आईटी नेशलन लॉ यूनिवर्सिटीए 10 से ज्यादा मेडिकल कॉलेज करीब.करीब 49 इंजीनियरिंग कॉलेज उनकी संख्या बढ़ गई है। यह छत्तीसगढ़ में युवाओं को नए अवसर देने के लिए एक बड़ा कदम हुआ है। कुछ योजनाओं का जिक्र करना चाहता हूं। जो माननीय प्रधानमंत्री जी ने इसकी शुरुआत की इसका क्रियान्वयन हम कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में छत्तीसगढ़ में 25 लाख बहनों को 200 रुपए में गैस सिलेंण्डर और चूल्हा दिए जाएंगे।
प्रधानमंत्री आवास योजना में 2022 तक हर गरीब परिवार को घर मिलेगा जिसमें 8 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे।
     मुख्यमंत्री डाण् रमन सिंह ने कहा कि अब छोटी.मोटी खरीदी में भी सुविधा हो रही है और लोगों को रूपये लाने ले जाने का झंझट नहीं है तथा रूपये चोरी होने का भी डर नहीं है। उन्होने कहा कि आज चायए मनिहारी आदि सभी तरह की दुकानों में कैषलेस ट्रांजेकषन की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किया गया गई डीजिटल इण्डिया का सपना भी पूरा होगा सूरजपुर जिले के जिला पंचायत कार्यालय के सामने कैलास देवागंन चाय का ठेला लगाता है एक्सिस बैंक के तरफ से एम वीजा के माध्यम से डिजिटल पेमेन्ट से जोड़ा गया है जिले में कैलास देवांगन ही पहला छोटे व्यापारियों मे से एक है जिसे एम वीजा से जोड़ा गया है। यह एक गौरव की बात है कि छोटे व्यापारी अब इस सुविधा का लाभ ले रहें हैं और बडे व्यापारियांे को संदेश दे रहे है।
       सौर सुजला योजना में 51 हजार गरीब परिवारों को किसानों के लिए 5 हार्स पॉवर और तीन हार्स पॉवर के सिंचाई पंप उपलब्ध होंगेए जो बहुत ही कम कीमत पर 15 हजारए 18 हजार एवं 25 हजार रूपए के ये किसानों के लिए पंप उपलब्ध होगा। जन.जन की बेहतर जिंदगी खुशहाली एवं सुरक्षित भविष्य का सपना साकार होण् और जब आपने मुझे अवसर दिया है तो हम अपनी पूरी टीम के साथ इच्छाशक्ति और विश्वास के साथ  वो काम करने जा रहे हैं। जो आपके जीवन में खुशहाली लाएगी आपको लगेगा कि नए राज्य का निर्माण अटल बिहारी वाजपेयी ने किया है। आपने मुझ जैसे व्यक्ति पर भरोसा किया हैए जो एक सामान्य परिवेश से चलकर पार्षद से मुख्यमंत्री तक की यात्रा आपकी वजह से हुआ। मुझे लगता है कि इसके पीछे सिर्फ और सिर्फ आपका आशीर्वाद है।
    प्रतिक्रिया.मुख्यमंत्री रमन सिंह के रमन के गोठ को सुनकर ग्राम दतिमा के वार्ड पंच ने बताया संजय ने बताया कि प्रधानमंत्री के 500 व 1000 के नोटबंदी एक एतिहासिक फैसला है इससे गरीबी और अमीरी में कुछ कमी आएगी जो व्यापारी पुराने नोट को छुपाकर रखे थे वे उसे बाहर निकाल रहे और जो 100ए50 के नोट को दबाकर रखे थे वे उन्हे मार्केट में ला रहे हैं जिससे चिल्हर की समस्या समाप्त हो रही है। ग्राम राई के कौशल्या जो छात्रा है पहली बार रमन के गोठ को सुनकर कहा कि मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह ने सरगुजा में मेडिकल कालेज को खोलकर यहां सरगुजा संभाग के विद्यार्थियों के लिए बहुत ही अच्छा कार्य किया है अब यहां के विद्यार्थियों को मेडिकल में दाखिला को लेकर दूसरे प्रदेशों में नही जाना पडेगा। ग्राम वीरपुर के नारायण राजवाडे ने प्रधानमंत्री सौर सुजला योजना की शुरूवात को लेकर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि इस योजना के शुरूवात हो जाने से दूसस्थ जंगलों में निवासरत ग्रामीणों को बहुत ही लाभ होगा।
समाचार क्रमांक ध्933ध2016


 

Date: 
11 Dec 2016