Homeसूरजपुर : रमन के गोठ का पांचवी कड़ी लोगों ने सुना

Secondary links

Search

सूरजपुर : रमन के गोठ का पांचवी कड़ी लोगों ने सुना

Printer-friendly versionSend to friend

सूरजपुर 10 जनवरी 2016

रमन के गोठ में प्रदेश के मुख्यमंत्री आज प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए जनवरी माह के द्वितीय रविवार 10 जनवरी 2016 को पांचवी कड़ी का प्रसारण रेडियों पर ‘रमन के गोठ‘ कार्यक्रम सुबह 10.45 बजे से 11 बजे ‘रेडियों पर स्वयं अपनी आवाज में प्रदेशवासियों से रूबरू हुए।
मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह ने पांचवी कड़ी में प्रदेश के जनता को जय जोहर करते हुए कहा कि मै चार महिना से आप सभी के साथ हर महिना सुख दुख के बात कर रहा हूॅ, उन्होंने नये साल का बधाई देते हुए नये साल पर सभी के परिवार में खुशहाली रहे और सभी को शुभकामना दिये, उन्होंने कहा कि 26 जनवरी के छेर-छेरा पुन्नी के तिहार परव छत्तीसगढ़ में छेर-छेरा पुन्नी के त्योहार गांव-गांव में मनाने का परंपरा है, ये त्योहार में हम सब की मुख्य फसल धान काटने, मीसाई के बाद मनाये जाते है त्यौहार के दिन गांव में बच्चं घर-घर जा-जा कर छेर-छेरा माई कोटी के धान ला हेर हेरा कहते हैं और गावं एवं घर वाले अपने-अपने सामर्थ के आधार पर धान देते हैं इस त्योहार पर सभी किसान भाई को बधाई दिये। श्री सिंह ने बताया कि 15 जनवरी को मकर संक्रान्ति को महापूर्ण त्योहार होगा, इस अवसर पर प्रथम मुर्हूत में नदियों एवं सरवरों में स्नान तथा तिल दान एवं तिल गुण से निर्मित व्यंजनों को ग्रहण किया जाता है और बताये कि 26 जनवरी को हम सब गणतंत्र दिवस 66वीं गणतंत्र दिवस मनायेगें। इस राष्ट्रीय महापर्व के अवसर पर मै राज्य की समृद्धी शुशासन और राज्यवासियों की खुसहाली हेतु अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए इस पर्व दिवस पर राज्यवासियों को बधाई देता हॅू। साथियों इस नये वर्ष नया सकल्प एवं नया दिशा में अग्रसर होने का यह अवसर होता है और मुझे आपको यह जानकारी देते हुए यह खुशी हो रही है कि हमारे प्रदेश में नये वर्ष की शुरूवात जनवरी माह में दो एसे कार्य से हो रही है, जिसकी दूर्गामी साक्रात्मक परिणाम आने वाले पर पडे़गा। उन्होंने कहा कि आज से दो दिन बाद भारत मॉ के महान सपूत एवं पथ प्रदर्शक स्वामी विवेकानंद जयंती 12 जनवरी को होगी पूरे देश में युवा दिवस के रूप में प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है। इस राष्ट्रीय उत्सव मे 6 हजार युवा भाग लेंगे और 18 से 20 संास्कृतिक कलाओं के कलाकर भाग लेगें। इसे युवा कृति मेले का नाम दिया गया है।
मुख्यमंत्री श्री सिंह ने 4 जनवरी से चलाए जा रहे आंगनबाड़ी गुणवत्ता उन्नयन अभियान के उद्देश्यों के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हुए लोगांे से कुपोषण को दूर करने  अपनी सार्थक भूमिका का निर्वाह करने की अपील की। उन्होंने बताया कि इससे प्रदेश के 50 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से गर्भवती माताओं और बच्चों को कुपोषण दूर करने के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों का बेहतर लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि पहले छत्तीसगढ़ मे कुपोषण की दर 52 प्रतिशत थी। वह घट कर अब 32 प्रतिशत हो गई है। वर्ष 2016 तक इसे 25 प्रतिशत तक कराने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आंगनबाड़ी गुणवत्ता उन्नयन के दौरान आंगनबाडी केन्द्रों पर शासन का ध्यान रहेगा और बच्चों को गोद लेने के लिए लोगो को प्रेरित किया जायेगा।
श्री सिंह ने कहा कि मुझे अत्यन्त खुशी हो रही है कि भारत सरकार द्वारा घोषित 20वां राज्य उत्सव का आयोजन रायपुर में 12 जनवरी से 16 जनवरी तक मनाया जा रहा है, और हमारे लिए यह गर्व की बात है कि स्वामी विवेकानंन्द के बचपन के दो वर्ष छत्तीसगढ़ में बिताये और माना जाता है कि अपने जन्म और कर्म स्थल कोलकता के अलावा किसी भी स्थान पर इतना समय नहीं बिताया जितना की छत्तीसगढ़ में बिताये थे। उन्होंने कहा कि हमारे किसाने भाई जो सुखा से पीड़ित है मै उनका दर्द समझता हॅॅू, प्राकृति आपदा के आगे हमे कई बार विवश होना पड़ता है प्रदेश की 117 अंचलों में किसानों को सुखे की स्थिति से निपटने हेतु मनरेेगा के तहत अतिरिक्ति 50 दिनों का काम कुल 200 दिन प्रदत होगा। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत राज्य के 8 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में रोजगार मूलक कार्य प्रारंभ कर दिया गया है जिससे 10 लाख से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध हो रहा है उन्होंने बताया कि कार्यो में मजदूरी भुगतान 15 दिनों के अन्दर दिये जायेगे तथा सुखा प्रभावित क्षेत्रो में किसान भाईयों को शासन द्वारा रियायती दी गई है। पहले भी विस्तार पूर्वक चर्चा की गई है इसी कड़ी में सुखा प्रभावित क्षेत्रों में किसान भाईयों के भू राजस्व तथा उपकरण पूरी तरह से मांफ कर दिया है। इसी प्रकार आर बी सी 6-4 के प्रावधानों के 33 प्रतिशत से ज्यादा अन्य सिंचित क्षेत्र के किसानों को 6800 प्रति हेक्टेयर तथा सिंचित क्षेत्र वाले किसानों को 13500 रूपये प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जा रही है। इस राहत राशि का विवरण 31 जनवरी तक किया जायेगा। इस अवसर पर मकर संक्रान्ति, गणतंत्र दिवस, युवा दिवस, महोत्सव 12 जनवरी से 16 जनवरी, राज्य विकास पर आधारित शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, आंगनबाड़ी केन्द्रों की सुद्ढ़ता, सड़को का जाल, बच्चों को कुपोषण से मुक्ति मिलेगी तथा मक्का उत्पादन पर 20 लाख हेक्टेयर में मक्का उत्पादन में 400 टन निःशुल्क वितरण किया जायेगा। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत राशि 15 हजार से बढ़ाकर 30 हजार की गई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों की सुविधा के लिए हर जिले में किसान मितान केन्द्र की स्थापना की गई है। जिसके तहत किसान अपनी समस्यायें बताकर समाधान प्राप्त कर सकते है। उन्होंने छ.ग. महतारी की कृपा प्रदेशवाशियों पर हमेशा बनी रहे यही मेरा कामना कहते हुए आज का रमन के गोठ कार्यक्रम समापन किये।
जनपद पंचायत सूरजपुर के प्रांगण में आज छ.ग. राज्य के व्यापारी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री बाबूलाल अग्रवाल, नगर पालिका अध्यक्ष थलेश्वर सिंह, राजेश अग्रवाल आदि जनप्रतिनिधि  तथा मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री अनिल कुमार अग्निहोत्री, साक्षर भारत के नोडल अधिकारी श्री अजय मिश्रा सहित गणमानय नागरिक ग्रामीण जन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
सूरजपुर जिले के कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राओं कन्या आश्रम शिवपुर, बालक छात्रावास रामानुजनगर कन्या परशु रामपुर तथा कई छात्रावासों में भी रमन के गोठ को सुना गया।


समाचार क्रमांक/1141/2016

 

Date: 
10 Jan 2016