Homeसूरजपुर : ‘‘रमन के गोठ’’ की तीसरी कड़ी को लोगों ने सुना

Secondary links

Search

सूरजपुर : ‘‘रमन के गोठ’’ की तीसरी कड़ी को लोगों ने सुना

Printer-friendly versionSend to friend

सूरजपुर 08 नवम्बर 2015

‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम की तीसरी कड़ी के तहत  कार्यक्रम को आज सूरजपुर जिले में लोगों ने सुना। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि सरगुजा क्षेत्र के ओला प्रभावितों को उचित मुआवजा दिया जायेगा, जिससे सूरजपुरवासियों को प्राकृतिक आपदा ओलावृष्टि से हुए नुकसान का राहत मिलने की आश जगी है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों को दीपावली, गोवर्धन पूजा, भाई-दूज और पुन्नी मेला की शुभकामनाएं एवं बधाई दी है तथा गरियाबंद जिले के रचकट्ठी में पिछले दिनों घटी दुखद घटना पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए यह संकल्प लेने की आवश्यकता है तथा इस तरह की घटना की पुनर्रावृत्ति भविष्य में न होने पाये।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता सुधार के लिए प्रदेश में चलायें जा रहे डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता के तहत सूरजपुर जिले में प्राथमिक, माध्यमिक शाला में शिक्षा गुणवता के तहत राज्य स्तर से लेकर जिले स्तर स्तर के अधिकारी मॉनिटरिंग टीम गठित कर सी एवं डी ग्रेड प्राप्त स्कूलों का मॉनिटरिंग की गई तथा मानिटरिंग के द्वारा 100 बिन्दुओं के तहत प्रत्येक स्कूल की जानकारी प्राप्त की गई। जिससे स्कूलों की ग्रेडिंग में काफी सुधार देखने मिला है। जिन स्कूलों की ग्रेडिंग कम है उन स्कूलों में कलेक्टर के निर्देशन में विशेष पहल कर गुणवता सुधान में प्रयास किया जा रहा है।
मुख्य मंत्री ने बताया कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम देश में लागू है इसके तहत छः से चौदह वर्ष आयु वर्ग के सभी बच्चों हेतु निःशुल्क शिक्षा देना अनिवार्य है तथा बच्चों को परीक्षा मंे अनुत्तीर्ण होने का भय न रहे और वे बीच में पढ़ाई न छोड़े इसलिए आठवीं कक्षा तक बोर्ड की परीक्षा नहीं देने का भी प्रावधान है और शिक्षा की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए सतत मुल्याकंन की व्यवस्था है।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा है कि किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी हेतु सभी आवश्यक व्यवस्था की गई है। प्रदेश के 1975 खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जायेगी तथा सामान्य किस्म के धान का समर्थन मूल्य 1410 रूपये प्रति क्विंटल और ग्रेड ‘‘ए’’ किस्म के धान का समर्थन मूल्य 1450 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित है। धान खरीदी 16 नवम्बर से शुरू होगा जिले में धान खरीदी की पूरी तैयारी कर ली गई हैै। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अल्प वर्षा से निर्मित सूखे की स्थिति के प्रति राज्य शासन पूरी तरह गंभीर है और सुखा राहत के तहत 4 हजार करोड़ रूपये की राहत की मांग केन्द्र शासन से की गई है। उन्होंने कहा कि कृषक जीवन ज्योति योजना के तहत 7 हजार 500 यूनिट के बदले अब 9 हजार यूनिट बिजली सूखा प्रभावित क्षेत्र के किसानों को दी जायेगी। उन्होंने बताया कि सूखा प्रभावित क्षेत्रों में जरूरतमंदों को रोजगार उपलब्ध कराने पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है तथा मनरेगा के तहत अब 150 दिन का रोजगार अब उपलब्ध कराया जायेगा।
 रमन के गोठ कार्यक्रम को जिले के युवा साहित्यकार डॉ मोहनलाल साहू ने सपरिवार सुनते है। डॉ साहू ने रमनके गोठ कार्यक्रम को जन धन के हितार्थ बताते हुये कहा की आमजनों को मुख्यमंत्री जी से सीधे संवाद करने का मौका मिलता है इससे समाज के उस तबके को मौका मिला है जो अपनी बात मुख्यमंत्री तक नहीं पहुचा पाते थे गोठ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री जी छत्तीसगढ़ के आम जनता के साथ रेडियो के माध्यम से सहभागी बनते है जिससे हम सभी को अच्छा लगता है।
‘‘रमन के गोठ’’ की तृतीय कड़ी सुनने के लिए आज जनपद पंचायत के सभाकक्ष में कलेक्टर श्री जी.आर. चुरेन्द्र , अपर कलेक्टर श्री एम.एल. घृतलहरे, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अनिल अग्निहोत्री, साक्षर भारत के नोडल अधिकारी अजय मिश्रा सहित गणमान्य नागरिक, अधिकारी, कर्मचारी एवं संख्या मंे श्रोतागण उपस्थित थे।

 

समाचार क्रमांक/704/2015











 

Date: 
08 Nov 2015