‘ रमन के गोठ ‘(सरगुझिया) :आकाशवाणी से प्रसारित विशेष कार्यक्रम(12 नवम्बर 2017)

पुरूष उद्घोषक 

-      श्रोता हो नमस्कार! आकाशवाणी कर विशेष प्रसारण ‘रमन के गोठ‘ में हमन जम्मों श्रोता        मन कर हार्दिक स्वागत करथन, अभिनंदन करथन। कार्यक्रम कर 27 वाँ कड़ी बर      आकाशवाणी के स्टूडियो में माननीय मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पधाएर चुकिन हैं।

-      डॉक्टर साहेब नमस्कार, बहुत-बहुत स्वागत है, राउर ए कार्यक्रम में।

मुख्यमंत्री जी   

-      राउर मन ला आउ जम्मों श्रोता मन ला धन्यवाद।

-      राउर मन के मेहनत आउ रूचि कर चाढ़े ए कार्यक्रम सरलग चलताहाय। मोला खुशी      हवे    कि ए कार्यक्रम ला सुइन के ढेरे श्रोता आउ रोंट पद मन में बईठल लोग मोरले चर्चा करत     हैं। अपन सुझाव भेजत हैं आउ अपन रूचि कर विषय ला एमें शामिल करेकर आग्रह करत    हैं।

-      अभी 1 नवम्बर ले 5 नवम्बर तक प्रदेश में धूमधाम ले राज्योत्सव मनाल गइस।

-      माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द जी आउ उप राष्ट्रपति श्री एम. वैंकेया नायडू जी        राज्योत्सव में पधाएर के ए आयोजन ला शिखर पर पहुँचाए देहिन।

-      प्रदेश के जम्मों जिला में 3 नवम्बर के जिला स्तरीय राज्योत्सव कर आयोजन करल     गईस। ए आयोजन में राउर सब झन के सहभागिता ले प्रदेश में उत्साह जनक वातावरण    बनिसे।

-      एकर ले हमन ला एक कति जिहां अपन पुराना उपलब्धि मन ला देखे कर अवसर भेंटाइस उहें दूसर कति नावा लक्ष्य कति आगु बढ़े कर संकल्प मजबूत होइसे।

महिला उद्घोषक

-      माननीय मुख्यमंत्री जी धान बोनस तिहार आउ राज्योत्सव कर पाछु राज्य में अभी कएगो        तिहार होना बाकी हवे। किसान मन बर धान खरीदी सबले रोंट तिहार हवे, काबर कि      एकर ले ओमन ला साल भर कर तपस्या लगन, मेहनत आउ निवेश कर लाभ मिलेल। ए संबंध में        हमर श्रोता मन ला का जानकारी देना चाहब ?

मुख्यमंत्री जी

-      खरीफ 2017 मौसम में होल धान कर फसल बेसाए कर बेरा आए गईसे। हमन एकर बर पुरा बेवस्था कएर लेहे हन आउ अब 15 नवम्बर ले समर्थन मूल्य उपर धान कर खरीदी       शुरू होवथे, जे 31 जनवरी 2018 तक जारी रही।

-      किसान भाई-बहिन मन ला अपन धान लेके बगरा दूरिहा झिन जाना पड़े, एकर बर ढेरे    संख्या में धान उपार्जन केन्द्र खोलल गईसे।

-      औसतन साढे़ 5 ग्राम पंचायत कर बीच एक धान खरीदी केन्द्र होए गईसे।

-      आगु अबगा एक हजार धान खरीदी केन्द्र रहिस, जेला हमन बढ़ाए के 1 हजार 992 कईर देहे हन, मने लगभग दुईगुना केन्द्र में धान खरीदी कर बेवस्था कईर देहल गईसे।

-      हमन धान खरीदी आउ भुगतान कर जो पारदर्शी बेवस्था करेहन, ओकर ले जे दिन धान खरीदी होही, ओही दिन किसान भाई कर बैंक खाता मंे राशि चईल जाही आउ ए नियर   तुरते किसान भाई ए राशि कर उपयोग कईर सकथें।

-      ए धाएर धान बेचे कर बिŸाल बछर कर अपेक्षा 1 लाख 27 हजार ले बगरा किसान मन पंजीयन कराइन हैं। ए नियर अब धान बेचे वाला मन कर संख्या 15 लाख 79 हजार        होए   जाही, जेहर अभी तक कर सर्वाधिक संख्या हवे।

-      ए बछर धान कर समर्थन मूल्य में 80 रूपिया प्रति क्विंटल कर वृद्धि करल गईसे, जेकर   ले मोटा धान 1550 रूपिया प्रति क्विंटल आउ पतला धान 1590 रूपिया प्रति क्विंटल     खरीदल जाही जेकर भुगतान तुरते कईर देहल जाही आउ 2018 में प्रति क्विंटल 300    रूपिया बोनस कर भुगतान भी करल जाही। एकस में प्रति क्विंटल धान बर किसान मन     ला लगभग 1900 रूपिया तक भेंटाए जाही।

-      ए नियर एक फसल कर दुई धाएर भुगतान होही, जो आगु दाम कर रूप में आउ पाछु      बोनस कर रूप में होही।

-      मैं किसान भाई-बहिन मन ले अनुरोध करथों कि ओ धान ला झुरूवाए के आउ जरूरी      साफ-सफाई करे कर बाद समिति मंे विक्रय बर लाने, जेकर ले ओमन ला खरीदी केन्द्र        में सुविधा होही।

-      धान खरीदी केन्द्र में किसान मन कर सुविधा आउ सम्मान कर पूरा धियान राखल जाए, एकर बर समिति मन ला निर्देश जारी करल गईसे।

पुरूष उद्घोषक

-      माननीय मुख्यमंत्री जी, प्रदेश में मकई कर रकबा भी लगातार बाढ़ताहाय। रउरे समर्थन मूल्य में मकई खरीदी कर घोषणा भी करे हन, तो का मकई खरीदी कर भी विशेष    बेवस्था करल गईसे ?

मुख्यमंत्री जी

-      जहाँ धान नई होए, उहाँ मकई कर पैदावार बाढ़ताहाय। खास कईर के आदिवासी अंचल    में मकई आय कर रोंट माध्यम रहिस है।

-      मकई कर खरीदी साढ़े छः महिना तक होही, जे 15 नवम्बर 2017 ले 31 मई 2018 तक        चलही।

-      ए बछर मकई खरीदी कर दर 1365 रूपिया प्रति क्विंटल ले बढ़ाए के 1425 रूपिया प्रति क्विंटल कईर देहल गईसे, मने मकई के दर में भी 60 रूपिया प्रति क्विंटल कर वृद्धि        करल कईसे।

-      जे तरह धान खरीदी कर बेवस्था करल गईसे, ओही केन्द्र ले मकई भी खरीदल जाही      आउ        भुगतान कर राशि किसान कर खाता मंे तुरते डाएल देहल जाही।

-      प्रदेश में मकई कर रकबा आउ उत्पादन बढ़े कर लाभ भी किसान भाई मन ला भेंटाही।

महिला उद्घोषक

-      डॉ. साहेब, धान खरीदी तिहार कर बीच रउरे एगोट आउ तिहार कर घोषणा करे हन।        तेन्दूपŸाा बोनस तिहार। एकर बारे में हमर श्रोता मन ला बताए कर कृपा करी ?

मुख्यमंत्री जी

-      छŸाीसगढ़ कर मैदानी क्षेत्र कर जीवन रेखा अगर धान कर फसल हवे तो वन अंचल, आदिवासी बहुल अंचल कर जीवन रेखा तेन्दूपŸाा हवे।

-      हमन समर्थन मूल्य उपर धान खरीदी आउ किसान मन ला बोनस देहे कर बेवस्था कईर के लगभग 14 लाख किसान मनला नावा शक्ति देहे हन, तो लगभग एतने संख्या में ही       वनवासी आदिवासी परिवार मन ला तेन्दूपŸाा कर कारोबार ले लाभ देहे कर बेवस्था करे     हन।

-      बस्तर, सरगुजा संभाग कर अलावा आंशिक रूप ले राजनांदगांव, बालोद, कबीरधाम,      धमतरी, गरियाबंद, महासमुंद, बलौदा बाजार, बिलासपुर, रायगढ़, कोरबा, जांजगीर-चांपा   आदि जिला में भी तेन्दूपŸाा होएल जेकर संग्रहण आउ बिक्री कर लाभ स्थानीय ग्रामीण    जनता ला भेंटाएल।

-      लभग 14 लाख परिवार मन कर आजीविका कर प्रमुख साधन तेन्दूपŸाा हवे। ए बात ला        धियान में राखत हमन हमन तेन्दूपŸाा कर संग्रहण पारिश्रमिक 450 रूपिया प्रति मानक        बोरा   ले बढ़ाना शुरू करने जेला बढ़ात - बढ़ात 1500 आउ 1800 रूपिया तक ले आए रहेन।

-      अब नावाँ मौसम कर हमन तेन्दूपŸाा संग्रहण दर 2500 रूपिया प्रति मानक बोरा करेकर        निर्णय लेहे हन।

-      ए नियर हमन तेन्दूपŸाा संग्रहण पारिश्रमिक 555  प्रतिशत या साढ़े पांच गुना ले बगरा      बढ़ा        देहे हन।

-      एक धाएर में 700 रूपिया प्रति मानक बोरा पारिश्रमिक बढ़ाना अपन आप में ढेरे रोंट     कीर्तिमान हवे, जेकर चलते तेन्दूपŸाा मजदूर ला अब एक तिहाई ले बगरा राशि अगराहा भेंटाही।

-      धान जईसा हमन तेन्दूपŸाा मजदूर मन ला भी बोनस देथन। बछर 2016 में तेन्दूपŸाा कर        राशि 274 करोड़ 38 लाख रूपिया कर भुगतान करना है। ए राशि 901 समिति कर       अंतर्गत कार्यरत लगभग 14 लाख तेन्दूपŸाा मजदूर मन ला भेंटाही।

-      हमन तेन्दूपŸाा बोनस तिहार मनाए कर फैसला करे हन, जो 1 दिसम्बर ले 10 दिसम्बर    तक चलही। ए तिहार में सिरिफ बोनस ही नई बांटल जाही, बल्कि वनवासी कर जीवन मंे बदलाव लाने वाला योजना कर प्रचार-प्रसार भी होही। हितग्राही मन ला योजना मन     कर लाभ भी देहल जाही।

-      हमन अब तेन्दूपŸाा मजदूर ला चरण-पादुका देहे कर फैसला करे रहन तब ढेरे झन एकर        मजाक उड़ाए रहिन।

 

-      मैं कहना चाहथों कि -

              जेकर पैर ना फटे बिवाई,

              ओ का जोने पीर पराई।

-      जंगल में जब गोड़ में कंटा गड़ेल, तो ओकर जे भयंकर दरद होएल ओ तुरन्त बर नई      होए। ओ दरद रहि-रहि के उठेल। काबर कि एक दिन गोड़ में कंटा गईड़ गईस तो      अगला दिन जंगल जाएले छुट्टी नई भेंटाए। आउ फेर बार-बार जखम होएल, घाव       होएल, गोखरू होएल।

-      हमन तेन्दूपŸाा टोरे वाला कर गोड़ के जखम आउ दरद ले बचाए बर चरण-पादुका देहेन      तो ओमन ला केतना राहत मिलिस, ए ओही बताए सकथें।

-      एकर बर हमन हर बछर चरण-पादुका देथन। एसों भी देबो।

-      अईसा कदम ले हमन आदिवासी-वनवासी भाई-बहिन मन कर विश्वास जीते हन।

-      एही कारन हवे कि आएज तेन्दूपŸाा मजदूर कर परिवार में शिक्षा, सेहत आउ विकास कर        प्रति चेतना जागिस है।

-      हमर प्रयास विद्यालय में तेन्दूपŸाा मजदूर कन के बच्चा भी रहथें, पढ़थें, कोचिंग पात हैं        आउ कई बच्चा मेडिकल आउ इंजीनियरिंग कॉलेज पहुंचथें।

-      नारायनपुर जिला में छोटा सा गांव हवे गढ़बेंगाल, जिहां लखेश्वर प्रधान तेन्दूपŸाा ले अपन        जीवन चलात है। लखेश्वर कर बेटा विमल कुमार अब सरकारी मेडिकल कॉलेज में बढ़ाई करथे।

-      नारायनपुर जिला कर केसरू उसेण्डी कर बेटी लक्ष्मी सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज से     बी.ई.        करथे। एही जिला कर धौड़ाई गांव के निवासी श्रीमती छम्मा बाई कर बेटा वेदप्रकाश        बेलसरिया, एड़का गांव कर जग्गू राम दुग्गा की बेटी कुमारी रनाय दुग्गा, बालोद जिला के        बड़भूम कर रामूलाल के बेटा इन्द्रजीत, रायगढ़ जिला के झगरपुर निवासी बालमुकुन्द के        बेटा राधेश्याम, बिलासपुर जिला के जगमोहन सिंह कर बेटा आंदोलन सिंह, चोटिया निवासी विरेन्द्र कुमार के बेटा गणेश कुमार, पालीबूढ़ापारा निवासी        जगतपाल की बेटी चित्रलेखा,      बांधापारा निवासी सुभाष राव का बेटा देवदत राव, जटगा निवासी कृपाल सिंह की बेटी कुमारी उमा, बलौदा बाजार जिला के बल्दाकछार निवासी परमानंद का बेटा   लक्ष्मीनारायण जईसा दर्जनों बच्चा इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई        करथें।

-      एहि नियर ढेरे बच्चा मन बी.एस.सी. एग्रीकल्चर, बी.एस.सी. नर्सिंग आउ आने व्यावसायिक        पाठ्यक्रम बर चुनल गईन हैं।        

-      एगोट छोटा गांव या कस्बा कर कोई परिवार के बच्चा जब डॉक्टरी, इंजीरियरिंग चाहे आने        कॉलेज में पढ़े जाएल, तो उहाँ तिहार के वातावरण बनेल। जेकर असर आसपास कर कई गांव में होएल। ए नियर आदिवासी अंचल में एगोट रोंट क्रांति  कर शुरूआत होए चुकिस है,       जेकर सूत्रधार उहां के होनहार बच्चा हवें। मोर मानना हवे कि ए बच्चा अपन परिवार समाज      आउ गांव कर जीवन बदइल देहीं।

-      आगु चइल के तेन्दूपŸाा संग्राहक मन के बच्चा बडे़-बड़े अधिकारी बईन के आही।

-      ए उपलब्धि ले हमर उत्साह बढ़ेल आउ हम बार-बार बताना चाहथन कि हमन तेन्दूपŸाा        संग्राहक परिवार बर का करेन।

-      13 बछर में हमन 1 हजार 842 करोड़ रूपिया के संग्रहण पारिश्रमिक देहेन। 1 हजार 235        करोड़ रूपिया कर बोनस देहेन।

-      तेन्दूपŸाा संग्राहक परिवार कर बच्चा मन ला हर बछर लगभग 5 करोड़ रूपिया के छात्रवृŸिा        देहल जाथे।

-      तेन्दूपŸाा संग्राहक परिवार कर मुखिया के मृत्यु होएले आश्रित सदस्य मनला निःशुल्क जनश्री        बीमा योजना कर तहत आर्थिक मदद करेहन।

-      3 लाख 63 हजार ले बगरा परिवार मन ला वन अधिकार मान्यता पत्र देहेन।

-      करीब 12 हजार सामुदायिक वन अधिकार पत्र देहे हन।

-      खेती बर वनवासी परिवार मन ला 2 लाख 58 हजार हेक्टेयर भुईयां आबंटित करे हन।

-      तेन्दूपŸाा कर अलावा महुआ बिहन, सरई बिहन, चिरौंजी, गुठली, हर्रा, लाख रंगीनी, लाख        कुसुमी आउ अमली के समर्थन मूल्य उपर खरीदी कर बेवस्था करे हन, जेकर ले वनवासी        मन के घरे 100 करोड़ रूपिया ले बगरा अगराहा राशि पहुंचिसे।

पुरूष उद्घोषक

-      माननीय मुख्यमंत्री जी, गांव-गरीब आउ किसान परिवार मन के जिन्दगी में बहार लाने बर        उनकर जीवन रोशन करे बर एगोट आउ तिहार मनाए कर चर्चा हवे, जेकर शुरूआत       माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ‘सौभाग्य योजना‘ कर रूप में करिन हैं। ए योजना कर   तहत हर घर में सितम्बर 2018 तक बिजली कनेक्शन देना है। छŸाीसगढ़ में एकर बर का     तियारी हवे।

मुख्यमंत्री जी

-      माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, हर घर में बिजली पहुँचाए बर ‘ सौभाग्य योजना‘        (सहज बिजली हर घर योजना) कर शुरूआत 25 सितम्बर 2017 के करिन हैं। ओ लक्ष्य देहिन हैं कि हमन ला जम्मों घर ला बिजली के रोशनी ले रोशन करना है।

-      छŸाीसगढ़ में 98.67 प्रतिशत गांव में विद्युतीकरण के काम होए चुकिसे। अब अबगा 465 गांव        आउ 7 हजार मजरापारा आउ टोला कर विद्युतीकरण करना है।

-      हमन बछर 2018 में शत्-प्रतिशत विद्युतीकरण कर लक्ष्य पूरा कईर लेबो।

-      जहां तक ‘प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना‘ कर सवाल हवे तो निश्चित रूप ले हमन 2018 तक      हर घर में बिजली पहुँचाबो।

-      अईसा बहुत सा गांव हवें जिहाँ बिजली पहुँचाल जा चुकिसे, लेकिन कुछ घर मन में बिजली        कनेक्शन नई लगिसे। अईसा जम्मों घर कर चिन्हांकन कईर के उहां बिजली कनेक्शन देहल        जाही।

-      मैं चाहथों कि जल्दी ही प्रदेश में ‘ऊर्जा उत्सव‘ के शुरूआत होए। गांव में विद्युतीकरण कर       बाद हर घर में बिजली कनेक्शन लगाए देहल जाए, हर गांव में विद्युत विकास कर काम      तेजी ले पूरा होए आउ उहंा ऊर्जा उत्सव मनाल जाए।

-      ‘ऊर्जा उत्सव‘ कर दौरान कम बिजली कर खपत वाला एलईडी बल्व, ट्यूब लाईट, पंखा,   सौर ऊर्जा बर रूफ-टॉप योजना, सार्वजनिक उपयोग कर पेयजल योजना, सोलर हाई मास्ट   लैम्प बर भी जागरूकता अभियान चलाल जाए।

-      हमर सौर सुजला योजना कर तहत 51 हजार किसान मन ला सोलर पम्प काफी किफायती        दाम में देथन। एमनके उपयोग आउ रख-रखाव कर बारे में भी शिविर में चर्चा करल जाए।

-      सही में कोई गांव चाहे घर में बिजली पहुंचे ले, उहां के निवासी मन कर जीवन बदएल      जाएल, ओ राती आउ बिजली चलित उपकरण कर उपयोग कईर के अपन समय आउ श्रम     कर सुघ्घर उपयोग कईर सकत हैं।

-      परिवार कर महिला आउ सियान कर जीवन आसान होएल आउ आकस्मिक दुर्घटना ले   बचाव होएल। बिजली कर रोशनी ले घर कर सुरक्षा भी बाढ़ेल।

-      बिजली ले टी.वी., कम्प्यूटर, लेपटॉप, इंटरनेट, मोबाइल, जईसा सुविधा मन कर उपयोग भी        बाढ़ेल आउ एकर ले नावां पीढ़ी ला ढेरे लाभ भेंटाएल।

-      बिजली आउ विभिन्न उपकरण कर उपयोग ले नावां पीढ़ी ला अनेक नावां अवसर भेंटाएल        जेकर ले ओ बेहतर शिक्षा आउ बेहतर कैरियर कति आगु बढ़थें। एकरे बर ‘प्रधानमंत्री     सौभाग्य योजना‘ सही में विद्युत विकास कर लाभ हर नागरिक ला देवाए कर दिशा में ढेरे रोंट कदम हवे, जेमे भेंटाल सफलता ला हमन ‘ऊर्जा उत्सव‘ कर माध्यम ले व्यक्त करब,        अईसा हमर योजना हवे।

महिला उद्घोषक

-      माननीय मुख्यमंत्री जी, रउरे अझी बिजली ले सियान मन कर सहूलियत आउ सुरक्षा कर       बारे में कहेन। संयुक्त राष्ट्र संघ कर एगोट रिपोट कर अनुसार बछर 2030 में वरिष्ठ नागरिक आउ युवा मनकर संख्या लगभग बरोबर होए जाही। अईसा में सियान मन कर        सुरक्षा बर का कुछ नावा उपाय भी करल जाथे ?   

-      आएज-काएल देखे में आथे कि ढेरे झन अपन दाई-दाऊ कर जिम्मेदारी सम्हाले ले कतराथें        जेकर चाढ़े सियान मन कर जीवन कठिन होए जाएल, ओ दूसर उपर आश्रित होथें चाहे    वृद्धआश्रम के शरन में जाए बर मजबूर होथें।

-      कुछ मामला में तो कोई दुर्घटना चाहे आने कारन ले सियान मन अकेला रहि जाथें बाकी ढेरे        अईसा मामला भी सामने आएल जब बेटा, बेटी, बहुरिया, नाती-पोता मन ही अपन सियान        मनकर परवाह नई करथें।

-      सबले आगु तो मैं एही कहना चाहू कि समाज में हर मइनसे के भीतर एतना संवेदनशीलता        होना चाही कि ओ अपन दाई-दाऊ, दादा, दादी, नाना-नानी बर प्यार आउ आत्मीयता कर        भावना राखे।

-      बचपन में अपन परिवार कर सदस्य मन के प्यार, प्रोत्साहन, देख-रेख आउ प्रेरणा  कर    कारन ही कोई मइनसे कर विकास होए पारेल।

-      सुघ्घर शिक्षा-दीक्षा बढ़िया नौकरी चाहे कामधन्धा कर पाछु हमर सियान मन कर तपस्या        आउ दुआ ही होएल। जब ओमन कमजोर होथे, तब ओमन ला छोड़ें नहीं बल्कि उनकर    सहारा बनें।

-      ए बात अबगा सहानुभूति कर ना लागे। मानवीयता तो एही हवे कि सियान मन बर रउरे   अपन करतव्य निभाई, बाकी अगर नई निभात ही तो ए जाएन लेई कि वरिष्ठ नागरिक कर     देख-रेख आउ भरण-पोषण बर अनेक कानूनी प्रावधान भी करल गईसे।

-      आई.पी.सी. कर धारा 125 कर अनुसार दाई-दाउ कर भरण-पोषण के जिम्मेदारी उनकर बच्चा मन के होएल।

-      सियान मन कर उपेक्षा करेवाला मइनसे कर विरूद्व थाना में शिकायत करल जाए सकथे।

-      सियान ए मामला ला लेके अदालत भी जाए सकथें।

-      दाई-दाउ आउ वरिष्ठ नागरिक भरण-पोषण अधिनियम 2007 कर अंतर्गत वरिष्ठ नागरिक     मन कर भरण-पोषण बर ए अधिकार हवे कि ओ अनुविभागीय दण्डाधिकारी, राजस्व कर      न्यायालय में आवेदन कईर सकथें।

-      हिन्दू दŸाक आउ रख-रखाव अधिनियम 1965 कर धारा 20 (1) कर अनुसार निःशक्त /        लाचार अभिभावक कर देख-रेख के जिम्मेदारी बेटा आउ बेटी कर हवे, जेहर समाज कर   जम्मों समुदाय आउ वर्ग बर आगू होएल।

-      रउरे नावां कदम कर बारे में पूछेन, एकरे बर मैं बताना चाहथों कि अभी 3 अक्टूबर 2017 के        छŸाीसगढ़ पुलिस ‘सीनियर सिटीजन सेल‘ के स्थापना करल गईसे।

-      सीनियर सिटीजन सेल कर संचालन हेल्पेज इंडिया, स्वयंसेवी संस्था आउ छŸाीसगढ़ पुलिस        के संयुक्त प्रयास में करल जाथे।

-      ए सेल में टोल फ्री नम्बर 1800-180-1253 आउ हेल्प लाईन नम्बर 0771-2511253 कर        माध्यम ले संपर्क करल जाए सकथे।

-      राज्य कर जम्मों थाना में फैमिली काउंसिलिंग सीनियर सिटीजन हेल्प डेस्क कर स्थापना        करल जाही।

-      लेकिन ए सब कर उपर मैं फेर एक धाएर कहना चाहथों कि अपन सियान मन कर सेवा ला        अपन सौभाग्य समझना चाही।

-      कानूनी उपाय चाहे वृद्धाश्रम जाए कर नौबत ही  नई आना चाही।

बाल दिवस

-      अभी रउरे सियान मनकर चिंता करेन। ए संयोग हवे कि दुई दिन बाद 14 नवम्बर के बाल        दिवस भी हवे। ए अवसर में मैं जम्मों बच्चा मन ला बधाई आउ शुभकामनाएं देहथों।

-      बच्चा मन में भगवान बसथें। बच्चा मन के सच्चा होथें। ओ गीला माटी कर जईसा होथें, जेमन ला सही शिक्षा आउ सही संस्कार देके हम मनचाहा आकार में ढाएल सकथन।

-      हमन प्रदेश में बचपन ला बचाए आउ उनकर भविष्य संवारे बर अनेक योजना कर संचालन      करे हन।

-      मुख्यमंत्री बाल भविष्य योजना, मुख्यमंत्री बाल ह्रदय सुरक्षा योजना, नानचुन शिक्षा सुरक्षा        योजना, मुख्यमंत्री अमृत योजना, चिरायु योजना, बाल मधुमेह योजना, मुख्यमंत्री बाल श्रवण        योजना, सरस्वती सायकल योजना।

-      ए योजना मन बच्चा मनला स्वस्थ, शिक्षित आउ संस्कारवान बनाए में मदद करत है। मैं       चाहूं कि बच्चा मन ला ए योजना मनकर भरपूर लाभ भेंटाए।

पुरूष उद्घोषक

-      श्रोता हो! राउर प्रतिक्रिया हमन ला राउर चिट्ठी सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्विटर कर संगे एसएमएस  ले भी बड़ा संख्या में मिलथे। एकर बर रउरे मन ला बहुत-बहुत धन्यवाद।

-      आगु भी रउरे अपन मोबाइल कर मैसेज बॉक्स में आरकेजी कर बाद स्पेस देके अपन विचार        लिखके 7668-500-500 नम्बर में भेजत रही आउ संदेश कर आखिर में अपन नाम आउ        पता खिलना झिन भुलाब।

मुख्यमंत्री जी

-      श्री योगेश्वर साहू, उमेद कुमार निशाद, भिवानी दास जांगड़े, मुकेश कश्यप, राजेन्द्र कुमार        दामले, फूलचंद हलवाई, छगनलाल नागवंशी, जनक राम साहू, सुन्दर लाल केंवट, दुर्गाराम        साहू, रामकुमार साहू, लाभ राम कुमटे, जईसे बहुत सारा श्रोता मन ए कार्यक्रम ला सुइन के      न केवल अपन प्रसन्नता जाहिर करिन हैं बल्कि ढेरे अकन सुझाव भी देहिन हवें। रउरे मन के धन्यवाद आउ आभार।  

महिला उद्घोषक

-      आउ श्रोता हो, अब बारी हवे क्विज कर।

-      18 वाँ क्विज कर प्रश्न रहिस -

-      कोन सा सन तक किसान मन कर आय दुगुना करेकर लक्ष्य हवे ?

-      एकर सही जवाब - (ए)     2022

-      सबले हालु जे पांच श्रोता मन सही जवाब भेजिन हैं उनकर नाम हवे -

       1.     सरोजनी रजक, ग्राम लक्षणपुर जिला बलौदाबाजार

       2.     श्री हरिशंकर दास ग्राम कोटसारी, जिला बलरामपुर

       3.     डामिन पटेल, घोनथा जिला दुर्ग

       4.     ममता यादव, कबीरधाम

       5.     प्रियंका वर्मा, मोतीनगर, रायपुर

 

पुरूष उद्घोषक

-      आउ श्रोता हो अब बेरा हवे 19 वाँ क्विज कर सवाल हवे -

-      मुख्यमंत्री बाल मधुमेह सुरक्षा योजना कोन सा बीमारी कर इलाज बर हवे ?

-      एकर सही जवाब -   (ए)    हाई डिसीज  (बी)   डायबिटीज

      

 

एमें से कोई एक हवे -   

-      अपन जवाब देहे बर अपन मोबाइल कर मैसेज बॉक्स में क्यूए लिखी आउ स्पेस देके ‘‘ए‘‘ चाहे ‘‘बी‘‘ जो भी रउरे के सही लगे ओ एक अक्षर लिखके 7668-500-500 नम्बर में भेज    देई। संग में अपन नाम आउ पता जरूर लिखी।

-      श्रोता हो, रउरे मन ‘रमन के गोठ‘ सुनत रही आउ अपन प्रतिक्रिया ले हमन ला अवगत    करात रही। एकरे संग आएज कर अंक के हमन इहें समापन करथन। अगला अंक में 10 दिसम्बर के होही राउर से फेर भेंट। तब तक बर देई हमन ला विदा। नमस्कार