छत्तीसगढ़ को प्राप्त राष्ट्रीय पुरस्कार : 2021

 राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार-2021 : छत्तीसगढ़ को मिला 12 पुरस्कार : 24-04-2021

केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा दिए जाने वाले राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार-2021 के अंतर्गत छत्तीसगढ़ को 12 पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस के मौके पर आज नई दिल्ली में आयोजित वर्चुअल समारोह में विजेता पंचायतों के खातों में पुरस्कार राशि का ऑनलाइन अंतरण किया। केन्द्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव और राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल पुरस्कार समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़ें। उन्होंने पुरस्कार हासिल करने वाले सभी पंचायतों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।  

छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय ई-पंचायत पुरस्कारों में दूसरा स्थान : 21-04-2021

प्रदेश की त्रिस्तरीय पंचायतीराज संस्थाओं द्वारा स्थानीय स्वशासन में आईसीटी (Information & Communication Technology) के बेहतर उपयोग के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय ई-पंचायत पुरस्कारों में दूसरा स्थान मिला है। केन्द्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों की पंचायतों में आईसीटी और ई-एप्लीकेशन के प्रभावी उपयोग का मूल्यांकन कर बेहतर प्रदर्शन करने वालों राज्यों को ई-पंचायत पुरस्कार प्रदान किया जाता है। तीन अलग-अलग वर्गों में दिए जाने वाले इस पुरस्कार में छत्तीसगढ़ को प्रथम वर्ग (Category-I) में असम के साथ संयुक्त रूप से दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। भारत सरकार द्वारा पंचायतों के कार्यों में पारदर्शिता, दक्षता और जवाबदेही के लिए आईसीटी के उपयोग को बढ़ावा देने हर वर्ष ई-पंचायत पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

हेल्थ एंड वेलनेस एप्लीकेशन के उपयोग में छत्तीसगढ़ को मिला पुरस्कार : 14-04-2021

 हेल्थ एंड वेलनेस एप्लीकेशन के उत्कृष्ट उपयोग के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। इस एप्लीकेशन के उपयोग में छत्तीसगढ़ देश में तीसरे स्थान पर है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आज देश में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों की शुरूआत के तीन वर्ष पूरे होने पर आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम में प्रदेश को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। छत्तीगसढ़ ने कोरोना महामारी के इस कठिन समय में भी लक्ष्य से अधिक स्वास्थ्य केंद्रों का हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में उन्नयन किया है।

 

प्रदेश की पंचायतों ने फिर दिखाया दम, लगातार तीसरे साल 11 राष्ट्रीय पुरस्कार : 03-04-2021

केन्द्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा कोंडागांव जिला पंचायत, गरियाबंद और तिल्दा जनपद पंचायत तथा सरगुजा जिले के अंबिकापुर विकासखंड के सरगवां और लुंड्रा विकासखंड के रिरी, बालोद जिले के गुंडरदेही विकासखंड के माहुद (अ), कबीरधाम जिले के सहसपुर लोहारा विकासखंड के महराटोला एवं रायपुर जिले के आरंग विकासखंड के बैहार ग्राम पंचायत का चयन दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के लिए किया गया है। राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार-2021 के अंतर्गत बीजापुर जिले के भोपालपटनम विकासखंड के दूरस्थ वनांचल गोटईगुड़ा ग्राम पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार, रायपुर जिले के अभनपुर विकासखंड के नवागांव (ल) को बाल मित्र ग्राम पंचायत पुरस्कार और आरंग विकासखंड के बैहार को ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार दिया जाएगा।

राष्ट्रीय पंचायत अवार्ड 2021: कोण्डागांव को मिला दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार : 01-04-2021

भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा आज 31 मार्च को विशिष्ट कार्य करने वाले पंचायतों के लिए दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार, नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार एवं ग्राम पंचायत डेवलपमेंट प्लान अवार्ड की घोषणा की गई। जिसमें जिला पंचायत कोंडागांव को उत्कृष्ट कार्य हेतु वर्ष 2019-20 के लिए छत्तीसगढ़ में प्रथम स्थान प्रदान करते हुए दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार (डी.डी.यू.पी.एस.पी.) 2021 प्रदान करने की घोषणा की गई।

बिलासपुर जिले को पीएम किसान सम्मान निधि के श्रेष्ठ क्रियान्वयन के लिए मिला राष्ट्रीय अवार्ड : 24-02-2021

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के क्रियान्वयन में देश में सर्वोच्च स्थान हासिल किया है। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर ने आज इस योजना के दो वर्ष पूरे होने के मौके पर नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में बिलासपुर जिले को इस गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए पुरस्कृत किया। बिलासपुर के कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के राज्य नोडल अधिकारी श्री जी.के. निर्माम ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

मोर जमीन-मोर मकान में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मिला पुरस्कार : 01-01-2021

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी अंतर्गत समावेशी मॉडल मोर जमीन-मोर आवास को भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत किया गया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री, श्री हरदीप सिंह पुरी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। । भारत सरकार, आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत मिशन के 04 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में पीएमएवाय-यू और आशा अवार्ड के तहत छत्तीसगढ़ राज्य को तीन श्रेणियों में अवार्ड प्राप्त हुए हैं। ”बेस्ट कन्वर्जेंस विथ अदर मिशन“ की श्रेणी में छत्तीसगढ़ राज्य को उत्तम प्रदर्शन करने हेतु पुरस्कृत किया गया।

बेस्ट कन्वर्जेंस विथ अदर मिशन की श्रेणी में छत्तीसगढ़ को मिला पुरस्कार
    मोर जमीन-मोर मकान घटक के अन्तर्गत हितग्राहियों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने, अन्य योजनाओं का समावेश कर उनके सफल क्रियान्वयन हेतु ”बेस्ट कन्वर्जेंस विथ अदर मिशन“ की श्रेणी में छत्तीसगढ़ राज्य को उत्तम प्रदर्शन करने हेतु पुरस्कृत किया गया।
बेस्ट परफॉर्मिंग म्युनिसिपल काउंसिल श्रेणी में डोंगरगढ़ को मिला इनाम
    नगर पालिका परिषद, डोंगरगढ़ को अधिक से अधिक आवास निर्माण पूर्ण करने पर देश में ”बेस्ट परफॉर्मिंग म्युनिसिपल काउंसिल श्रेणी“ में पुरस्कार प्राप्त हुआ है।
बेस्ट हाउस कंस्ट्रक्शन श्रेणी में हितग्राहियों को मिला पुरस्कार
    प्रदेश के तीन हितग्राही मंजू साहू (धमतरी), मुमताज बेगम (धमतरी), ममता वर्मा (कवर्धा) के आवासों को देश के ”बेस्ट हाउस कंस्ट्रक्शन श्रेणी“ में पुरस्कार प्राप्त हुए।

 

छत्तीसगढ़ को प्राप्त राष्ट्रीय पुरस्कार : 2020

केन्द्र सरकार ने बिलासपुर और सूरजपूर जिले को नेशनल वाटर अवार्ड के लिए किया चयनित : 28-10-2020

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ राज्य को एक और बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। मुख्यमंत्री के नरवा कार्यक्रम को केन्द्र सरकार पुरस्कृत करेगी। नरवा कार्यक्रम के तहत पिछले दो साल में नदी-नालों के पुनरोद्धार के लिए किए गए कार्यों के लिए प्रदेश के बिलासपुर जिले और जल संरक्षण के कार्यो के लिए सूरजपुर जिले को भारत सरकार के जलशक्ति मंत्रालय की ओर से देश के सर्वश्रेष्ठ जिलों में प्रथम स्थान मिला है।    

  केन्द्र सरकार के जलशक्ति मंत्रालय द्वारा जल स्त्रोतों के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये दोनों जिलों को सन् 2019 का नेशनल वाटर अवार्ड प्रदान किया जाएगा। इसमें बिलासपुर जिले को ईस्ट अण्डर रिवाइवल ऑफ रिवर कैटेगरी में और सूरजपुर जिले को ईस्ट अण्डर वाटर कन्जर्वेशन कैटेगरी पर राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। यह पुरस्कार नवंबर माह में प्रदान किया जाएगा।

सर्वाधिक ओडीएफ प्लस गांव के लिए छत्तीसगढ़ को मिला दूसरा पुरस्कार : 2 अक्टूबर 2020

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्रालय के गंदगीमुक्त भारत अभियान के अंतर्गत छत्तीसगढ़ को सर्वाधिक ओडीएफ प्लस गांव के लिए दूसरा पुरस्कार मिला है। केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती पर स्वच्छ भारत दिवस के मौके पर आयोजित ऑनलाइन समारोह में छत्तीसगढ़ को यह पुरस्कार प्रदान किया। इस मौके पर जल शक्ति राज्य मंत्री श्री रतनलाल कटारिया भी मौजूद थे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, विभागीय प्रमुख सचिव श्री गौरव द्विवेदी और स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के संचालक श्री धर्मेश साहू वीडियो कॉन्फ्रेंस से पुरस्कार समारोह में शामिल हुए।

छत्तीसगढ़ को स्वच्छता सर्वेक्षण में राष्ट्रीय पुरस्कार : 20-08-2020

भारत सरकार आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणाम आज 20 अगस्त 2020 को घोषित किए गए, जिसमें छत्तीसगढ़ ने देश के बड़े राज्यों को पछाड़ते हुए स्वच्छ सर्वेक्षण में फिर से एक बार देश के स्वच्छतम राज्य होने का दर्जा प्राप्त किया है। केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित वर्चुअल ऑनलाइन पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्यमंत्री आवास से केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी के हाथों यह पुरस्कार मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने प्राप्त किया।

मुख्यमंत्री दर्पण पोर्टल एवं मोबाईल एप को राष्ट्रीय पुरस्कार : 11 जुलाई 2020

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना और अन्य फ्लैगशिप योजनाओं की मॉनिटरिंग के लिए तैयार की गई - मुख्यमंत्री दपर्ण वेबसाईट एवं मोबाईल एप को राष्ट्रीय स्तर पर “एलिट्स एक्सीलेंस अवार्डस-2020 से नवाजा गया है। छत्तीसगढ़ राज्य को यह सम्मान देश के प्रतिष्ठित आईटी संस्थान एलिट्स टेक्नोमीडिया, नई दिल्ली ने ‘डिजिटल इंडिया पहल’ के अंतर्गत प्रदान किया है। देश में 10 से 12 जुलाई तक तीन दिवसीय वर्चुअल कांफ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। इस वर्चुअल कांफ्रेंस का शुभारंभ केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी द्वारा 10 जुलाई को नई दिल्ली में करते हुए छत्तीसगढ़ को ई सर्टिफिकेट प्रदान किया।

छत्तीसगढ़ को मिला ई-पंचायत पुरस्कार : 23 जून 2020

पंचायतों के सशक्तिकरण और विभागीय योजनाओं को लागू करने में सूचना व संचार तकनीक (ICT - Information & Communication Technology) के प्रभावी उपयोग के लिए छत्तीसगढ़ का चयन भारत सरकार के पंचायतीराज मंत्रालय ने ई-पंचायत पुरस्कार के लिए किया है। पंचायतों के कार्यों में पारदर्शिता, दक्षता और जवाबदेही लाने आईसीटी के उपयोग में छत्तीसगढ़ को पूरे देश में दूसरा स्थान मिला है।

छत्तीसगढ़ की तीन पंचायतों को राष्ट्रीय पुरस्कार : 02-05-2020

भारत सरकार के पंचायतीराज मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ की तीन ग्राम पंचायतों को अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्यों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना है। बच्चों से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए कबीरधाम जिले के कवर्धा विकासखंड के कान्हाभैरा ग्राम पंचायत का चयन बाल मित्र पंचायत पुरस्कार के लिए किया गया है। ग्रामसभा के प्रभावी आयोजन और इसके सशक्तिकरण के लिए रायपुर जिले के आरंग विकासखंड के बनचरोदा पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार से नवाजा जाएगा। वहीं कांकेर जिले के चारामा विकासखंड के भिलाई पंचायत को केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार के लिए चुना है।

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग को ई-गर्वनेंस अवार्ड :  17 जनवरी 2020

स्कूल शिक्षा विभाग को आज भुवनेश्वर में आयोजित समारोह में टीम्स प्रोजेक्ट के लिए कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया (सीएसआई) द्वारा ’’सीएसआई एसआईजी ई-गर्वनेंस एवार्ड 2019 - एवार्ड ऑफ एप्रीशियेशन इन स्टेट कैटेगरी’’ में प्रदान किया गया। समारोह में उड़ीसा के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक और मंत्री श्री टी.के. बेहरा ने यह पुरस्कार छत्तीसगढ़ को प्रदान किया। छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधि के रूप में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के व्याख्याता श्री संतोष तंबोली और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ तकनीकी संचालक श्री ए.के. सोमशेखर ने पुरस्कार प्राप्त किया। यह पुरस्कार स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा किए जा रहे गुणवत्तापूर्ण कार्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर पहचान है। तकनीकी कार्यों में राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी) का विशेष सहयोग रहा है। कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा प्रदान किए जाने वाला यह पुरस्कार सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है। 

बेमेतरा को मिला स्वच्छता दर्पण अवार्ड : आमिर खान के हाथों कलेक्टर शिखा राजपूत  ने ग्रहण किया पुरस्कार : 12 जनवरी 2020

भारत सरकार, जल शक्ति मंत्रालय, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) नई दिल्ली द्वारा स्वच्छता दर्पण का अवार्ड छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले को प्रदान किया गया है। यह अवार्ड आज नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में प्रदान किया गया।
बेमेतरा जिले की कलेक्टर श्रीमती शिखा राजपूत तिवारी एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रकाश कुमार सर्वे नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में यह अवार्ड फिल्म अभिनेता आमिर खान के
 हाथों ग्रहण किया।

देश के 115 आकांक्षी जिलों में से दन्तेवाड़ा को सुपोषण अभियान में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए मिला सिल्वर स्कॉच अवार्ड : 11 जनवरी 2020

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की कुपोषण मुक्ति की दिशा में किए गए विशेष प्रयास से कुपोषण मुक्ति अभियान में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए देश के 115 आकांक्षी जिलों में से दन्तेवाड़ा जिले को मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान को कारगर ढंग से क्रियान्वयन करने के लिये नई दिल्ली के इंडिया हैबीटेट सेंटर में आयोजित स्कॉच अवार्ड समारोह में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आर्थिक सलाहकार श्री विवेक देवराय द्वारा सिल्वर अवार्ड प्रदान किया गया है। दंतेवाड़ा जिला प्रशासन की ओर से इस अवार्ड को जिला पंचायत दन्तेवाड़ा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सच्चिदानंद आलोक और आकांक्षी फैलो श्री बसन्त कुमार ने ग्रहण किया। यह अवार्ड देश के 115 आकांक्षी जिलों की श्रेणी में सुपोषण अभियान को बेहतर ढंग से संचालित करने सहित उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने के लिये दन्तेवाड़ा जिले को प्रदान किया गया है।

सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन के लिए छत्तीसगढ़ को मिला कृषि कर्मण पुरस्कार : 02-01-2020

छत्तीसगढ़ को सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया। कृषि मंत्री श्री रवीन्द्र चौबे ने राज्य की ओर से यह पुरस्कार ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ को वर्ष 2016-17 में कुल खाद्यान्न उत्पादन श्रेणी-2 के अंतर्गत सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन के लिए भारत सरकार द्वारा इस पुरस्कार के लिए चुना गया है कृषि मंत्री श्री रवीन्द्र चौबे ने प्रदेश के किसानों और विभागीय अधिकारियों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है। कृषि मंत्री श्री चौबे ने इस पुरस्कार को प्रदेश के अन्नदाता किसानों के नाम समर्पित किया है।

 

छत्तीसगढ़ को प्राप्त राष्ट्रीय पुरस्कार : 2019

मनरेगा, आजीविका मिशन, आवास योजना और पीएमजीएसवाई में उत्कृष्ट कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को मिले 22 पुरस्कार : 19-12-2019

पंचायत एवं ग्रामीण विकास की विभिन्न योजनाओं में उत्कृष्ट कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय स्तर पर 22 पुरस्कार मिले हैं। प्रदेश को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की विभिन्न श्रेणियों में नौ, मनेरगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) में सात, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) में पांच और प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए एक पुरस्कार से नवाजा गया है। इनमें राज्य स्तर पर दिए जाने वाले 13, जिला स्तर पर दिए जाने वाले तीन, विकासखंड को एक और ग्राम पंचायतों को मिले चार पुरस्कार शामिल हैं।

धान की दुर्लभ किस्मों के संरक्षण के लिए छत्तीसगढ़ के आदर्श महिला समूह को पादप जीनोम सेवियर पुरस्कार : 24-10-2019

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के मार्गदर्शन में धान की दुर्लभ परंपरागत किस्मों ग्रीन राइस, ब्लैक राइस और करहानी धान के संरक्षण और संवर्धन का कार्य करने के लिए दुर्ग जिले के पाटन विकासखण्ड के ग्राम तर्रा (अचानकपुर) के  महिला कृषकों के समूह ‘‘आदर्श महिला आत्म समूह’’ को पादप जीनोम सेवियर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। भारत सरकार के कृषि मंत्रालय के पौधा किस्म और कृषक अधिकार संरक्षण प्राधिकरण द्वारा प्रदत्त इस राष्ट्रीय पुरस्कार में दस लाख रूपये की राशि दी जाती है। 23 अक्टूबर को पूसा परिसर नई दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं कृषि राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने आदर्श महिला समूह अचानकपुर की सदस्यों को सम्मानित किया। इसके साथ ही कृषि विज्ञान केन्द्र धमतरी के मार्गदर्शन में पारंपरिक देशी बैंगन की किस्म से विकसित निरंजन भाटा के संरक्षण के लिए ग्राम धुमा के प्रगतिशील कृषक श्री लीलाराम साहू को पादप जीनोम सेवियर पुरस्कार के रूप में डेढ़ लाख की राशि प्रदान की गई। इस अवसर पर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील भी उपस्थित थे। 

जनपद पंचायत नगरी को मिला पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार : 24-10-2019

भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार 2019 का वितरण सी. सुब्रमण्यम हॉल, एग्रीकल्चर साईंस कॉम्पलेक्स पुसा, नई दिल्ली में 23 अक्टूबर को किया गया। ज्ञात हो कि भारत सरकार द्वारा वर्ष 2012 से पंचायतों की अलग-अलग श्रेणियों में मूल्यांकन कर चार पुरस्कार दिए जाते हैं। वर्ष 2017-18 के लिए 22 राज्यों के 246 त्रि-स्तरीय पंचायतों का चयन राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए किया गया। इनमें दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण के सामान्य श्रेणी में छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के जनपद पंचायत नगरी और कबीरधाम जिले के जनपद पंचायत सहसपुर लोहारा को उक्त सम्मान से नवाजा गया। भारत सरकार के पंचायत राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, सचिव श्री अमरजीत सिन्हा, कर्नाटक, असम, तमिलनाडू सहित छत्तीसगढ़ के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री श्री टी.एस.सिंहदेव की उपस्थिति में यह पुरस्कार जनपद पंचायत अध्यक्ष नगरी श्री अशोक सोम एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत नगरी श्री पी.आर.साहू ने ग्रहण किया।

पंचायत सशक्तिकरण के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने पर कांकेर जिला पुरस्कृत : 23-10-2019

 पंचायत सशक्तिकरण के लिए बेहतरीन कार्य करने पर कांकेर जिले को छत्तीसगढ़ राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर के.सी सुब्रमण्यम हाल नेशनल एग्रीकल्चरल सार्रम काम्पलेक्स पुसा नई दिल्ली में आज केंद्रीय मंत्री पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री नरेन्द्र सिंह तोमर द्वारा जिला पंचायत कांकेर के सीईओ डॉ. संजय कन्नौजे को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय पंचायत अवार्ड में छत्तीसगढ़ को मिले 11 पुरस्कार : 23-10-2019

राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ को बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। राष्ट्रीय पंचायत अवार्ड 2019 के तहत प्रदेश के 11 जिला,  जनपद और ग्राम पंचायतों  को राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया।  योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन और ग्रामसभाओं के सार्थक आयोजन और उत्कृष्ट कार्यों के लिए पंचायतों को ये पुरस्कार दिया गया है। भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा आज नई दिल्ली के राष्ट्रीय कृषि विज्ञान कॉम्प्लेक्स में राष्ट्रीय पंचायत अवार्ड 2019 का आयोजन किया गया, जहां छत्तीसगढ़ के पंचायत मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने केंद्रीय पंचायत मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के हाथों पुरस्कार ग्रहण किया। इस दौरान छत्तीसगढ़ को ई-पंचायत सहित विभिन्न पुरस्कार प्रदान किए गए।

 छत्तीसगढ़ को एक और राष्ट्रीय पुरस्कार, बच्चों से जुड़ी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए बाल मित्र पंचायत पुरस्कार : 24-09-2019

छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय स्तर पर एक और पुरस्कार मिला है। भारत सरकार के पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा बीजापुर जिले के भैरमगढ़ विकासखंड के कुटरु ग्राम पंचायत को वर्ष 2019 के बाल मित्र ग्राम पंचायत पुरस्कार के लिए चुना है।

प्रदेश के दूरस्थ वनांचल में बसे कुटरु पंचायत ने बच्चों की शिक्षा, सेहत और स्वच्छता के लिए श्रेष्ठ कार्य किया है। पंचायत की समितियों ने टीकाकरण, स्कूल में बच्चों के दाखिले, मध्यान्ह भोजन, शिक्षकों की उपस्थिति, पोषण सुधार, कुटरु को खुले में शौचमुक्त गांव बनाने और किशोरियों की स्वच्छता के लिए सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराने में उल्लेखनीय कार्य किया है। इन कार्यों में केन्द्र सरकार की मानकों पर खरा उतरने पर कुटरु पंचायत का चयन बाल मित्र ग्राम पंचायत पुरस्कार के लिए किया गया है।

ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत छत्तीसगढ़ को 9 राष्ट्रीय पुरस्कार : 20-09-2019

 भारत सरकार के पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के कुल 9 जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों का चयन राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए किया गया है। दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार-2019 के लिए 8 और नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार-2019 के लिए एक पंचायत का चयन हुआ है।

केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के लिए जिला पंचायत कांकेर तथा धमतरी जिले के नगरी जनपद पंचायत और कबीरधाम जिले के सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत का चयन किया गया है। सूरजपुर जिले के कंदरई ग्राम पंचायत, राजनांदगांव के मुसराकला और रूआताला पंचायत, धमतरी के अरौद तथा दुर्ग जिले के बोरई ग्राम पंचायत का भी चयन इस पुरस्कार के लिए हुआ है।

कांकेर जिला को मिला स्वच्छता के क्षेत्र में राष्ट्रीय पुरस्कार : 09-09-2019

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत छत्तीसगढ़ राज्य से कांकेर जिला को स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने व महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए सम्मानित किया गया है। राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में केन्द्रीय जल शक्ति एवं स्वच्छता मंत्रालय मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत व राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया के द्वारा विभिन्न श्रेणीयों में स्वच्छ भारत पुरस्कार प्रदान किया गया। ‘‘स्वच्छ महोत्सव 2019’’ के तहत्  06 सितम्बर  शुक्रवार को विज्ञान भवन नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में कांकेर जिले को स्वच्छता के क्षेत्र में सम्मनित किया गया।

लिंगानुपात में निरंतर वृद्धि के लिए रायगढ़ जिला राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित : 06-09-2019

रायगढ़ जिले को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में उल्लेखनीय कार्य के लिए केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा पुरस्कृत किया गया है। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी ने कलेक्टर श्री यशवंत कुमार को दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि रायगढ़ जिले ने पिछले पांच वर्षाे में जन्म आधारित लिंगानुपात में देशभर में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वर्ष 2014-15 से वर्ष 2018-19 के मध्य जन्म आधारित लिंगानुपात में रायगढ़ जिले का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को बी.पी. मण्डल सामाजिक न्याय रत्न सम्मान से किया गया सम्मानित:25-08-2019

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आज नई दिल्ली में आयोजित समारोह में बी.पी. मण्डल सामाजिक न्याय रत्न से सम्मानित करते हुए उनका जन अभिनंदन किया गया। श्री बघेल को छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण बढ़ाने के फैसले के लिए उन्हें यह सम्मान प्रदान किया गया। सामाजिक न्याय के प्रणेता और पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष तथा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री बी.पी. मंडल की जयंती के अवसर पर आज नई दिल्ली के कॉन्स्टिटूशन क्लब में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। पूर्व राज्य सभा सांसद श्री शरद यादव ने मुख्यमंत्री श्री बघेल को श्री बी पी मंडल सामाजिक रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया।

पोषण अभियान में उल्लेखनीय कार्य: छत्तीसगढ़ को मिले 5 राष्ट्रीय पुरस्कार : दो श्रेणियों के तहत उत्कृष्टता पुरस्कारों में मिला दूसरा स्थान : मुख्यमंत्री और महिला एवं बाल विकास मंत्री ने दी बधाई:23-08-2019

छत्तीसगढ़ ने आज पोषण अभियान में उल्लेखनीय कार्य के लिए पांच राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किया है। छत्तीसगढ़ ने दो श्रेणियों के तहत उत्कृष्टता पुरस्कारों में दूसरा स्थान हासिल किया है। राज्य को आईसीडीएस-सीएएस कार्यान्वयन और क्षमता निर्माण, अभिसरण,व्यवहार परिवर्तन और सामुदायिक जुटाव श्रेणियों में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। छत्तीसगढ़ को जिला, ब्लॉक और पर्यवेक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन, एएनएम स्तर पर तीन पुरस्कार और नेतृत्व एवं अभिसरण के लिए एलएस स्तर भी मिला। पोषण अभियान में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने बधाई दी है।

छत्तीसगढ देश का सबसे स्वच्छ राज्य : राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद के हाथों नगरीय  प्रशासन मंत्री श्री शिव डहरिया ने प्राप्त किया सम्मान : 06-03-2019

छत्तीसगढ़ को देश का सबसे स्वच्छ राज्य का सम्मान हासिल हुआ है। छत्तीसगढ़ को यह सम्मान आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित गरिमामय समारोह में राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की रैकिंग में पहला स्थान पाने पर मिला । राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने समारोह में छत्तीसगढ़ के नगरी प्रशासन और विकास मंत्री श्री शिव कुमार डहरिया को यह पुरस्कार प्रदान किया । राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की रैकिंग में छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर शहर को देशभर में दूसरा और भिलाई नगर को 11 वां स्थान मिला है ।

स्वास्थ्य और पोषण के  क्षेत्र में बेहतर सुधार के फलस्वरुप  कोण्डागांव जिला देश में प्रथम : ओवरऑल रैंकिंग में देश भर के महत्वाकांक्षी जिलों  में मिला दूसरा स्थान-06.03.2019

स्वास्थ्य और पोषण के क्षेत्र में किए गए सुधार के फलस्वरुप छत्तीसगढ़ के कोण्डागांव जिले को देश में प्रथम स्थान तथा  ओवरऑल रैंकिंग में  देश भर के महत्वाकांक्षी जिलों में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। आज नई दिल्ली के सिविल सेवा अधिकारी संस्थान में आयोजित कार्यक्रम में कोण्डागांव जिले के कलेक्टर श्री नीलकंठ टेकाम को इस उपलब्धि के लिए पुरस्कृत किया गया। श्री टेकाम को यह पुरस्कार नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अमिताभ कांत ने प्रदान किया। आयोग ने पुरस्कार स्वरुप कोण्डागांव जिले को पांच करोड़ रूपए की राशि प्रदान की। 

पहली बार निर्वाचन में छत्तीसगढ़ को मिले सर्वाधिक चार राष्ट्रीय पुरस्कार : 25-01-2019

 समूचे भारत देश में छत्तीसगढ़ ही इकलौता ऐसा राज्य है, जिसे राष्ट्रीय मतदाता दिवस ( 25 जनवरी ) के अवसर पर पुरस्कारों की विभिन्न श्रेणियों में देश में पहली बार सर्वाधिक चार राष्ट्रीय पुरस्कार मिले है। भारत निर्वाचन आयोग की ओर से राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने आज राष्ट्रीय स्तर पर नई दिल्ली के मानेक-शॉ सेन्टर में आयोजित गरिमामय समारोह में छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू को स्टेट केटेगरी में राष्ट्रीय अवार्ड प्रदान किया।

निर्वाचन में सर्वश्रेष्ठ कार्य निष्पादन पर छत्तीसगढ़ के मुख्य  निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू को मिला राष्ट्रीय सम्मान : 25-01-2019

 छत्तीसगढ़ राज्य में हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा निर्वाचन-2018 में सर्वश्रेष्ठ कार्य निष्पादन हेतु छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू को राष्ट्रीय सम्मान से नवाजा गया हैं। यह पुरस्कार आज नई दिल्ली के मानेक-शॉ सेंटर में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर आयोजित गरिमामय कार्यक्रम में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने श्री सुब्रत साहू को प्रदान किया। इस अवसर पर केन्द्रीय कानून मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद, भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त श्री सुनील अरोड़ा भी उपस्थित थे।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर रायगढ़ जिले को मिला राष्ट्रीय सम्मान : 24-01-2019

 बेटी बचाओ-बेटी पढा़ओ अभियान में देश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर रायगढ़ जिले को उत्कृष्ट जिले के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया हैं। आज नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी के हाथों रायगढ़ कलेक्टर श्री यशवंत कुमार व पूर्व कलेक्टर श्रीमती शम्मी आबिदी ने संयुक्त रूप सेे ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ की तीन आंगनबाडी़ कार्यकर्ताओं को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार : 07-01-2019

छत्तीसगढ़ की तीन आंगनबाडी़ कार्यकर्ताओं को आंगनबाडी़ सेवाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए आज राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया हैं। यह पुरस्कार छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती प्रेमलता चक्रेश, दुर्ग जिले की आंगनबाडी़ कार्यकर्ता श्रीमती मीना वर्मा व कोरबा जिले की आंगनबाडी़ कार्यकर्ता श्रीमती पूनम बिंझवार को केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने प्रदान किया। नई दिल्ली के प्रवासी भारतीय केन्द्र में आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार उन्हे आंगनबाडी़ केन्द्रों में पूरक पोषण आहार, टीकाकरण, औपचारिक शिक्षा व अन्य सेवाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिये प्रदान किया गया हैं।