हरियर छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड द्वारा औषधीय पौधों का वितरण प्रारंभ


हरियर छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड 
द्वारा औषधीय पौधों का वितरण प्रारंभ
बोर्ड कार्यालय में अध्यक्ष श्री सिंह तथा उपाध्यक्ष डॉ. शर्मा ने किया शुभारंभ
शहर के छह शासकीय विद्यालयों और आठ सार्वजनिक स्थलों पर
होगा औषधीय पौधों का वितरण

पूरे प्रदेश में वनमंडलों की रोपणियों से किया जाएगा औषधीय पौधों का वितरण

औषधीय पौधों के लिए स्कूल, कॉलेज, संस्थाएं और पर्यावरण प्रेमियों को 
देना होगा वन मंडल तथा बोर्ड कार्यालय में आवेदन 

रायपुर, 19 जुलाई 2017/ छत्तीसगढ़ में कल 20 जुलाई से शुरू हो रहे वृक्षारोपण महाभियान ’हरियर छत्तीसगढ़’ के तहत छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड द्वारा सात लाख औषधीय पौधे वितरित करने का कार्यक्रम बनाया गया है। बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह एवं उपाध्यक्ष डॉ.जे.पी. शर्मा ने आज शाम चार बजे बोर्ड कार्यालय में आयोजित समारोह में पौधा वितरण का शुभारंभ किया। इस अवसर पर अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने आम नागरिकों से औषधीय पौधे लगाने, उनकी देखभाल करने की जिम्मेदारी लेने की अपील करते हुए कहा कि औषधीय पौधे हमारे जीवन के रक्षक होते हैं। 
कार्यक्रम में बताया गया कि बोर्ड कार्यालय से 20 जुलाई को सवेरे 9 बजे प्रचार एवं औषधीय पौधा वितरण वाहनों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया जाएगा। ये वाहन शहर के छह शासकीय विद्यालयों, आठ सार्वजनिक स्थलों पर पूरे दिन पौधों का वितरण करेंगे। हरियर छत्तीसगढ़ के अंतर्गत 20 जुलाई को दोपहर तीन बजे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय डुमरतराई में हर्बल गार्डन वृक्षारोपण और साल संवर्धन महोत्सव का आयोजन बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह के मुख्य आतिथ्य में किया जाएगा। 
छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि औषधीय पौधों को प्राप्त करने के लिए किसी भी संस्था, स्कूल, कॉलेज और पर्यावरण स्नेहियों को वन मंडल या बोर्ड कार्यालय में आवेदन करना होगा। संस्थाओं सहित आम जनता को पौधे उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश के सभी वनमंडलों को निर्देश जारी किए जा चुके हैं। संस्थाएं अथवा नागरिक औषधीय अपने समीप स्थित नर्सरियों से प्राप्त कर सकते हैं। इस बारे में विस्तृत जानकारी राज्य औषधीय पादप बोर्ड के फोन नम्बर 0771-2522056 और मोबाइल नम्बर 99818-35527 पर प्राप्त की जा सकती है। 
औषधीय पौधों के वितरण के लिए रोपणियों की सूची भी जारी की गई है, जिसके अनुसार रायपुर वनमंडल के परिक्षेत्र नया रायपुर की रोपणी झांझ, पश्चिमी भानुप्रतापपुर वनमंडल के परिक्षेत्र कापसी की रोपणी गीतांजलि और कापसी, बस्तर वन मंडल के बकावण्ड परिक्षेत्र की आसना रोपणी, बलौदाबाजार वनमंडल के परिक्षेत्र के कक्ष क्रमांक 282 और वन रोपणी देवपुर, बलौदाबाजार परिक्षेत्र में धमनी और लटुवा रोपणी, कोरबा वन मंडल के कोसाबाड़ी रोपणी पी. 2000, धमतरी वनमंडल के बिरगुड़ी परिक्षेत्र की कोलियारी रोपणी और धमतरी परिक्षेत्र की मानव वन गंगरेल रोपणी से औषधीय पौधे प्राप्त किए जा सकते हैं। 
हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत निर्धारित नर्सरियों में सतावर, अश्वगंधा, गिलोय, एलोविरा, तुलसी, नीम, पत्थर चट्टा, अडू़सा, गुढ़मार, आंवला, जामुन, अर्जुन, बेल, हर्रा, बहेड़ा, सिंदूरी, कचनार, मुनगा, महुआ, अमलतास, निगुण्डी, रीठा, ब्राम्ही, स्टीविया, सर्पगंधा, कालमेघ, कंवाच, चार बीच, चार बीज, मंडूकपर्णी, वच, केवकंद, रक्तचंदन, हड़जोड़, पुत्रनजीवा तथा मालकांगणी के पौधे वितरित किए जाएंगे। 
 क्रमांक -1676/राजेश/बंजारे
--0--


Secondary Links