रायपुर : प्रदेश के सभी जिलों में जनभागीदारी से बनेंगे ऑक्सीजोन: डॉ. रमन सिंह

                                             मुख्यमंत्री स्कूली बच्चों और आम जनता के साथ शामिल हुए वन महोत्सव में

   हरियर छत्तीसगढ़ के तहत प्रदेशव्यापी वृक्षारोपण महाअभियान का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ
राज्य में 8.02 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य: अगस्त माह में भी चलेगा अभियान
लगाए गए पौधों की जानकारी वेबसाईट में प्रदर्शित की जाएगी: मुख्यमंत्री

रायपुर, 20 जुलाई 2017

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के सभी जिलों में पर्यावरण की स्वच्छता, शुद्धता और सुरक्षा के लिए जनभागीदारी से ऑक्सीजोन विकसित करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने आज दोपहर नया रायपुर के ग्राम थनौद में हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत प्रदेश व्यापी वृक्षारोपण महा अभियान का शुभारंभ करते हुए वन महोत्सव में यह घोषणा की। प्रदेश के नागरिक अगर अपने पास उपलब्ध भूमि में से तीन से पांच एकड़ तक जमीन पर ऑक्सीजोन बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए वन विभाग में अपना पंजीयन करवा सकते हैं। इसी तरह अगर कोई नागरिक स्वयं की दस एकड़ जमीन में से एक एकड़ में वृक्षारोपण करना चाहे, तो इसके लिए भी सरकार उसे पौधे उपलब्ध कराएगी। उन्होंने वृक्षारोपण कार्यक्रम में सभी लोगों से जुड़ने की अपील की है। 
उन्होंने समारोह में कहा- उन्होंने कहा कि जब तक पृथ्वी पर वृक्ष हैं, तब तक जीवन है। प्रकृति ने पेड़-पौधों को मानव जीवन के हिसाब से बनाया है। पेड़ लगाने वालों को लोग पीढ़ियों तक याद रखते हैं। उन्होंने कहा-वृक्षों से हमें जीवन रक्षक शुद्ध ऑक्सीजन मिलता है, छाया मिलती है और तरह-तरह के पौष्टिक फल भी मिलते हैं। इसलिए जो वृक्षों की रक्षा करता है, वृक्ष उसकी रक्षा करता है। डॉ. सिंह ने कहा- आज पूरी दुनिया में पर्यावरण को लेकर चिन्ता व्यक्त की जा रही है। अधिक से अधिक पेड़ लगाकर और वनों की रक्षा करके हम पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दे सकते हैं। उन्होंने कहा छत्तीसगढ़ में लगभग 42 प्रतिशत जंगल हैं। राज्य को और भी अधिक हरा-भरा बनाने की जरूरत है। 
डॉ. सिंह ने इसके लिए हरियर छत्तीसगढ़ वृक्षारोपण महा अभियान में सभी लोगों से जुड़ने का आव्हान किया। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि आज थनौद में आयोजित वृक्षारोपण समारोह में काफी संख्या में स्कूली छात्र-छात्राओं सहित आम जनता ने भी उत्साह के साथ विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाए। 
उन्होंने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा- प्रदेश भर में आज 8.02 करोड़ पौधे लगाने का जो अभियान शुरू हुआ है, वह वन महोत्सव के रूप में अगले माह अगस्त में भी जारी रहेगा। सबके सहयोग से पौधे लगाए जाएंगे। कौन से जिले में कितने पौधे लगाए गए हैं, उसकी जानकारी वेबसाईट पर भी प्रदर्शित की जाएगी। डॉ. सिंह ने सभी लोगों से लगाए गए पौधों की बेहतर देखभाल करने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि नया रायपुर लगभग 32 प्रतिशत हरित क्षेत्र विकसित किया जा रहा है। इसमें विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाए गए हैं। 
उल्लेखनीय है कि चालू मानसून के दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की घोषणा के अनुरूप राज्य में हरियर छत्तीसगढ़ वृक्षारोपण महाभियान के तहत आठ करोड़ 02 लाख पौधे लगाने का कार्यक्रम आज से शुरू हो गया। मुख्यमंत्री ने नया रायपुर स्थित ग्राम थनौद में छात्र-छात्राओं, ग्रामीणों और आम नागरिकों के साथ इस अभियान का शुभारंभ किया। महोत्सव में दस हेक्टेयर के रकबे में विभिन्न प्रजातियों के सात हजार पौधे रोपे जाएंगे। इनमें आम के 2500, आंवला के 1000, मुनगा के 1000, कटहल के 500, बहेड़ा के 500, बेल के 400, सीताफल के 100, कहुवा के 100, नीम के 200, महुआ के 500, जामुन के 100, अमरूद के 100 पौधे शामिल हैं। डॉ. सिंह ने थनैंौद में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कैम्प के पास महानदी मुख्य नहर के किनारे नहर वृक्षारोपण अभियान का भी शुभारंभ किया। इसके अंतर्गत नहर के दोनों किनारों पर एक किलोमीटर की लम्बाई में तीन हजार पौधे लगाए जाएंगे। अगले तीन साल में इस नहर के दोनों तरफ कुल 64 किलोमीटर की लम्बाई में वृक्षारोपण किया जाना प्रस्तावित है। 
राज्य सरकार ने हरियर छत्तीसगढ़ वृक्षारोपण महाभियान के तहत इस वर्ष आठ करोड़ 02 लाख पौधे लगाने के लिए विभागवार लक्ष्य भी आवंटित कर दिया है। सर्वाधिक छह करोड़ 08 लाख पौधे वन विभाग द्वारा, 81 लाख पौधे वन विकास निगम द्वारा, 25 लाख पौधे आवास और पर्यावरण विभाग द्वारा और 45 लाख पौधे कृषि विभाग द्वारा लगाने का लक्ष्य है। महिला और बाल विकास विभाग को चार लाख, नगरीय प्रशासन विभाग को दो लाख, आदिम जाति विकास विभाग को एक लाख, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को एक लाख, खाद्य विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग को भी एक-एक लाख पौधे लगाने का लक्ष्य दिया गया है। 
मुख्यमंत्री ने डॉ. रामचन्द्र सिंहदेव का किया स्वागत
मुख्यमंत्री ने आज के समारोह में उपस्थित प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री डॉ. रामचन्द्र सिंहदेव का विशेष रूप से उल्लेख किया। डॉ. सिंह ने उनका स्वागत करते हुए कहा-डॉ. रामचन्द्र सिंहदेव प्रदेश के वरिष्ठ नेता होने के अलावा पेड़-पौधों के लिए चिन्ता करने वाले तथा समाज में पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं। उन्होनें अपना पूरा जीवन पर्यावरण जागरूकता के लिए समर्पित कर रखा है। 
सभी अतिथियों को भेंट किया गया एक-एक गुलाब का फूल
समारोह में मुख्यमंत्री सहित सभी अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ के स्थान पर गुलाब का एक-एक फूल भेंटकर किया गया। वनमंत्री श्री महेश गागड़ा, राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चन्द्रशेखर साहू, राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, वनौषधि बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी, आरंग के विधायक श्री नवीन मारकण्डेय और क्षेत्र की विभिन्न ग्राम पंचायतों के पंच-सरपंच तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड और वन विभाग तथा अन्य संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी कार्यक्रम में मौजूद थे।  
मुख्यमंत्री ने दी मुनगा खाने की सलाह
डॉ. रमन सिंह ने वन महोत्सव में आज लगाए गए मुनगा के पौधों का उल्लेख करते हुए कहा कि इसके फल में काफी मात्रा में आयरन होता है, जो शरीर में खून की कमी को भी दूर करता है। लोगों को अपने घर की बाड़ी में मुनगे का पेड़ जरूर लगाना चाहिए। मुनगा काफी पौष्टिक होता है। उन्होंने सभी लोगों को मुनगा खाने की सलाह दी। 

क्रमांक -1681/स्वराज्य



Secondary Links