रायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : बीमारी और गन्दगी से अब मुक्त है समोदा

 

रायपुर. 11 अगस्त 2017

गलियों में सी.सी. रोड बनने और गांव को खुले में शौचमुक्त करने की मुहिम के चलते अब रायपुर जिले के विकासखंड आरंग का समोदा पंचायत साफ-सुथरा हो गया है। वहां के लोगों ने बीमारी एवं गंदगी से काफी हद तक निजात पा ली है। मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) के तहत समोदा की पांच गलियों में सी.सी. रोड का निर्माण किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत वहां एक साल के भीतर ही करीब 300 शौचालय भी बनाए गए हैं।

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए आरंग विकासखंड के समोदा पंचायत के सरपंच श्री शिवलाल साहू बताते हैं कि पहले सार्वजनिक हैंडपंप का पानी गलियों में भर जाता था। गंदे पानी की निकासी के लिए बनाई गईं कच्ची नालियां बरसात के दिनों में ढह जाती थी। बारिश के दिनों में तो परेशानी और भी बढ़ जाती थी। गली–मोहल्ले कीचड़ से भर जाते थे। गांव को गंदगी से मुक्त कराने पंचायत ने गलियों में सी.सी. रोड बनाने का निर्णय लिया। मनरेगा की धनराशि से पांच गलियों में सी.सी. रोड और पक्की नालियों का निर्माण किया गया।

 सरपंच श्री शिवलाल साहू बताते हैं कि गांव को स्वच्छ रखने के लिए घर-घर में शौचालय बनाने पर भी जोर दिया गया। गांववालों की जागरूकता और सहयोग से समोदा में एक वर्ष के भीतर ही 300 घरों में शौचालय बनाने का काम पूर्ण कर लिया गया है। वे कहते हैं कि हमारा गांव तेजी से खुले में शौचमुक्त गांव बनने की दिशा में अग्रसर है। खुले में शौच करने की आदत बंद होने से अब गांव साफ-सुथरा हो गया है। गंदगी और इनसे होने वाली बीमारियों का खतरा भी अब काफी कम हो गया है।

  क्रमांक-2024/कमलेश

 


Secondary Links