रायपुर : ’ट्रैफिक मित्र’ के रूप में नजर आए स्कूली बालक-बालिकाएं : यातायात नियम तोड़ने वालों को नियम की दी गई जानकारी

  रायपुर, 17 अगस्त 2017

बढ़ते यातायात को देखते हुए छत्तीसगढ़ में 10 हजार से ज्यादा स्कूली बच्चे आज 18 अगस्त से हर महीने दो दिन शहरों के चौक-चौराहों पर ट्रैफिक मित्र की भूमिका निभाने लगे है। स्कूली बालक-बालिका आज राजधानी रायपुर के मुख्य चौराहों पर यातायात नियंत्रण करते नजर आए। आज बच्चों द्वारा तेलीबांधा चौराहा, शास्त्री चौक, फाफाडीह, जय स्तंभ चौक आदि में टैैªफिक कन्ट्रोल किया। बच्चों द्वारा पुलिस के सहयोग से यातायात नियंत्रण का कार्य करने लगे है। भारत स्काउट्स एवं गाइड्स संगठन में सदस्य के रूप में शामिल 10 हजार 252 बच्चों को ट्रैफिक मित्र का नाम देकर यातायात पुलिस की मदद से टैªफिक कन्ट्रोल का प्रशिक्षण दिया है।
आज कल छोटे बच्चे जो ड्राईविंग करते है, उन्हें यातायात नियम की न तो समझ होती है, ना ही वो उसका पालन करना चाहते हैं। उन्हें इन बच्चों द्वारा नियम के बारे में बताया जा रहा है। वहीं रेड सिग्नल होने पर जेब्रा क्रांसिग पर या उससे आगे वाहन लगाने पर उन्हें कुछ दूर वाहन रोकने कहा जा रहा है, ताकि पैदल रोड क्रास करने वाले जेब्रा क्रांसिग का सही उपयोग कर सकें। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पिछले महीने की 30 तारीख को अपने निवास परिसर में आयोजित समारोह में प्रतीक स्वरूप 10 बच्चों को टैªफिक मित्र अलंकरण से सम्मानित भी किया था।


क्रमांक- 2141/पाराशर

 

 


Secondary Links