देशी-विदेशी मदिरा विक्रय से आबकारी विभाग को अब तक डेढ़ हजार करोड़ से ज्यादा राजस्व मिला : वाणिज्यिक कर (आबकारी) मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने ली समीक्षा बैठक

रायपुर, 04 सितम्बर 2017

राज्य शासन को देशी-विदेशी मदिरा की बिक्री से इस वित्तीय वर्ष में अब तक लगभग एक हजार 541 करोड़ का आबकारी राजस्व को मिला है। इस वर्ष आबकारी विभाग द्वारा पांच हजार करोड़ रूपये राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। यह जानकारी वाणिज्यिक कर मंत्री (आबकारी) श्री अमर अग्रवाल की अध्यक्षता में आज यहां आबकारी भवन में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में आबकारी आयुक्त श्री अशोक अग्रवाल, संयुक्त सचिव श्री जितेन्द्र शुक्ला सहित सभी जिलों के जिला आबकारी अधिकारी मौजूद थे।
श्री अमर अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य में कहीं पर भी मदिरा की अवैध बिक्री परिवहन और मिलावट नहीं होना चाहिए। ऐसी किसी शिकायत पर तत्काल कार्यवाही करते हुए दोषियों पर सख्त कार्यवाही करें। श्री अग्रवाल ने जिला आबकारी अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अधिकारी अपने जिले में संचालित मदिरा दुकानों का निरीक्षण करें। इसके लिए निरीक्षण रोस्टर तैयार किया जाए। निरीक्षण के दौरान दुकानों का भौतिक सत्यापन करंे। इस दौरान ट्रांसपोर्टर, प्लेसमेंट एजेंसी के प्रतिनिधि, आबकारी निरीक्षक और आडिट दल अनिवार्य रूप से मौजूद रहे। वाणिज्यिक कर मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि अपने लक्ष्य प्राप्ति के लिए सजगता से कार्य करें। उन्होंने बार इत्यादि में अवैध मदिरा विक्रय न हो इसके लिए आबकारी विभाग स्काड की टीम सतत निगरानी करें और दोषियों पर तत्काल कार्रवाई करें।
बैठक में सभी जिलों के जिला अधिकारियों से देशी-विदेशी मदिरा दुकानों में परिवहन-भंडारण, मंदिरा दुकानों के फूड सेफ्टी लाइसेंस, दुकानों के निर्माण, सीसी टीवी कैमरे, निर्धारित दर से अधिक दर पर मदिरा विक्रय और अन्य प्रदेशों से आकर बिकने वाली मदिरा के प्रकरणों सहित अन्य विभागीय कार्यों की विस्तार से समीक्षा की गई।

क्रमांक-2383/चौधरी


Secondary Links