रायपुर : शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज रायपुर में छात्र अभिप्रेरणा एवं मार्गदर्शन पर तीन दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न : देश के ग्यारह राज्यों के 29 तकनीकी कॉलेजों के प्राध्यापक हुए शामिल

रायपुर 7 सितम्बर 2017

राजधानी रायपुर स्थित शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज (सेजबहार) में विद्यार्थियों के अभिप्रेरणा तथा मार्ग संबंधी तीन दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न हुई। कार्यशाला 4 सितम्बर को शुरू हुई जिसका समापन 7 सितम्बर को हुआ। कार्यशाला में देश के ग्यारह राज्यों के 29 तकनीकी कॉलेजों एवं राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों के प्राध्यापकगण शामिल हुए।
    कार्यक्रम में श्री योगेश शास्त्री द्वारा कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए चेतना परक एवं मूल्य आधारित शिक्षा पर बल दिया गया। उनके द्वारा परिवार की महत्ता, भौतिकवाद, वैयक्तिक संबंध एवं अध्यापन अवधि में छात्र-छात्राओं की समस्या पर गहन चर्चा की गयी।  आने वाली युवा पीढ़ी को भौतिकता के स्थान पर मौलिक गुणों को अपने आचरण में शामिल करने हेतु प्रेरित करने के लिए कहा गया । शिक्षा एवं व्यवस्था पर आधारित विभिन्न पहलुओं एवं समस्याओं पर अनेक प्रतिभागियों ने अपना विचार प्रस्तुत किया ।
    कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ए.के. दुबे द्वारा सामान्य चेतना, भौतिकवाद एवं सह अस्तित्व  को स्थानीय उदाहरणों के द्वारा स्पष्ट किया गया।  साथ ही उनके द्वारा इस कार्यशाला से प्राप्त विभिन्न बिन्दुओं के क्रियान्वयन एवं उनके दूरगामी परिणाम पर बल दिया गया । कार्यशाला के मुख्य अतिथि श्री योगेश शास्त्री, अभ्युदय संस्थान अछोटी, कुम्हारी, दुर्ग थे। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. ए.के. दुबे एवं वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. आर.एस. परिहार थे। प्रथम सत्र में तकनीकी शिक्षा गुणवत्ता उन्मुखीकरण कार्यक्रम तृतीय चरण (टीक्यूप -3 ) के अंतर्गत आयोजित इस कार्यक्रम के समन्वयक डॉ. आर.एच. तलवेकर द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. श्रीमती श्वेता चौबे, द्वारा किया गया।  कार्यक्रम के दूसरे दिन प्रमुख वक्ता द्वारा अस्तित्व, धर्म, लक्ष्य, विकल्प पर संवाद किया गया। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ए.के. दुबे ने विस्तार से चर्चा कर प्रतिभागियों को मार्गदर्शन दिया। विद्यार्थी अभिप्रेरण एवं मार्गदर्शन के तृतीय दिवस कार्यशाला के अंतर्गत सभी प्रतिभागियों को चेतना विकास एवं परिवार मूलक शिक्षा के व्यवहारिक अध्ययन हेतु अभ्युदय संस्थान अछोटी, कुम्हारी, दुर्ग का भ्रमण कराया गया। कार्यशाला में परिवार मूलक विषयों के विभिन्न बिन्दुओं पर विचार विमर्श व व्याख्यान के पश्चात सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए गए।


क्रमांक- 2428/प्रेमलाल


Secondary Links