गरियाबंद : धान छत्तीसगढ़ की जान है - डॉ. रमन सिंह : दिवाली के पहले बोनस तिहार मनाया जायेगा

गरियाबंद 10 सितम्बर 2017 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने रेडियो प्रसारण रमन के गोठ में कहा कि धान की फसल छत्तीसगढ़ की जान है। धान से ही परिवार का जीवन-यापन चलता है। धान की फसल का प्रदेश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने बताया कि सन् 2003 के पूर्व मुश्किल से 5 लाख मिट्रिक टन धान की खरीदी होती थी, जबकि वर्तमान में कम्प्युटर आधारित पारदर्शी व्यवस्था से किसानों का पूरा धान खरीदने का पुख्ता इंतजाम किया गया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2013-14 में खरीदे गये 78 लाख 35 हजार मीट्रिक टन धान पर 300 रूपये प्रति क्विटंल की दर से बोनस का भुगतान किया गया। वर्ष 2016 में खरीदे गये 69 लाख 59 हजार मीट्रिक टन धान पर प्रति क्विटंल 300 रूपये का बोनस दिया जायेगा। डॉ. सिंह ने कहा कि दिवाली के पहले हर जिले में किसानों को बोनस देकर बोनस तिहार मनाया जायेगा। इसी तरह 2017 की धान खरीदी का बोनस भी 2018 में दिया जायेगा।  
    मुख्यमंत्री के इस घोषणा पर हर्ष व्यक्त करते हुए ग्राम पंचायत के सरपंच मुकेश बिसेन ने कहा कि मुख्यमंत्री हम किसानों के सुख-दुःख के साथी हैं। उन्होंने बोनस की घोषणा करके किसानों का मनोबल बढ़ाया है। गांव के ही सियान टंकेश्वर सोम ने इसे वास्तव में बोनस तिहार निरूपित करते हुए कहा कि अब हम दिवाली खुशी से मनायेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री का धन्यवाद ज्ञापित किया।
    मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अपने रेडियो प्रसारण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को दोहराते हुए कहा कि आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर न्यू इंडिया के निर्माण में सन् 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का राज्य ने रोडमेप तैयार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सन् 2018 तक सम्पूर्ण ओ.डी.एफ. का लक्ष्य प्राप्त किया जायेगा। उन्होंने स्वच्छता पर विशेष जोर देते हुए बताया कि 15 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक सेवा स्वच्छता अभियान मनाया जायेगा, जिसमें जनप्रतिनिधियों की भी भागीदारी होगी। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस 17 सितम्बर को सेवा दिवस के रूप में मनाये जाने की जानकारी भी दी।
    जिले में रमन के गोठ कार्यक्रम को उत्साह से सूना गया। गरियाबंद विकासखण्ड के ग्राम जोबा में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कलेक्टर श्रुति सिंह एवं प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में ग्रामीणों ने रमन के गोठ का श्रवण किया। इस अवसर पर कलेक्टर ने ग्रामीणों की समस्या सुनते हुए उनके निराकरण के निर्देश दिये। उन्होंने ओ.डी.एफ. की जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि गांव के सभी लोग शौचालय का उपयोग कर रहे हैं। कलेक्टर ने मनरेगा भुगतान को समय पर देने के निर्देश दिये, साथ ही हाईस्कूल में शिक्षक की व्यवस्था करने के निर्देश भी उनके द्वारा दिये गये। कार्यक्रम में संयुक्त कलेक्टर ओ.पी. कोसरिया, अनुविभागीय अधिकारी अंकिता सोम, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपानल अधिकारी बी.आर. भगत, जनपद अध्यक्ष चुम्मन बाई सोम, जनपद सदस्य ललित नाग, सरपंच मुकेश बिसेन सहित हिरऊ राम पटेल एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।


समाचार क्रमांक - 1401/पोषण
 


Secondary Links