बिलासपुर : दीपावली से पहले मनाया जाएगा ’‘बोनस तिहार’’ : जिले में लोगों ने उत्साह से सुना ‘रमन के गोठ’

बिलासपुर, 10 सितंबर 2017

 ’’रमन के गोठ’’ की 25वीं कड़ी में आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दीपावली से पहले ‘बोनस तिहार’ मनाने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस 17 सितंबर को सेवा दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
            जिले के लोगों ने मुख्यमंत्री की हर माह प्रसारित होने वाले ’’रमन के गोठ’’ को आज उत्साहित होकर सुना। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने धान पर इस साल दिए जाने वाले बोनस के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि पिछले साल सन् 2016 में खरीदे गए धान पर 300 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस का भुगतान दीपावली पर्व से पहले कर दिया जाएगा। इस वितरण के दौरान ‘बोनस तिहार’ का आयोजन भी किया जाएगा। इसी तरह सन् 2017 में खरीदे जाने वाले धान पर भी बोनस मिलेगा, जो अगले वर्ष वितरित किया जाएगा। बिल्हा विकासखंड के ग्राम नगपुरा के गोवर्धन ने रमन के गोठ पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह सरकार किसानों की हितैषी है। धान पर बोनस मिलने से हर घर में दिवाली से पहले दिवाली मनेगी। मुख्यमंत्री ने बहुत सही बात कही कि धान छत्तीसगढ़ की जान है और  पारदर्शी व्यवस्था से धान खरीदी की मात्रा हर वर्ष बढ़ी है। इसी विकासखंड के ग्राम धमनी के रामाधार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम के बारे में बताया है, जिसमें सन् 2022 तक किसानों की आमदनी दुगनी करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा है कि लाभदायी फसलों की खेती के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जाएगा। यह रोड मैप ग्रामीणों के जीवन स्तर में बहुत बड़ा बदलाव लाने वाला है। मुख्यमंत्री ने यह उत्साहजनक जानकारी दी है कि उद्यानिकी फसल को प्रदेश में बढ़ावा दिया जा रहा है। इन फसलों का रकबा चार गुना तथा उत्पादन पांच गुना बढ़ गया है।
           ग्राम पेन्ड्रीडीह के तुलसीराम ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा 17 सितंबर को प्रधानमंत्री का जन्मदिन सेवा दिवस के रूप में मनाने की जानकारी दी गई है। इस दिन की हम प्रतीक्षा कर रहे हैं, जिसमें स्वच्छता के लिए काम किया जाएगा और चिकित्सा शिविर लगाए जाएंगे।  
            मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में15 सितंबर से 25 सितंबर तक स्कूल-कॉलेजों में विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। छात्र सूरज कश्यप ने कहा कि इस आयोजन से नई पीढ़ी पं. उपाध्याय के व्यक्तित्व और योगदान के बारे में जान सकेगी। ग्रामीण लतेलराम ने कहा कि ग्रामीण अंचलों में इस अवधि में कृषि से संबंधित शासन की योजनाओं की नई जानकारी मिलेगी, जो हमारे लिए लाभकारी होगी।  

      
समाचार क्रमांक/7109/अग्रवाल 

 

 

 

 


Secondary Links