कवर्धा : जनप्रतिनिधियों सहित अधिकारियों-कर्मचारियों एवं नागरिकों ने “रमन के गोठ“ कार्यक्रम को सुना

कवर्धा, 10 सितंबर 2017

प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले मुख्यमंत्री डॉ. रमन के गोठ कार्यक्रम को कवर्धा के वीरसावरकर भवन के सामने नगर पालिका द्वारा आमजनों को सुनाया गया। मुंख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने कार्यक्रम में रेडियों के माध्य में वार्तालाप शैली में कहा कि तीजा, पोला, गणेश चतुर्थी के पश्चात् अब पुरखों को याद करने एवं उन्हें सम्मान देने का समय है। उन्होंने प्रदेश स्थित सभी शक्तिपीठों का स्मरण किया और नवरात्रि तथा दशहरा पर्व की प्रदेश के नागरिकों को बधाई भी दी। उन्होंने महान विभूति पं. दीनदयाल उपाध्याय का स्मरण और नमन करते हुए कहा कि हर युग में ईश्वर ऐसे महापुरूष को धरती पर भेजते हैं, जो समाज और देश को रास्ता दिखाते हैं। पं.दीनदयाल उपाध्याय ने मां भारती की सेवा का रास्ता चुना और देश दुनिया को मानवता का संदेश दिया। समाज के कमजोर वर्गो को ध्यान में रखा, इसके साथ-साथ समरसता और विकास का रास्ता चुना। उन्होंने कहा कि 15 सितंबर से 25 सितंबर के बीच प्रदेश में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों के का आयोजन किया जायेगा। इसके अलावा पं.दीनदयाल उपाध्याय के जीवन से संबंधित विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन स्कूलों में भी किया जायेगा। 25 सितंबर को विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा तथा उनके जीवन से जुड़ी बातों की जानकारी भी दी जायेगी।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पं.दीनदयाल उपाध्याय के नाम से प्रदेश में गरीब तबकों के लिए आवास योजना का संचालन किया जा रहा है, इसके अलावा कोरबा जिले में पं.दीनदयाल उपाध्याय परिसर का निर्माण कराया जा रहा है। रमन के गोठ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी एवं किसानों को बोनस के घोषणा के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि धान की खेती छत्तीसगढ़ की जान है और यह आमजन की पहले प्राथमिकता है, इसे ध्यान में रखते हुए राज्य शासन द्वारा सभी समितियों के माध्यम से धान खरीदी की जाती है। कृषि को लाभकारी बनाने प्रयास किया गया है। इस वर्ष राज्य में कमजोर मानसून होने की वजह से छत्तीसगढ़ एवं केन्द्र की सरकार ने चिंता की और इसलिए तत्काल इसके लिए भी बोनस की घोषणा की गई। किसानों को दीपावली से पहले समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान का बोनस प्रदान कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि 2022 तक देश को आतंकवाद, भष्ट्राचार मुक्त बनाने का प्रयास किया जायेगा, वहीं युवाओं एवं महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए विभिन्न योजनाओं के माध्यम से अवसर प्रदान किया जायेगा। इसके अलावा खेती, उद्यानिकी, डेयरी को भी महत्व दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य के जीवन में स्वच्छता अत्यंत जरूरी है। 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता का अभियान चलाया जायेगा। इस दौरान नगरीय निकायों को खुले में शौचमुक्त घोषित किया जायेगा। उन्होंने 17 सितंबर को प्रधानमंत्री के जन्म दिन के अवसर पर युवा दिवस के रूप में मनाने का आव्हान किया है। इस दौरान सभी सार्वजनिक स्थानों पर स्वच्छता कैंपा के साथ-साथ, स्वास्थ्य कैंप का भी आयोजन किये जायेंगे, इसके लिए सभी संगठनों से और समाज के सभी वर्ग के लोगों को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की बात कहीं।
इस अवसर पर कवर्धा नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती देवकुमारी चन्द्रवंशी ने बातचीत के दौरान कहा कि प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाला रमन के गोठ कार्यक्रम अत्यंत ज्ञानवर्धक एवं उपयोगी है, इसमें एक ओर जहां खेती किसानी शिक्षा की चर्चा होती है, वहीं शासन की विभिन्न योजनाओं के भी जानकारी मिलती है और उन योजनाओं के माध्यम से आगे आमजन को किस तरह लाभ मिलेगा और अधिक से अधिक लोगों तक जानकारी किस प्रकार पहुंचेगी इसका भी उल्लेख होता है। उन्होंने कहा कि 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता के लिए चलाये जाने वाले अभियान के तहत जिले के विभिन्न नगरीय निकाय ओडीएफ घोषित होंगे, इससे स्वच्छता अभियान मूर्त रूप लेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा किसानों को धान बोनस की घोषणा से उनमें अपार हर्ष व्याप्त हुआ है। इस अवसर पर नगर पालिका परिषद के उपाध्यक्ष श्री संतोष गुप्ता,   श्रीमती मधुतिवारी, पार्षद श्री हामिदअली सिद्धिकी, श्री रूपेश जैन, श्री देवा साहू, श्री रामसहाय, श्री सनत साहू सहित कवर्धा नगर पालिका अधिकारी-कर्मचारीगण तथा नागरिकगण विशेष रूप से उपस्थित थे।
क्रमांक-866/एस.शुक्ल/


Secondary Links