मुंगेली : दीपावली के पहले मनाया जायेगा बोनस तिहार- डॉ. सिंह : पं. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में बच्चों ने सुना रमन के गोठ

मुख्यमंत्री ने की लोरमी के युवाओं द्वारा किए जा रहे साफ-सफाई की सराहना

मुंगेली 10 सितम्बर 2017

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सबेरे 10.45 से 11.05 बजे तक अपनी मासिक रेडियोवार्ता रमन के गोठ की 25वीं कड़ी में प्रदेश वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ के किसानों से विगत 13 वर्षो में 6 करोड़ 91 लाख 59 हजार मी. टन धान की खरीदी की है तथा किसानों को सहकारी समितियों के माध्यम से 75 हजार करोड़ रूपए का भुगतान किया है। मुंगेली जिले में लोगों ने उत्साह पूर्वक रमन के गोठ सुना। अनुसूचित जाति बालक क्रीड़ा परिसर मुंगेली के बच्चों ने पं. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में उत्साह से रमन के गोठ को सुना। मुख्यमंत्री ने रमन के गोठ कार्यक्रम में विकासखण्ड मुख्यालय लोरमी के युवाओं द्वारा मनियारी नदी की साफ-सफाई करने, वृक्षारोपण एवं स्वच्छता कार्य पर खुशी व्यक्त करते हुए उनके कार्यो की सराहना की। कृष्ण कुमार और मुकेश जायसवाल ने बताया कि हर रविवार को मनियारी नदी में एकत्र कचड़ों की साफ-सफाई की जाती है। बाल क्रीड़ा परिसर के प्रवीण गेंदले, सुजीत, अमर, महेश, दिलेश्वर, चंद्रपाल, दिलीप, अमन, विकास, शुभम, सत्यनारायण, चंद्रशेखर, कुलेश्वर, रवि, डेविड, निलेश एवं अन्य बच्चों ने बताया कि रमन के गोठ अच्छा लगा। ग्राम सोढ़ी के कृषक धनीराम और रामविलास ने सरकार द्वारा प्रति क्विंटल 300 रूपये बोनस देने की जानकारी मिलने से खुशी व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को नवरात्रि, दशहरा एवं दीपावली की शुभकामनाएं एवं बधाई दी।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने अपने रेडियो प्रसारण में प्रदेश सरकार की किसान हितैषी नीतियों सहित पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर राज्य में होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आव्हान पर छत्तीसगढ़ में भी 15 सितम्बर से दो अक्टूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान चलाया जाएगा। उन्होने कहा कि 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री श्री मोदी का जन्म दिन है। हम सब मिलकर उनका जन्म दिन ‘सेवा दिवस’ के रूप में मनाएं। मुख्यमंत्री ने श्री मोदी के नये कार्यक्रम ‘संकल्प से सिद्धी’ में भी जनभागादारी का आव्हान किया।
    उन्होने रमन के गोठ कार्यक्रम में कहा कि सरकार किसानों की हितैषी है। फसल विविधिकरण, कृषि लागत मे कमी, वैज्ञानिक और तकनीकी उपायों से लाभदायक फसलों की खेती को बढ़ावा देने जैसे कई उपाय किए गए। उत्पादकता में वृद्धि के कारण प्रदेश को तीन बार चावल उत्पादन और एक बार दलहन उत्पादन पर कृषि कर्मण पुरस्कार मिला। बागवानी के क्षेत्र में शानदार उपलब्धि के कारण छत्तीसगढ़ को एग्रीकल्चर लीडरशिप एवार्ड 2017 भी प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2016 में 13 लाख से ज्यादा किसानों से 69 लाख 59 हजार मीटरिक टन धान की खरीदी हुई थी, जिस पर प्रति क्विंटल 300 रूपए की दर से 2100 करोड़ रूपए के बोनस का भुगतान किया जाएगा। उन्होने कहा कि दीपावली के पहले ‘बोनस तिहार’ मनाने और हर जिले में किसानों को बोनस देकर उनका उत्साह बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। डॉ. सिंह ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के व्यक्तित्व और कृतित्व से सबको अवगत कराने के लिए प्रदेश में 15 सितम्बर से 25 सितम्बर तक 11 दिन तक विशेष आयोजन करने की घोषणा राज्य सरकार द्वारा की गई है, ताकि समाज में समरसता के साथ विकास का रास्ता आसान हो सके।

 


Secondary Links