नारायणपुर : नारायणपुर में उत्साहपूर्वक सुना गया रमन के गोठ कार्यक्रम : मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने प्रदेशवासियों को दशहरा पर्व की दी बधाई

दीवाली से पहले मनाया जायेगा बोनस तिहार

नारायणपुर 10 सितम्बर 2017 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ कार्यक्रम’’ की 25 वीं कड़ी को नारायणपुर जिले के नागरिकों और ग्रामीणों ने उत्साहपूर्वक सुना। प्रदेश के मुखिया डॉ रमनसिंह के इस मासिक रेडियो वार्ता को जिले के ग्रामीण ईलाके में ग्रामीणों ने श्रवण करने उत्साह दिखाया। वहीं नगरीय क्षेत्र में नागरिकों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को ध्यानपूर्वक सुना। इस दौरान माओवाद प्रभावित  छोटेडोंगर, खड़कागांव, देवगांव, गरांजी, फरसगांव, बागडोंगरी, भाटपाल, बेनूर, धाैंड़ाई इत्यादि स्थानों में मुख्यमंत्री डॉ.रमनसिंह के वार्ता को तन्मयता के साथ सुना गया। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने अपने मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 25वीं कड़ी में प्रदेशवासियों को दशहरा पर्व की बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश के बस्तर अंचल में 75 दिनों तक मनाये जाना वाला दहाहरा पर्व विश्वविख्यात है, जिसे पूरे बस्तरवासी अगाध श्रद्धा और आस्था के साथ मनाते हैं। अपने मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ कार्यक्रम में आज मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने दीवाली से पहले बोनस तिहार मनाने के बारे में जानकारी दी। वहीं उन्होंने कहा कि 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर सेवा दिवस मनाया जायेगा। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान का बोनस किसानों को देने के बारे में बताया कि पिछले साल 2016 में खरीदे गये धान पर 300 रूपये प्रति क्विंटल की दर से बोनस का भुगतान दीपावली पर्व से पहले कर दिया जायेगा। इस दौरान बोनस तिहार का आयोजन किया जायेगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह ने एकात्म मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के व्यक्तित्व तथा कृतित्व से सबको अवगत कराने के लिए प्रदेश में 15 सितम्बर से 25 सितम्बर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान प्रदेश के सभी स्कूल एवं कॉलेजों मंे पंडित उपाध्याय के जीवन पर केन्द्रित लोक संगीत, नृत्य, नाटक, निबंध, चित्रकला, भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिताएं होंगी। वहीं विश्वविद्यालयों में एकात्म मानववाद पर सम्मेलन-सेमीनार आदि का आयोजन किया जायेगा। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में खेलकूद प्रतियोगिता, स्वास्थ्य शिविरों, कृषि मेला जैसे अनेक आयोजन किये जायेेंगे। 25 सितम्बर को विशेष ग्रामसभा का आयोजन होगा, जहां उनकी जीवनी पढ़कर सुनायी जायेगी। इसके साथ ही विभिन्न विभागों द्वारा अंत्योदय और गरीबी उन्मूलन पर संचालित योजनाओं की जानकारी दी जायेगी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी समारोह का समापन 11 फरवरी 2018 को पंचायतीराज सम्मेलन के रूप में किया जायेगा। पंडित दीनदयाल उपाध्याय संपूर्ण वाग्मय पुस्तक के सेट सभी पंचायतीराज संस्थाओं को उपलब्ध कराये गये हैं, इसके साथ ही समस्त स्थानीय नगरीय निकायांे को उपलब्ध कराये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंहं ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा वर्ष 2022 तक विकसित भारत के परिकल्पना को साकार करने संकल्प से सिद्धी का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 2022 तक आतंकवाद, संप्रदायवाद, जातिवाद, भ्रष्टाचार से मुक्त भारत सहित स्वच्छता, महिला सशक्तीकरण, किसान स्वावलंबी, खुशहाल और समृद्ध भारत बनाने का लक्ष्य रखा है। इस दिशा में कृषि के साथ आनुशांगिक धंधे उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्यपालन, रेशमपालन, लाखपालन, मधुमक्खीपालन सहित वनोपज प्रसंस्करण आदि को जोड़ने के लिए सकारात्मक पहल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की उक्त परिकल्पना के अनुरूप प्रदेश को 2018 तक शत-प्रतिशत विद्युतीकरण और खुले में शौचमुक्त बनाने के लिए व्यापक पहल किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस 17 सितम्बर को प्रदेश के अस्पतालों, महापुरूषों की प्रतिमाओं, बाग-बगीचों, सार्वजनिक स्थलों यथा बस स्टैण्ड,स्कूल-कॉलेज, तालाबों इत्यािद स्थानों पर स्वच्छता अभियान चलाने सहित मेडिकल कैम्प आयोजित करने सहित उक्त आयोजनोें में सक्रिय सहभागिता निभाने का आव्हान प्रदेश की जनता से किया। नारायणपुर जिले में रमन के कार्यक्रम श्रवण करने वाले पंचायत पदाधिकारियों और ग्रामीणों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह सरकार किसानों की हितैषी है। धान पर बोनस मिलने से हर घर में दीपावली से पहले दीवाली मनेगी। इस बारे में देवगांव निवासी प्रगतिशील कृषक श्री महेश देवांगन ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बहुत सही बात कही कि धान छत्तीसगढ़ की जान है और प्रदेश की अर्थव्यवस्था में धान का बड़ा योगदान है। इसी तरह छोटेडोंगर के पंचायत पदाधिकारी सुमन पात्र, शिवधर बेलसरिया और चमनलाल बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने संकल्प से सिद्धी कार्यक्रम के बारंे में बताया है,जिसके तहत वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दुगुनी लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ ही लाभदायी फसलों की खेती के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जायेगा, यह कार्ययोजना किसानों और ग्रामीणों के जीवन स्तर में बहुत बड़ा बदलाव लाने वाला है। नगरीय क्षेत्र मेें रमन के गोठ का श्रवण करने वाले वरिष्ठ नागरिक श्री बृजमोहन देवांगन ने कहा कि 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री जी का जन्म दिन सेवा दिवस के रूप में मनाने की जानकारी दी गई है। इस दिन की हम प्रतीक्षा कर रहे हैं, जिसमेें स्वच्छता के लिए श्रमदान सहित चिकित्सा कैंप लगाये जायेंगे। इसी तरह बागडोंगरी के पंचायत पदाधिकारी श्री दुकारू राम पोटाई और जोहरू लाल वड्डे ने बताया कि मुख्यमंत्री ने किसानों को धान का बोनस देने की घोषणा कर किसानों के मनोबल को बढ़ाया है। वहीं उद्यानिकी फसल को बढ़ावा देने के लिए किये जा रहे प्रयासों को सराहनीय निरूपित किया।
क्रमांक 865

 


Secondary Links