रायपुर : अन्त्योदय के मार्ग पर चलकर सेवा कर रही है सरकार: श्री दयाददास बघेल

रायपुर, 11 सितम्बर 2017

पर्यटन और संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल ने कहा है कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाएं, कार्यक्रम अन्त्योदय के सिद्धांत के आधार पर बनाई गई है। इनके क्रियान्वयन से समाज के कमजोर गरीब लोगों की सेवा करने का कार्य किया जा रहा है। श्री बघेल ने आज यहां सरोना रायपुर में स्थित ’ठाकुर विघ्नहरण सिंह राजपूत भवन’ में संस्कृति विभाग द्वारा लोक कलाकारों के लिए आयोजित पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी समारोह प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारंभ किया। यह 11 से 13 सितम्बर तक आयोजित की गई है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री बघेल ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय एकात्म मानववाद की प्रगतिशील विचारधारा के आधार पर समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति का उत्थान सबसे बड़ी सेवा मानते थे। श्री बघेल ने कहा कि राज्य और केन्द्र सरकार की योजनाएं गरीबों के लिए हैं। राज्य में गरीबों को एक रूपए किलो की दर से चावल उपलब्ध कराया जा रहा है, इससे आज कोई भी गरीब भूखे पेट नहीं सोता है। गरीब के लिए निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं, बच्चों की निःशुल्क शिक्षा, छात्राओं को निःशुल्क साइकिल प्रदान की जा रही है। ऐसी कई योजनाएं अन्त्योदय के आधार पर संचालित की जा रही है। श्री बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जनधन योजना के माध्यम से देश के हर गरीब व्यक्ति का बैंक में खाता खुलवाया है।
संस्कृति मंत्री ने प्रशिक्षण में भाग ले रहे कलाकारों से कहा कि आपको महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी जा रही है कि आप यहां से पंडित दीनदयाल उपाध्याय के गरीबांे के उत्थान के सिद्धांतों को समझकर प्रत्येक जिले में 15 से 25 सितम्बर तक होने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी समारोह के जिला, विकासखंड और गांव स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों में अपनी कला के माध्यम से लोगों तक जानकारी पहुंचाने का महत्वपूर्ण कार्य करें। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पर्यटन मंडल के उपाध्यक्ष श्री केदारनाथ गुप्ता ने कहा कि हमें पंडित दीनदयाल के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कठिन प्रतिकूल परिस्थितियों में शिक्षा ग्रहण की। उनके माता-पिता बचपन में चल बसे थे। बचपन से ही परिवार की जिम्मेदारी संभालते हुए वे अन्त्योदय को सबसे बड़ी सेवा मानते थे। इसी तरह श्री संतोष पाण्डेय ने पंडित उपाध्याय की जीवनगाथा के प्रेरणादायी प्रसंगों का उल्लेख किया। प्रभारी संचालक संस्कृति श्री एम.टी. नंदी ने जन्म शताब्दी समारोह के अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम को प्रसिद्ध लोक कलाकार पद्मश्री सम्मान प्राप्त श्रीमती ममता चंद्राकर, श्री राजेश अवस्थी ने भी सम्बोधित किया। श्री विनोद गोस्वमी ने रोचक कथा वाचन के माध्यम से पंडित उपाध्याय के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में बताया। इसी तरह अन्य विशेषज्ञ वक्ताओं ने कलाकारों को महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर विभिन्न जिलों से आए सांस्कृतिक दलों के कलाकार मौजूद थे।  

क्रमांक-2499/चौधरी


Secondary Links