कोरिया : महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना : लोगो की मांग पर तत्काल मिलेगा रोजगार: कलेक्टर श्री दुग्गा

61 करोड़ 58 लाख से अधिक राषि की 3512 कार्य स्वीकृत
समय-सीमा की बैठक सम्पन्न

कोरिया, 12 सितम्बर 2017

कलेक्टर श्री नरेन्द्र कुमार दुग्गा की अध्यक्षता में आज यहॉ जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में श्री दुग्गा ने चालू मानसून के दौरान वर्षा की स्थिति और खरीफ फसल की स्थिति की जानकारी प्राप्त की। बैठक में श्री दुग्गा ने बताया कि जिले में संभावित सूखे की स्थिति में किसी को परेषान होने की जरूरत नही है। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना के तहत लोगो की मांग पर तत्काल रोजगार दिया जायेगा। इस हेतु जिले में 61 करोड़ 58 लाख से अधिक की राषि की 3 हजार 512 कार्य स्वीकृत किये गये है। उन्होनें बताया कि इनमें विकासखण्ड बैकुण्ठपुर में 683 कार्यो के लिए 12 करोड़ 51 लाख 88 हजार, विकासखण्ड भरतपुर में 820 कार्यो के लिए 11 करोड़ 20 लाख 8 हजार, विकासखण्ड खडगवां में एक हजार 218 कार्यो के लिए 21 करोड़ 23 लाख 7 हजार, विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ में 362 कार्यो के लिए 7 करोड़ 29 लाख 98 हजार और विकासखण्ड सोनहत में 429 कार्यो के लिए 9 करोड़ 33 लाख 33 हजार रूपये की राषि की स्वीकृति दी गई है। उन्होनें बताया कि स्वीकृत इन कार्यो में जल संरक्षण और संवर्धन तथा निस्तारी सुविधा के लिए बोरी बंधान, सड़क, पुल-पुलिया, तालाब एवं डबरी निर्माण कार्य शामिल है। श्री दुग्गा ने बताया कि विगत वर्ष 2016-17 में भी 46 करोड़ 23 लाख से अधिक की राषि की 17 हजार 413 कार्य स्वीकृत किये गये थे। यह कार्य भी नियमित रूप से संचालित किया जा रहा है। बैठक में श्री दुग्गा ने जिले में संचालित दवाई दुकानों के साथ-साथ नर्सिग होम के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होनें जिले में संचालित प्रत्येक नर्सिग होम के जॉच करने के निर्देष दिये। जॉच में उन्होनें नर्सिग होम की पंजीयन, साफ-सफाई, वार्डो में मरीजों को दी जाने वाली सुविधा, एम.टी.पी.एच, आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करने के निर्देष दिये। बैठक में श्री दुग्गा ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित फुलवारी केन्द्रो की जानकारी प्राप्त की। उन्होनें बताया कि कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने के लिए फुलवारी केन्द्रो का संचालन वहॉ की स्थानीय माताओं द्वारा की जा रही है। उन्हें मिलने वाली मानदेय के भुगतान में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही होनी चाहिए। उन्होनें फुलवारी केन्द्रो के माताओं को निर्धारित अवधि में मानदेय भुगतान करने के निर्देष दिये।
बैठक में श्री दुग्गा ने सांसद और विधायक आदर्ष ग्राम में स्वीकृत, निर्मित और निर्माणाधीन कार्यो की जानकारी प्राप्त की। उन्होनें निर्माणाधीन कार्यो को निर्धारित अवधि में पूरा करने के निर्देष दिये। इसी तरह उन्होनें स्कूलों प्रदान की जाने वाली मध्यान्ह भोजन एवं उचित मूल्य दुकानों की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होनें स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के बैंक खाते और आधार कार्ड को लिंक करने के निर्देष दिये। बैठक में श्री दुग्गा ने जिले के विद्युत विहीन गावों और मजराटोलो और पहॅुच विहीन ग्रामो की भी जानकारी प्राप्त की और उन्होनें विघुत विहीन गावों  और मजराटोलो में विघुतीकरण और पहुच विहीन ग्रामों में पुल-पुलिया बनाने के निर्देष दिये।
  बैठक में श्री दुग्गा ने मुख्यमंत्री जनदर्षन और मुख्यमंत्री निवास में प्राप्त आवेदन पत्रों की विस्तारपूर्वक समीक्षा की। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री जनदर्षन और मुख्यमंत्री निवास में प्राप्त आवेदन पत्र महत्वपूर्ण होते है। जिसकी लगातार मानीटरिंग की जा रही है। उन्होने मुख्यमंत्री जनदर्षन और मुख्यमंत्री निवास में लंबित आवेदन पत्रों को अविलंब निराकृत करने के निर्देष दिये। इसी प्रकार उन्होनें आयुक्त कार्यालय, जिला जनदर्षन एवं जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण के लंबित प्रकरणों की भी जानकारी प्राप्त की। बैठक में उन्होनें मौसमी बीमारियों के रोकथाम एवं बचाव, मॉडल स्कूलों का संचालन, कौषल उन्नयन, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, सार्वजनिक वितरण प्रणाली सहित विभिन्न योजनाओं में आधार सीडिंग, डॉ ए.पी.जे षिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत शाला निरीक्षण, स्टेडियम हेतु भूमि की उपलब्धता आदि कार्यो की विस्तार पूर्वक समीक्षा की। इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तुलिका प्रजापति, जिले के अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंषी, बैकुण्ठपुर एवं मनेन्द्रगढ़ के वनमण्डलाधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती निवेदिता पॉल शर्मा, सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं नगरीय निकायों सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी उपस्थित थे।


समाचार क्रमांक 1050

 

 


Secondary Links