रायपुर : गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा ने की विभागीय काम-काज की समीक्षा : पुलिस प्रशासन में और अधिक कसावट लाने के निर्देश

रायपुर, 13 सितम्बर 2017

गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में अपने कक्ष में गृह (पुलिस) विभाग के काम-काज की समीक्षा की। श्री पैकरा ने विभागीय कार्यो में पुलिस को और अधिक कसावट लाने के निर्देश दिये। श्री पैकरा ने पिछले तीन-चार वर्षो में अपराधों में आयी उल्लेखनीय कमी पर संतोष व्यक्त किया। श्री पैकरा ने कहा कि पुलिस विभाग के अधिकारी आम जनता से मित्रवत व्यवहार करें और पुलिस के पास आने वाले ग्रामीणजनों की समस्याओं का कानून के दायरे में रहकर मर्यादित ढंग से निराकरण करने का प्रयास करें, जिससे आमजनों के मन में पुलिस के प्रति विश्वास बना रहे।
बैठक में गृह विभाग के प्रमुख सचिव श्री बी.व्ही. आर. सुब्रमण्यम ने बताया कि पिछले तीन वर्षो में पुलिस भर्ती में स्थानीय युवाओं से दस हजार से अधिक पद भरे गये हैं। इसमें भी बस्तर क्षेत्र के युवाओं की संख्या सबसे अधिक है। क्षेत्र में नक्सल समस्या से निपटने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गये केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों तथा प्रदेश के पुलिस को भारी सफलता मिल रही है और नक्सल घटनाओं में कमी आयी है।
बैठक में पुलिस महानिदेशक श्री एन. उपाध्याय ने विभागीय उपलब्धियों की विस्तार से जानकारी दी। विभागीय समीक्षा के दौरान पुलिस अधिकारियों ने बजट में स्वीकृत नये पुलिस थानों और चौकियां खोले जाने हेतु प्रशासकीय स्वीकृति शीघ्र देने का सुझाव दिया। साथ ही नये पुलिस थानों और चौकियां खोले जाने की अधिसूचना का प्रकाशन भी शीघ्र कराये जाने का सुझाव दिया। ताकि नये पुलिस थाने और चौकी शीघ्र प्रारंभ किये जा सके।
बैठक में संचालक लोक अभियोजन श्री एम.डब्ल्यू अंसारी, गृह विभाग के सचिव श्री अरूण देव गौतम, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री संजय पिल्ले, श्री आर.के. विज, श्री अशोक जुनेजा, श्री टी.जे. लांगकुमेर, श्री पवन देव, पुलिस उप महानिरीक्षक (नक्सल ऑपरेशन) डॉ. आनंद छाबड़ा, सहायक पुलिस महानिरीक्षक और श्री अभिषेक पाठक सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

क्रमांक-2540/भगवती


Secondary Links