रायपुर : मुख्यमंत्री फेलोशिप के लिए राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा रायपुर में 59 उम्मीदवारों के इंटरव्यू

रायपुर, 13 सितम्बर 2017

भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पारदर्शिता और उत्तरदायित्व को सुशासन का प्रमुख तत्व बताया है। उन्होंने सभी दूरदर्शी लक्ष्यों को प्राप्त करने में डिजिटल भारत की महत्वपूर्ण भूमिका बताई है। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ शासन द्वारा प्रशासनिक कार्यों में समन्वय और सहयोग के लिए पेशेवर युवाओं को जोड़ने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री सुशासन फेलोशिप कार्यक्रम शुरू किया है। कार्यक्रम के अंतर्गत 42 फेलोस का चयन किया जाना है। इस फेलोशिप कार्यक्रम के इच्छुक पेशेवरों के लिए आज यहाँ रायपुर के होटल बेबीलोन इन् में इंटरव्यू आयोजित किया गया। जिसमें 59 उम्मीदवारों ने भाग लिया। इंटरव्यू तीन पैनल बनाकर संपन्न किया गया। प्रथम पैनल में श्री अंकित आनंद आईएएस, श्री अन्बलगन पी. आईएएस, प्रो. सुमीत गुप्ता आईआईएम, रायपुर, प्रो. एच. बेक, टिस्स, दुसरे पैनल में श्री मुकेश कुमार आईएएस, श्रीमती संगीता पी. आईएएस, प्रो. प्रद्युम्म दाश, आईआईएम, रायपुर और प्रो. सीता प्रभु, टिस्स शामिल थे। तीसरे पैनल में श्री संजय शुक्ला आईएएस, श्री सिद्वार्थ कोमल परदेशी आईएएस, प्रो. एम. कन्नाधासन, आईआईएम, रायपुर एवं प्रो. अर्चना पराशर शामिल थी।
उल्लेखनीय है, कि इससे पूर्व नई दिल्ली में 10 सितम्बर को इंटरव्यू का आयोजन किया गया, जिसमंे 82 उम्मीदवारों ने भाग लिया। इंटरव्यू के तीसरे और अंतिम चरण में बेंगलुरु में दिनांक 17 सितम्बर 2017 को 64 उम्मीदवारों के इंटरव्यू लिए जायेंगे।
छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसायटी, चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एलेक्स पॉल मेनन ने बताया कि 42 फेलोस में से 2 मुख्यमंत्री सचिवालय, 01 मुख्य सचिव कार्यालय, 12 विभिन्न विभागों और 27 फेलोस राज्य के सभी जिला कलेक्टर कार्यालयों में कार्य करेंगे। श्री मेनन ने बताया कि सभी 42 फेलोस प्रशासनिक अधिकारियों के मित्र, समन्वयक और सहयोगी के रूप में कार्य करेंगे।

क्रमांक-2542/सोलंकी


Secondary Links