रायगढ़ : डेंगू बीमारियों से घबराएं नहीं-कलेक्टर : चिकित्सकों की सलाह एवं मार्गदर्शन में ही पैथालॉजी संचालक मरीजों का टेस्ट करें

जनप्रतिनिधियों एवं जनसामान्य से शहर को साफ-सुथरा रखने में सहयोग की अपील

डेंगू की रोकथाम, सुरक्षित उपाय के लिए डॉक्टर्स की ली बैठक

रायगढ़, 13 सितम्बर 2017

कलेक्टर श्रीमती शम्मी आबिदी ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में स्वास्थ्य विभाग के तहत मेडिकल कालेज, जिला चिकित्सालय के साथ ही निजी चिकित्सालय के डॉक्टरों एवं पैथालॉजी संचालकों की जिले में डेंगू की रोकथाम और सुरक्षित उपाय के संबंध में बैठक ली। उन्होंने जनप्रतिनिधियों एवं जनसामान्य से अपील करते हुए कहा कि डेंगू बीमारी से नहीं घबराएं। यह साधारण बीमारियों की तरह है। इसके प्रति लोगों में तरह-तरह की भ्रांतियां फैली है। इसको दूर करना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। उन्होंने लोगों को अपने घरों के आसपास सफाई का विशेष ध्यान रखने के साथ ही सुरक्षित साधनों का भी उपयोग करने का आग्रह किया। 

कलेक्टर ने जिले को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए जनसामान्य को जिला प्रशासन का सार्थक सहयोग प्रदान करने आग्रह किया, ताकि मच्छरों से होने वाले विभिन्न प्रकार की बीमारियों का तत्काल निदान किया जा सके। उन्होंने बैठक में उपस्थित पैथालॉजी संचालकों को निर्देशित करते हुए कहा कि बिना डॉक्टरों के रिफर किए बगैर मरीजों का पैथालॉजी में जांच न करें। चिकित्सकों की सलाह एवं उनके मार्गदर्शन में ही मरीजों का टेस्ट करने के निर्देश दिए है। साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर, गरीब, बीपीएलधारी एवं जरूरतमंद लोगों का ईलाज प्राथमिकता से करें। कोई भी मरीज ईलाज से वंचित न होने पाए, इसका विशेष ध्यान रखें। उन्होंने जरूरतमंद मरीजों से ज्यादा फीस नहीं लेने की भी बात कही। 

कलेक्टर श्रीमती आबिदी ने निजी चिकित्सालय के डॉक्टरों को अवगत कराते हुए कहा कि डेंगू से प्रभावित मरीजों के लिए ईलाज के सारी सुविधा उपलब्ध कराएं। साथ ही मेडिकल कालेज एवं जिला चिकित्सालय में (प्लेटलेस)खून का प्रत्यारोपण की व्यवस्था करायी गई है। इसके लिए जिंदल हास्पीटल से सहयोग लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज को खून प्रत्यारोपण की आवश्यकता उस स्थिति में पड़ती है जब मरीज के शरीर में प्लेटलेस की संख्या बहुत कम हो अर्थात बीस हजार से कम होता है तो उस परिस्थिति में प्रभावित मरीज को खून का प्रत्यारोपण करने की आवश्यकता पड़ती है। 

कलेक्टर ने सभी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि लोगों के मन में डेंगू बीमारी के प्रति बनी भ्रांतियों को दूर करने के लिए काऊसिलिंग की सुविधा उपलब्ध करायें। साथ ही जिन हास्पीटल में डेंगू के पॉजीटिव केस आते है उनकी ऑनलाईन रिपोर्टिंग तत्काल करें। नगर निगम अधिकारियों को जिले के सभी वार्डो में साफ-सफाई की उपलब्धता तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए एवं बरसात के कारण जिन जगहों पर पानी के ठहराव की स्थिति बनी है, उन स्थानों से तत्काल पानी निकासी का कार्य प्रारंभ कराएं। कलेक्टर ने कहा कि जिले में दो-तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। इसके मद्देनजर विभिन्न बीमारियों की रोकथाम के लिए प्रतिदिन शहरों में दवाई का छिड़काव प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए है। साथ ही संजय काम्पलेक्स, लालटंकी, गांजा चौक, चांदनी चौक आदि विशेष चिन्हांकित जगहों पर निगरानी रखने के लिए भी कहा गया है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एच.एस.उरांव, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ.टी.जी.कुलवेदी, मेडिकल कालेज, जिला चिकित्सालय एवं निजी चिकित्सालय के डॉक्टर्स और पैथालॉजी के संचालकगण उपस्थित थे।  

स.क्र./61/ नूतन
      

 

 


Secondary Links