अम्बिकापुर : सामुदायिक वन अधिकार शीघ्र उपलब्ध कराएं - कलेक्टर : सामुदायिक वन अधिकार पत्र संबंधी जनपद स्तरीय कार्यशाला का आयोजन

अम्बिकापुर 13 सितम्बर 2017

कलेक्टर एवं जिला स्तरीय वन अधिकार समिति की अध्यक्ष श्रीमती किरण कौषल की अध्यक्षता में आज जनपद पंचायत कार्यालय सभाकक्ष अम्बिकापुर मंे सामुदायिक वन अधिकार संबंधी कार्यषाला का आयोजन किया गया। कार्यषाला को सम्बोधित करते हुए कलेक्टर ने कहा कि जिन ग्रामों में वन भूमि स्थित है तथा ग्रामीणों द्वारा विभिन्न प्रयोजनों के लिए वन भूमि का उपयोग किया जा रहा है तो ऐसे भूमि का चिन्हांकन करते हुए ग्राम स्तरीय वन अधिकार समिति से प्रस्ताव पास कराकर 20 सितम्बर तक अनुभाग स्तरीय वन समिति में जमा करना सुनिष्चित करें। उन्होंने कहा कि यदि किसी ग्राम में वन भूमि स्थित नहीं है तो इस आषय की लिखित जानकारी संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा दी जाए। गौरतलब है कि अम्बिकापुर जनपद अंतर्गत कुल 86 ग्राम पंचायतों में से 20 ग्राम पंचायतों में वन भूमि स्थित है, जिसके सामुदायिक उपयोग हेतु संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्ताव दिया जाना है।
कार्यषाला में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री जे.आर.नागवंषी द्वारा सामुदायिक वन  अधिकार के संबंध में अधिनियम की विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को विद्यालय, औषधाल या अस्पताल, आंगनबाड़ी, उचित मूल्य की दुकान, विद्युत और दूरसंचार लाइने, टंकियां और अन्य लघु जलाषय, पेयजल की आपूर्ति और जल पाइपलाइन, जल या वर्षा जल संचयन संरचनाएं, लघु या वर्षा जल संचयन संरचनाएं, अपारंपिक उर्जा स्त्रोत, कौषल उन्नयन या व्यावसायिक प्रषिक्षण केन्द्र, सड़के और सामुदायिक केन्द्र आदि के लिए ग्रामीणों को सामुदायिक वन अधिकार पत्र देने का प्रावधान है। कार्यषाला के दौरान सहायक संचालक श्री डी.पी.नागेष एवं तहसीलदार श्री रमेष मोर द्वारा भी सामुदायिक वन अधिकार के संबंध में जानकारी दी गई। कार्यषाला में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री बी.के. अग्रवाल, ग्राम स्तरीय वन अधिकारी समिति के अध्यक्ष, पंचायत सचिव, पटवारी एवं बीट गार्ड उपस्थित थे।  
समाचार क्रमांक 1731/ 2017


Secondary Links