बालोद : डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान : कलेक्टर ने पण्डरदल्ली के स्कूल में ली छात्रों की क्लास : सुनहरे भविष्य निर्माण के लिए कड़ी मेहनत करने किया प्रेरित

बालोद, 13 सितम्बर 2017

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर आज डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान के अंतर्गत नगर पालिका परिषद दल्लीराजहरा के वार्ड क्रमांक-02 के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला पण्डरदल्ली पहुॅचे। वहॉ उन्होेंने छात्रों तथा शिक्षकों की उपस्थिति की जानकारी ली और कक्षा छठवीं से आठवीं तक के बच्चों से रूबरू होकर उनसे पढ़ाई-लिखाई की जानकारी ली। उन्होंने छात्रों से बातचीत करते हुए गणित, विज्ञान और अन्य संबंधित विषयों में पढ़ने, बोलने और लिखने के स्तर का आंकलन किया। कलेक्टर ने छात्र-छात्राओं को सुनहरे भविष्य निर्माण के लिए कड़ी मेहनत करने उन्हें प्रेरित किया।
        कलेक्टर डॉ. मित्तर ने छात्रों की क्लास लेते हुए उन्हें गणित विषय में बॉडमास का नियम विस्तारपूर्वक बताया और स्वयं बॉडमास के नियमों के आधार पर गणित के सवालों को ब्लैकबोर्ड में हल कर छात्रों को समझाया। कलेक्टर द्वारा दिए गए गणित के सवालों को छात्रों ने भी बॉडमास के नियम के आधार पर हल किया। जिस पर उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की। कलेक्टर ने छात्रों को विज्ञान विषय के बारे में सवाल करते हुए उन्हें बहुत सी रोचक जानकारियॉ भी दी। उन्होंने छात्रों से सौरमण्डल के ग्रहों के नाम व सौरमण्डल में ग्रहों की स्थिति की जानकारी दी। छात्रों ने भी सौरमण्डल में ग्रहों के बारे में पूछे गए सवालों का सही जवाब दिया। कलेक्टर ने छात्रों को ग्लोब के माध्यम से पृथ्वी के घुर्णन गति से दिन-रात होने की प्रक्रिया, परिक्रमण गति से मौसम परिवर्तन होने तथा पृथ्वी के झुकाव व सौरमण्डल में स्थिति की विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
        कलेक्टर ने कक्षा सातवीं की छात्र-छात्राओं को अपने समक्ष परखनली, गुब्बारा, मोमबत्ती और पानी के माध्यम से एक प्रयोग कराया। प्रयोग में परखनली में रखे पानी को गर्म कर भाप बनाने और गर्म भाप से गुब्बारे को फुलाया गया। इस प्रयोग में गर्म भाप के महत्व को समझाया गया। उन्होंने गर्म भाप से चलने वाले इंजन, बिजली उत्पादन आदि के बारे में बताया। कलेक्टर ने मानव निर्मित उपग्रहों की आवश्यकता व उपयोगिता की भी उदाहरण सहित छात्र-छात्राओं को विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
        कलेक्टर ने छात्र-छात्राओं को सामान्य ज्ञान के सवाल पूछकर उनके सामान्य ज्ञान के स्तर को परखा। उन्होंने छात्र-छात्राओं से भविष्य में उनके कैरियर निर्माण के बारे में पूछा, छात्रों ने डॉक्टर, इंजिनियर, पुलिस, वकील व शिक्षक बनने की बात कही। उन्होंने छात्र-छात्राओं को सुनहरे भविष्य निर्माण के लिए खूब मन लगाकर पढ़ाई करने प्रोत्साहित किया। उन्होने कहा कि कड़ी परिश्रम से ही सफलता मिलती है। कलेक्टर ने उपस्थित शिक्षकों को भी जिम्मेदारीपूर्वक अध्यापन कार्य कराने निर्देशित किया। कलेक्टर ने शाला में मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता के बारे में छात्र-छात्राओं से पूछा। छात्रों ने मध्यान्ह भोजन अच्छा मिलने की बात कही। कलेक्टर ने छात्र-छात्राओं को भोजन से पहले व भोजन के बाद साबुन से हाथ धोने प्रेरित किया। उन्होंने वहॉ प्राथमिक तथा माध्यमिक शाला का निरीक्षण कर सभी कक्षों में दो-दो ट्यूबलाईट लगाने और शाला परिसर में एक वॉटर प्यूरिफायर लगाने के निर्देश दिए। शिक्षकों द्वारा शाला परिसर में पानी निकासी की समस्या बताए जाने पर कलेक्टर ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी दल्लीराजहरा को आवश्यक निर्देश देने की बात कही। इस अवसर पर जिला मिशन समन्वयक श्री पी.सी.मरकले उपस्थित थे।
क्रमांक/422


Secondary Links