रायपुर : जल संसाधन सचिव की अध्यक्षता में विभागीय समीक्षा बैठक : अभियान लक्ष्य भागीरथी: सिर्फ एक साल में एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा रकबे में सिंचाई सुविधाओं का सृजन

रायपुर, 15 सितम्बर 2017

राज्य सरकार के अभियान लक्ष्य भागीरथी के तहत छत्तीसगढ़ में लगभग सिर्फ एक साल में एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा रकबे में सिंचाई सुविधाओं का सृजन करने में जल संसाधन विभाग को शानदार सफलता मिली है। विभाग के सचिव श्री गणेश शंकर मिश्रा ने आज यहां स्टेट डाटा सेंटर में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर इस अभियान की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इस अभियान में राज्य की वर्षों से अपूर्ण सिंचाई परियोजनाओं को योजनाबद्ध ढंग से पूर्ण किया जा रहा है। पिछले साल इस अभियान में एक लाख हेक्टेयर से भी ज्यादा रकबे में सिंचाई सुविधाओं का सृजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए श्री मिश्रा ने अधिकारियों को पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी इसी उत्साह के साथ सिंचाई क्षमता विकसित करने के निर्देश दिए। श्री मिश्रा ने कहा - प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लगभग डेढ़ महीने पहले नई दिल्ली में 21 जुलाई को आयोजित मुख्यमंत्रियों की बैठक में छत्तीसगढ़ सरकार के अभियान लक्ष्य भागीरथी की तारीफ करते हुए अन्य राज्यों को भी इसे  एक रोल मॉडल के रूप में अपनाने की सलाह दी थी। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल भी समय-समय पर इस अभियान की गहन समीक्षा कर रहे हैं। आज की समीक्षा बैठक में जल संसाधन सचिव ने अभियान के तहत लक्ष्य पूर्ति में उल्लेखनीय योगदान देने वाले डोंगरगांव और तिल्दा जल संसाधन संभाग के कार्यपालन अभियंताओं को राज्य शासन की ओर से प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की। श्री मिश्रा ने आज की बैठक में प्रदेश के समस्त कार्यपालन अभियंताओं से लक्ष्य भागीरथी अभियान की सिंचाई परियोजनावार जानकारी ली और इस वर्ष के अपेक्षित लक्ष्य को 15 मार्च तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा कि विभागीय योजनाओं मे अर्जित जमीन का नामांतरण शासन के पक्ष करवाकर अभिलेखों को जल्द से जल्द दुरूस्त किया जाए।

क्रमांक-2597/स्वराज्य


Secondary Links