रायपुर : मतदाताओं का राष्ट्रीय स्तर पर तैयार होगा डाटाबेस

      रायपुर, 19 सितम्बर 2017

मतदाताओं का राष्ट्रीय स्तर पर डाटा बेस तैयार किया जाएगा। इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा ईआरओनेट (ERONET) ने गत 14 अगस्त को ही शुरू कर दी गई है। देश भर के सभी निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी इसी साफ्टवेयर में कार्य करेंगे। इस साफ्टवेयर में मतदाताओं को आॅनलाईन कार्य करने की सुविधा होगी तथा वे अपने आवेदन की स्थिति की भी जांच कर सकेंगे।

      मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू ने आज यहां बताया कि इस सिस्टम में राष्ट्रीय स्तर पर एक मतदाता का नाम एक से अधिक जगह पर दर्ज होने पर इनकी पहचान करने में आसानी होगी। निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी मतदाताओं की एक से अधिक जगह प्रविष्टि पाए जाने पर समुचित जांच कर नाम विलोपित कर सकेंगे। मतदाता सूचियों के शुद्धिकरण के लिए ईआरओनेट शुरू की गई है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली द्वारा पूर्व में राष्ट्रीय निर्वाचक नामावली परिशोधन तथा प्रमाणीकरण कार्यक्रम (NERPAP) के दौरान फरवरी 2015 में मतदाता फोटो पहचान कार्ड को आधार नंबर से लिंक करने के निर्देश दिए गए थे। माननीय सर्वोच्च न्यायालय के अंतरिम आदेश के पालन में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस प्रक्रिया को अगस्त 2015 में ही तत्काल बंद कर दिया गया था। वर्तमान में आधार नंबर को लिंक करने की प्रक्रिया प्रचलित नहीं है।

क्रमांक 2657 /राजेश


Secondary Links