रायपुर : संशोधित समाचार : बाल्को का 1200 मेगावाट ताप बिजली संयंत्र तत्काल बंद करवाने के निर्देश

राखड़ बांध क्षतिगस्त होने की घटना को
पर्यावरण संरक्षण मंडल ने गंभीरता से लिया

पर्यावरण संरक्षण मंडल अध्यक्ष श्री अमन कुमार सिंह के
निर्देश पर की जा रही कड़ी कार्रवाई

रायपुर, 24 सितम्बर 2017

राज्य सरकार ने भारत एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (बाल्को) के कोरबा स्थित 1200 मेगावाट ताप बिजली संयंत्र के राखड़ बांध के क्षतिग्रस्त होने और उसकी वजह से निकटवर्ती नाले का पानी प्रदूषित होने के मामले को गंभीरता से लिया है। छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल के अध्यक्ष श्री अमन कुमार सिंह ने मंडल के कोरबा स्थित क्षेत्रीय अधिकारी को यह निर्देश दिए हैं कि संयंत्र को नियमानुसार तत्काल बंद करवाया जाए। यह कार्रवाई जल प्रदूषण (निवारण एवं नियंत्रण) अधिनियम 1974 की धारा 33 (क) के तहत की गई है।
ज्ञातव्य है कि इस ताप विद्युत संयंत्र के राखड़ बांध (ऐश डाईक) क्रमांक-6 की द्वितीय रेजिंग का ऊपरी हिस्सा कल दोपहर क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके फलस्वरूप भारी मात्रा में राखड़ मिश्रित पानी निकटवर्ती बेलगिरी नाले में चला गया। सूचना मिलते ही पर्यावरण संरक्षण मंडल ने तत्काल इस घटना को संज्ञान में लिया और बाल्को प्रबंधन को न सिर्फ क्षतिग्रस्त राखड़ बांध (ऐश डाईक) की मरम्मत तुरंत करवाने के निर्देश दिए, बल्कि यह भी सुनिश्चित किया गया कि सलरीयुक्त पानी बेलगिरी नाले में न जाए।
पर्यावरण संरक्षण मंडल के अध्यक्ष श्री अमन कुमार सिंह ने मंडल के कोरबा स्थित क्षेत्रीय अधिकारी को यह संयंत्र तत्काल बंद करवाने के निर्देश दिए। वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है। पर्यावरण संरक्षण मंडल ने बाल्को प्रबंधन के 1200 मेगावाट ताप बिजली संयंत्र की राखड़ बांध (ऐश डाईक) की उंचाई बढ़ाने के लिए जारी अनापत्ति प्रमाण पत्र पर पुनः विचार किया जा रहा है। अध्यक्ष श्री सिंह ने राज्य के ताप बिजली संयंत्रों सहित सभी प्रकार के उद्योगों को पर्यावरण नियमों का गंभीरता से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।


 क्रमांक-2735/स्वराज्य

 


Secondary Links