रायपुर : केन्द्र सरकार के मुद्रा प्रोत्साहन अभियान की तैयारी शुरू : राजधानी रायपुर में तीन अक्टूबर को वित्तीय समावेशन शिविर

आयोजन के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक

रायपुर, 25 सितम्बर 2017

राज्य सरकार द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष और केन्द्र सरकार के मुद्रा प्रोत्साहन अभियान के तहत राजधानी रायपुर में अगले महीने की तीन तारीख को वित्तीय समावेशन शिविर लगाया जाएगा। यह शिविर स्थानीय अग्रसेन धाम के विशाल सभाकक्ष में आयोजित किया जाएगा। मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में संबंधित विभागों और बैंकों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर शिविर की तैयारियों की समीक्षा की। राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के प्रतिनिधियों ने बैठक में बताया कि शिविर में सभी बैंकों के स्टॉल लगाए जाएंगे, जहां आवेदकों को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण स्वीकृति की प्रक्रिया सुनिश्चित की जाएगी। इसके अंतर्गत उन्हें विभिन्न व्यवसायों के लिए मौके पर ही ऋण दिलाने का प्रयास किया जाएगा। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में प्रदेश के सफल हितग्राहियों को, जिन्होंने अपने कारोबार में कैशलेस लेन-देन शुरू कर दिया है और जो इसके लिए भारत सरकार के ‘भीम एप्प’ का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें भी शिविर में आमंत्रित किया जाएगा। राज्य और केन्द्र सरकार की विभिन्न हितग्राहीमूलक ऋण योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी दी जाएगी। राजधानी रायपुर और जिला मुख्यालय दन्तेवाड़ा में बैंकों द्वारा फाइनेंस किए गए ई-रिक्शों की सफलता को देखते हुए तीन अक्टूबर के रायपुर शिविर में अधिक से अधिक संख्या में ई-रिक्शा फाइनेंस करने का भी प्रयास होगा। इसके अलावा लोगों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और अन्य योजनाओं के बारे में भी बताया जाएगा। मुख्य सचिव श्री विवेक ढंाड ने अधिकारियों से कहा कि शिविर में जनप्रतिनिधियों और चेम्बर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाए। शिविर की तैयारी बैठक में वित्त विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमिताभ जैन, संचालक, संस्थागत वित्त डॉ. कमलप्रीत सिंह, कलेक्टर श्री ओ.पी. चौधरी, भारतीय स्टेट बैंक (छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश) के मुख्य महाप्रबंधक श्री के.टी. अजीत और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) भारतीय जीवन बीमा निगम तथा अन्य संबंधित संस्थाओं और विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।  


क्रमांक-2745/स्वराज्य

 


Secondary Links