रायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : सरगुजा के पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा रायपुर और नया रायपुर : चार जिलों के 541 पंच-सरपंच आए हैं राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

रायपुर. 04 अक्टूबर 2017

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए सरगुजा, बलरामपुर-रामानुजगंज, सूरजपुर और जशपुर के पंच-सरपंचों ने रायपुर एवं नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। चारों जिलों से 541 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। इनमें बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के 147, सरगुजा के 145, जशपुर के 140 और सूरजपुर जिले के 109 पंच-सरपंच शामिल हैं।

      अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन आज पंच-सरपंचों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर, फाइव-डी इमर्सिव डोम देखा। पंचायत प्रतिनिधियों ने विधानसभा का सदन उस स्थान से देखा जहां मंत्री और विधायक बैठकर राज्य की नीतियों एवं दशा-दिशा पर चर्चा करते हैं। उन्हें कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में जानकारी दी गई। पंच-सरपंच साइंस सेंटर में विज्ञान के विभिन्न चमत्कारों और अनुप्रयोगों से परिचित हुए।

अध्ययन भ्रमण के पहले दिन कल पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय और शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण किया। जंगल सफारी में वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देख वे खासे रोमांचित हुए। पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय के विभिन्न ब्लॉकों का भ्रमण कर वहां की कार्यप्रणाली और शासन-प्रशासन के कार्यों को समझा। शाम को पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें छत्तीसगढ़ से जुड़े पौराणिक आख्यानों, इतिहास, पुरातत्व, छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण की कहानी एवं अब तक के विकास के सफर के साथ ही शासन की अनेक योजनाओं की जानकारी दी गई।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने गांवों में विकास योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए। इस दौरान विभागीय अधिकारियों और विषय विशेषज्ञों ने राज्य शासन की योजनाओं के बारे में उन्हें विस्तार से जानकारी दी।

क्रमांक-2846/कमलेश


Secondary Links