रायपुर : कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने किसानों को वितरित की 33 करोड़ 11 लाख धान बोनस की राशि : किसानों के खाते में ऑनलाईन धान बोनस राशि पहुंची

लगभग 36 करोड़ रूपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण

रायपुर, 07 अक्टूबर 2017

धान बोनस तिहार प्रदेश के किसानों की खुशहाली के लिए है, ताकि किसान आने वाले दीपावली का त्यौहार अच्छे से मना सकें। उक्ताशय के विचार कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज जिला मुख्यालय बलरामपुर में आयोजित बोनस तिहार के अवसर पर व्यक्त किए। कृषि मंत्री के कार्यक्रम में कम्प्यूटर में एक क्लिक करते ही बलरामपुर जिले के 16 हजार 242 कृषकों के खाते में 33 करोड़ 11 लाख रूपये की धान बोनस राशि जमा हो गई। श्री अग्रवाल ने कार्यक्रम में 35 करोड़ 07 लाख 85 हजार रूपये के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन एवं शिलान्यास तथा 83 लाख 99 हजार रूपये के नवनिर्मित निर्माण कार्यों का लोकार्पण भी किया गया।
    बलरामपुर के हाईस्कूल मैदान में आयोजित बोनस तिहार के कार्यक्रम में प्रदेश के कृषि मंत्री तथा बलरामपुर जिले के प्रभारी श्री अग्रवाल ने वहां उपस्थित हजारों किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के किसानों को दीपावली के पहले धान बोनस की राशि देकर बोनस त्यौहार मनाने का अवसर दिया है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि बलरामपुर को जिला बनाने एवं नक्सल मुक्त कराने सहित जिले में कृषि और उद्यानिकी के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में किया गया है। कृषि मंत्री ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए धान की खेती के अलावा दलहन, तिलहन, पशुपालन, मछली पालन सहित उद्यानिकी की खेती करने की सलाह किसानों को दी। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा को खेती-किसानी के लिए उपयोगी बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में स्प्रिंकल एवं ड्रीप सिंचाई के माध्यम से सिंचित रकबे को बढ़ाने में उल्लेखनीय सफलता मिली है। श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से प्रदेश में 100 करोड़ के कार्य हुए है। कृषि मंत्री ने प्रधानमंत्री स्वायल हेल्थ कार्ड योजना के तहत् खेती की जमीन का मिट्टी परीक्षण कर उचित मात्रा में खाद डालने तथा जैविक खेती को अपनाने पर जोर दिया। श्री अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे उपायों एवं फायदों के बारे में किसानों को बताया। जैविक खेती टिकाऊ खेती होती है। इस पद्धति में खेती करने से जमीन का उपजाऊपन बना रहता है। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की मंशा है कि किसानों को कम लागत में अधिक से अधिक आय प्राप्त हो। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा अनेक योजनाएं शुरू की गई है।
गृहमंत्री श्री रामसेवक पैकरा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार किसानों का सच्चा साथी है। बलरामपुर जिले को नक्सल मुक्त कराने का कार्य सरकार ने किया है। सूखे और बरसात की कमी से चिंतित किसानों को धान बोनस देकर प्रदेश सरकार ने किसानों को बहुत बड़ा भरोसा दिया है।  उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के शासन काल में बलरामपुर जिले में सड़कों का जाल बिछा है। इन सड़कों में सुगम आवाजाही के लिए बड़ी संख्या में पुल-पुलिए बनाए गए हैं। शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की दिशा में भी परिणाममूलक कार्य किए गए हैं। किसानों को खेती-किसानी के लिए बिना ब्याज के अल्पकालीन कृषि ऋण देकर किसानों की बहुत बड़ी चिंता दूर की गई है। अल्पकालीन कृषि ऋण में नगद और खाद उपलब्ध कराई जाती है। इससे किसानों को खेती-किसानी की शुरूआत करते समय ही नगद और अन्य कृषि आदान सामग्री मिल जाती है। गृहमंत्री ने किसानों से आधुनिक तकनीकी से खेती कर अधिक से अधिक आय प्राप्त करने का आग्रह किया।
    कार्यक्रम में उपस्थित राज्यसभा सांसद श्री रामविचार नेताम ने कहा कि प्रदेश के किसानों को दीपावली के पहले धान बोनस वितरण किया जा रहा है। बलरामपुर जिले के 16 हजार से अधिक किसानों को 33 करोड़ 11 लाख रूपये का धान बोनस मिलेगा। कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने आज ऑनलाइन के जरिए किसानों के खाते में वितरण कर दिया  है। उन्होंने किसानों से बोनस राशि का सही काम में उपयोग करने को कहा । श्री नेताम ने इस वर्ष समर्थन मूल्य में 80 रूपये प्रति क्विंटल राशि बढ़ाये जाने की जानकारी भी किसानों को दी। लोकसभा सांसद श्री कमलभान सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह किसानों के हितैषी एवं शुभचिंतक हैं। कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने स्वागत उद्बोधन दिया। इस अवसर पर जिला पंचायत बलराममपुर की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा नेताम, उपाध्यक्ष श्री तिलासाय सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा किसान बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

क्रमांक-2904/मरकाम/राजेश


Secondary Links