रायपुर : राजधानी रायपुर में नौ अक्टूबर को सर्वदलीय संवाद : छत्तीसगढ़ राज्य वित्त आयोग का आयोजन

रायपुर, 07 अक्टूबर 2017

 छत्तीसगढ़ राज्य वित्त आयोग द्वारा सोमवार 9 अक्टूबर को राजधानी रायपुर के टैगोर नगर स्थित अपने कार्यालय में अपरान्ह 3.30 बजे सर्वदलीय संवाद का आयोजन किया जा रहा है। आयोग ने इस कार्यक्रम में प्रदेश के सभी पंजीकृत, राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त और गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के अध्यक्षों, सचिवों और संगठनों के संयोजकों को आमंत्रित किया है। सर्वदलीय संवाद में आयोग के अध्यक्ष श्री चन्द्रशेखर साहू और सदस्य श्री नरेश चंद्र गुप्ता सभी आमंत्रित प्रतिनिधियों से पंचायतरात संस्थाओं और नगरीय निकायों को आर्थिक दृष्टि से मजबूत बनाने के लिए चर्चा करेंगे। आयोग के अध्यक्ष श्री साहू ने बताया कि आयोग इस विषय में अपने प्रतिवेदन को अधिक पारदर्शी और समावेशी बनाना चाहता है। उन्होंने कहा - इसी उद्देश्य से सर्वदलीय संवाद का आयोजन किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि श्री चन्द्रशेखर साहू की अध्यक्षता में गठित यह तृतीय राज्य वित्त आयोग है। इसका गठन 20 जनवरी 2016 को किया गया था। राज्य वित्त आयोग की सिफारिशंे पांच साल तक लागू रहती है। आयोग के अध्यक्ष श्री साहू ने यह भी बताया कि तृतीय वित्त आयोग द्वारा विषय विशेषज्ञों और प्रथम तथा द्वितीय वित्त आयोग के पदाधिकारियों से निरंतर बैठक और चर्चा कर कार्य योजना तैयार की गई। प्रदेश की सभी 10 हजार 971 ग्राम पंचायतों, 146 जनपद पंचायतों, 27 जिला पंचायतों, 13 नगर निगमों, 44 नगर पालिकाओं और 111 नगर पंचायतों से जानकारी प्राप्त करने के लिए आयेाग द्वारा प्रत्येक स्तर पर अलग-अलग प्रश्नावली उन्हें भेजी गई। प्रदेशभर से इन पंचायती राज और नगरीय निकाय संस्थाओं से मिली जानकारी को संकलित कर उन्हें कम्प्यूटरों में दर्ज किया जा रहा है। डाटा एंट्री का कार्य पूर्णता की ओर है। आयोग द्वारा प्रदेश के सभी सांसदों, विधायकों, निगमों, मंडलों और आयोगों के अध्यक्षों को भी समय-समय पर पत्र भेजकर सुझाव आमंत्रित किए गए है।
श्री चन्द्रशेखर साहू ने बताया - तृत्तीय छत्तीसगढ़ वित्त आयोग ने नई दिल्ली में राज्य के सांसदों को छत्तीसगढ़ भवन में बैठक में आमंत्रित कर उनके सुझाव प्राप्त किए गए है। आयोग के अध्यक्ष और सदस्य ने गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और आंध्रप्रदेश जाकर वहां के राज्य वित्त आयोगों की कार्यप्रणाली का अध्ययन किया है। छत्तीसगढ़ के सभी पांच संभागों में आयोग के पदाधिकारियों ने पंचायत राज संस्थाओं और नगरीय निकायों के प्रतिनिधियों और मैदानी अधिकारियों की बैठक लेकर उनके साथ व्यापक विचार-विमर्श किया है। आयोग द्वारा राजधानी रायपुर में भारतीय लोक प्रशासन संस्थान नई दिल्ली के सहयोग से ‘ लोक वित्त और जी.एस.टी.’ विषय पर त्रिस्तरीय पंचायत राज प्रतिनिधियों और नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधियों अर्थशास्त्रीयों और संबंधित विभागों के अधिकारियों की कार्य शाला भी आयोजित की गई।  

क्रमांक-2891/स्वराज्य

 


Secondary Links