रायगढ़ : घर की समस्या दूर होईस प्रधानमंत्री आवास योजना से: बरतमति

रायगढ़, 12 अक्टूबर 2017

पहिले मै हर अपन टूटे-फूटे घर में रहथ रहेव, मोर घर के दुख परेशानी ला सरकार हर समझ के मोर बर पक्का मकान के व्यवस्था करिस। आज मैं अपन पक्का मकान में हंसी-खुशी रहत जिनगी बितात हव। सरकार हमर गरीब मन के पेट के लिए खाये (चावल)के व्यवस्था करे हे, जेकर से आज हमन एक रूपया किलो म चाऊर बिसा के महीना भर के राशन के बयवस्था करथन।
    यह विचार है गोढ़ा (विकासखण्ड सारंगढ़) की बरतमति बाई की। उन्होंने बताया कि पहले घर के लिए बहुत परेशानी होती थी और टूटी-फूटी झोपड़ी में निवास करती थी। बारिश, सर्दी और गर्मी के मौसम में टूटे-फूटे मकान के कारण बहुत परेशानी हो रही थी। किन्तु छत्तीसगढ़ के डॉ. रमन सिंह के सरकार ने हम जैसे गरीबों की परेशानी को देखकर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास की स्वीकृति दिलाई। आज मैं अपने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित घर में सुख-चौन से रह रही हूं। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने बताया कि जिले के 9 विकासखण्डों के आवासहीनों के लिए 16 हजार 700 प्रधानमंत्री आवास योजना वर्ष 2016-17 के लिए स्वीकृत की गई थी। जिनमें लगभग 9 हजार आवास पूर्ण करा लिए गए है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रधानमंत्री आवास के लिए हितग्राही को 1 लाख 20 हजार रुपए शेष 12 हजार रुपए शौचालय निर्माण के लिए और 90 दिन की मनरेगा मजदूरी की राशि 16 हजार रुपए प्रदान कर आवास का निर्माण कराया जाता है। बरमति बाई ने कहा कि सर में छत और भोजन की व्यवस्था सरकार ने कर दी जिससे हम काफी खुश है और शासन की योजना का लाभ लेकर अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने प्रयासरत है।  

 


Secondary Links