जगदलपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह करेंगे तेन्दूपत्ता संग्राहकों को बोनस वितरण का शुभारंभ

वन वृत्त के 163908 संग्राहकों को दिया जाएगा

28 करोड़ 29 लाख रुपए से अधिक का तेंदूपत्ता बोनस

जगदलपुर, 12 अक्टूबर 2017

जगदलपुर के हाता ग्राउण्ड में आयोजित बोनस तिहार में तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह करेंगे। इसके तहत जगदलपुर वन वृत्त के अंतर्गत बीजापुर, सुकमा, दंतेवाड़ा और जगदलपुर वन मंडल के एक लाख 63 हजार 908 तेंदूपत्ता संग्राहकों को 28 करोड़ 21 लाख 7 हजार 720 रुपए का बोनस प्रदान किया जाएगा।

                उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीयकृत लघु वनोपजों में से तेन्दूपत्ता प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण वनोपज है। प्रदेश के वन क्षेत्रों से पूरे देश का लगभग 65 प्रतिशत तेन्दूपत्ता उत्पादित किया किया जाता है। तेन्दूपत्ता वनांचल क्षेत्र के ग्रामीणों के आय का मुख्य स्त्रोत है इसलिए तेन्दूपत्ता को हरा सोना भी कहा जाता है।

                छत्तीसगढ़ राज्य शासन द्वारा वर्ष 2016 संग्रहण काल के तेन्दूपत्ता व्यापार से प्राप्त शुद्ध लाभ का 80 प्रतिशत भाग प्रदेश के 899 प्राथमिक वनोपज सकारी समितियों के 12 लाख 33 हजार 550 रूपए तेन्दूपत्ता संग्राहकों को 276.95 करोड़ रूपए प्रोत्साहित पारिश्रमिक (बोनस) के रूप में वितरण किये जाने का अहम निर्णय लिया गया है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2003 में तेन्दूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक का दर 450 रूपए के प्रति मानक बोरा था, जिसे संग्राहकों के हित को ध्यान में रखते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी एवं माननीय वनमंत्री जी के द्वारा वर्ष 2017 सीजन के लिये 1800 रूपये प्रति मानक बोरा निर्धारित किया गया है।

                यह राशि वर्ष 2015 संग्रहरण काल के लिये वितरित राशि में इतना अधिक इजाफा होने का मुख्य कारण समितियों में लक्ष्य से अधिक तेन्दूपत्ता का संग्रहण तथा प्राप्त विक्रय दर अच्छा होने के कारण संभव हुआ है। साथ ही जगदलपुर वनमण्डल के 15 समितियों के 31 हजार 698 संग्राहकों को 1 करोड़ 7 लाख 54 हजार 444 रूपए की प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि वितरण किया जाएगा।

                प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि का पारदर्शिता के साथ वितरण संबंधित ग्राम के पंच, सरपंच, पटवारी, फड़मुंशी, ग्राम वन या वन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष, संबंधित फड़ अभिरक्षक, संबंधित प्रबंधन एवं नोडल अधिकारी के समक्ष किया जाएगा। गवाह के रूप में उपस्थित सदस्यों के हस्ताक्षर प्रमाणक में लिये जायेंगे। इस वर्ष क्षेत्र विशेष की समस्याओं के मद्देनजर संग्राहकों को प्रोत्साहन पारिश्रमिक की राशि आवश्यकतानुसार नगद के रूप में भी वितरण की व्यवस्था की जाएगी।

                इस वर्ष प्रोत्साहन पारिश्रमिक (बोनस) राशि वितरण का शुभारंभ 13 अक्टूबर 2017 को प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के आतिथ्य एवं वन मंत्री श्री महेश गागड़ा के अध्यक्षता के जगदलपुर से किया जाएगा।

क्रमांक/1116/तंबोली


Secondary Links